#हाथरसकांड की तर्जपर ALIGARH की बिटिया को भी लोगों ने माँगा था इंसाफ, मगर अपने वायदे भूल गयी सरकर

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ: अलीगढ़ जिले के हरदुआगंज थाना इलाके में भी 23 दिसंबर 2015 को एक स्कूली बच्ची की गैंगरेप के बाद निर्मम हत्या कर दी गयी थी. उस सामूहिक दुराचार के बाद हुयी हत्याकाण्ड के बाद भी पूरे देश में हाथरस कांड की तरह ही विरोध प्रदर्शन हुए थे. हरदुआगंज के एक छोटे से गांव की रहने वाली इस बिटिया को भी इंसाफ की मांग हुयी, जिला प्रशासन के बिटिया को इंसाफ दिलाने का भरोसा पीड़िता के परिवारजनों को दिया था. कई तरह के मुआवजे और सुविधाओं की बात हुयी लेकिन समय धीरे-धीरे बीता और बिटिया को इंसाफ की बात ठंडी हो गयी. उस बक्त जिला प्रशासन से लोगो ने इलाके में लड़कियों के लिए एक इंटर कालेज खोलने की मांग की थी. जिससे इलाके की लड़कियों को स्कूल आते बक्त कोई हवस का भेड़िया शिकार न बना सके. छात्रा की दुराचार के बाद हत्या की घटना से आहात प्रदर्शन करने वाली छात्राओं की मांग को लोगों का समर्थन मिला. २४ दिसंबर को लोगों ने रामघाट रोड जाम कर पुलिस को गाड़ी को तोड़ दिया. इलाके में पथराव भी हुया. पुलिस प्रशासन ने विरोध प्रदर्शन करने वाले लोगों के खिलाफ सरकारी सम्पति की तोड़फोड़ और बलवा करने के आरोप में मुकदमे भी दर्ज किये. लेकिन जिला प्रशासन ने इलाके के इंटर कालेज को बनाने का वायदा किया था वह आज तह पूरा नहीं हो सका है. हालाँकि इसके लिए प्रासनिक और शासन स्तर से जमीन को भी चिन्हित कर लिया गया था.

#हाथरसकांड: मीडिया से पंगा लेना पड़ा मंहगा, डीएसपी&एसपी समेत 7 पुलिस अधिकारी सस्पेंड

…पुलिस के मुताविक ये था मामला
बिटिया के प्रति आकर्षण, उसके द्वारा भाव न देकर बुरा-भला कहने और चांटा मारने के चलते बदले की कार्रवाई के कारण घटना को इस अंजाम चतरा ने अपने दो साथियों और भाई की मदद ली थी। चतरा ने कई बार अपने बड़े भाई से बिटिया के बारे में जिक्र किया था। वह इस बात को लेकर परेशान रहता था कि लड़की उसे भाव नहीं देती। कुछ कहते ही डांट देती है। एक बार उसे रास्ते में रोकने पर चांटा जड़ दिया था। बिटिया की बड़ी बहन भी चतरा पर छेड़खानी का मुकदमा दर्ज करा चुकी है। चांटा खाने के बाद से वह बदले की आग में सुलग रहा था। इसके बाद साजिश के तहत 18 दिसंबर को उसने मारहरा एटा के मोबाइल टॉवर पर नौकरी कर ली। वहां से आते वक्त अपना मोबाइल बंद कर वहीं छोड़ आता था। यहां आकर बिटिया की रेकी करता था। इस साजिश में उसकी मदद गोल्डी उर्फ राहुल निवासी बरौला बन्नादेवी व गोल्डी करते थे।
उन्हाेंने 23 दिसंबर की सुबह बिटिया को घटनास्थल के पास घेर लिया। वे दो बाइकों से आए थे। बाइकें गन्ने के खेत के पीछे कच्चे रास्ते पर छिपाकर खड़ी की गई थीं। आरोपी ने बताया कि केवल उसनेे बिटिया से दुष्कर्म की कोशिश की। विरोध करने पर गला दबाकर मार डाला। दोनों साथी उसकी मदद कर रहे थे। घटना को अंजाम देने के बाद वह मारहरा पहुंच गया। इस दौरान फोन पर लगातार गांव में मौजूद अपने बड़े भाई सुखवीर से रिपोर्ट लेता रहा।

…हरदुआगंज में बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या से गुस्सा ..पुराना वीडियो

 

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com