अलीगढ को मिला 31 लाख 94 हजार पौध रोपण का लक्ष्य, डीएम आवास पर लगेगा सहजन का पौधा

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ: जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में “जिला वृक्षारोपण समिति’’ बैठक का आयोजन किया गया। डीएम ने धरती पर जीवन को बचाये रखने के लिये अधिकारियों से धरातल पर वास्तविक वृक्षारोपण करने की नसीहत देते हुए कहा कि शुद्ध और स्वच्छ पर्यावरण ही जीवन का आधार माना गया है, यदि आने वाली पीढ़ी को बेहतर भविष्य देना है तो अपने आस-पास की हर खाली जगह को पेड़ों के झुरमुठों से भरना होगा। बुधवार को कलैक्ट्रेट सभागार में ’’जिला वृक्षारोपण समिति’’ की बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम ने कहा कि प्राकृतिक दृष्टि से जनपद काफी समृद्ध है, पूर्वजों ने पेड़ के रूप में जो आक्सीजन उत्पन्न करने वाली मशीनें लगाई हैं उन्हीं की बदौलत वर्तमान में हम सभी सांस ले रहे हैं। उन्होंने अधिकारियों एवं जनमानस से अपील करते हुए हुए कहा कि क्या हमारी आपकी जिम्मेदारी नहीं है कि जिस प्रकार से हमारे पूर्वजों ने हमारे लिये खून-पसीने से सींचकर आक्सीजन की मशीनें स्थापित की थीं, हम भी अपनी आने वाली पीढ़ी को बेहतर भविष्य देेने के लिये पेड़ के रूप में उनको एक अमूल्य सौगात देकर जाएं। मा0 मुख्यमंत्री जी के आव्हान पर डीएम ने प्रत्येक आवासीय परिसर में 01 सहजन का पौधा अवश्य रोपित करने की बात कही।

कुछ असामाजिक तत्व अलीगढ़ महानगर की शांति व्यवस्था भंग करने की कुचेष्ठा कर सकते हैं, इसलिए लागू हो गयी धारा 144

मुख्य विकास अधिकारी अनुनय झा ने एक व्यक्ति-एक पेड़ का संदेश देते हुए जनपदवासियों से आग्रह किया कि जिस तरह से हम सभी अपने बेहतर जीवन यापन के लिये हर पल नई-नई योजनाएं बनाते रहते हैं ठीक उसी तरह से क्यों न हम इस वर्ष पर्यावरण संरक्षण की दिशा में एक कदम आगे आते हुए एक पेड़ अवश्य लगाएं। सीडीओ ने बताया कि शासन द्वारा जनपद भर में इस वर्ष 31,93,940 पौध रोपण का लक्ष्य आवंटित किया गया है। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह आगामी 04 दिनों में वृक्षारोपण के सम्बन्ध में कार्ययोजना तैयार कर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि शासन द्वारा पर्यावरण संरक्षण के लिये पीपल, बरगद, पाकड़, नीम, आंवला, सहजन, अर्जुन, अमरूद, चिलबिल, कंजी, बकैन, शीशम, कटसागौन, इमली, हर्रा, बहेड़ा सहित औषधीय, वानिकी, फलदार-छायादार एवं पर्यावरणीय महत्व की प्रजातियों के पौधे प्रमुखता से रोपित करने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि विभागों को जिस प्रकार के भी पौधे चाहिये हों, प्रस्ताव उपलब्ध करायें, इसके साथ ही यदि विभाग अपने संसाधन से गड्ढ़ों की खुदाई नहीं करा सकते हैं तो वह मनरेगा श्रमिकों के माध्यम से करा सकते हैं। उन्हांेने बताया कि उनके विभागीय लक्ष्य के सापेक्ष अब तक 03 लाख से अधिक गड्ढ़े खोदे जा चुके हैं। डीएफओ नरेन्द्र प्रकाश उपाध्याय ने बताया कि जनपद में इस वर्ष 31,93,940 पौधे लगाये जाएंगे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com