पढ़िए, AMUकुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने किसे बताया मानव समाज के लिये एक बड़ी समस्या

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ़ :अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कैमिकल इंजीनियरिंग तथा पैट्रोलियम स्टडीज़ विभागों के संयुक्त तत्वाधान में ‘‘कैमिकल तथा पैट्रोकैमिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में नवीन उपलब्धियाँ’’ विषय पर आयोजित तीन दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस के उद्घाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए अमुवि कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा कि अधिकतर ग्रीन हाउस गैस के उत्सर्जन का कारण मानव गतिविधियां तथा खनिजीय ईंधन का जलाया जाना है। उन्होंने कहा कि यह मानव समाज के लिये एक बड़ी समस्या है जिस पर इस कांफ्रेंस में विचार किया जाना चाहिये।  प्रोफेसर मंसूर ने कहा कि अगले कुछ वर्षों में विद्युत से चलने वाली कारों तथा मोटर गाड़ियों की बहुतायत होगी तथा अधिकतर देशों में नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा का प्रयोग बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि खनिज तेल तथा पेट्रोलियम पर हमें अपनी निर्भरता कम करनी होगी तथा अधिकाधिक सतत एवं वातावरणीय संरक्षण के अनुकूल हमें ऐसे उद्योग का माडल तैयार करना होगा जिससे मानव जीवन के सतत विकास का आधार तैयार हो।

मुख्य अतिथि भारत सरकार के विज्ञान एवं टैक्नालोजी विभाग के सचिव प्रोफेसर आशुतोष शर्मा ने आशा व्यक्त की कि कांफ्रेंस में कैमिकल तथा पैट्रोलियम इंजीनियरिंग के क्षेत्र में होने वाले नये विकास पर विस्तार से चर्चा होगी तथा नई संभावनाओं का मार्ग प्रशस्त होगा।
आस्ट्रेलिया से पधारे मानद् अतिथि प्रोफेसर अजायन वीणु ने स्वच्छ ऊर्जा की पैदावार की संभावनाओं पर विचार का आव्हान करते हुए कहा कि ग्लोबल वार्मिंग तथा वातावरणीय संकट के दृष्टिगत आवश्यक है कि हमें ऐसे ऊर्जा संसाधनों पर अपनी निर्भरता कम करनी चाहिये जिनमें उत्सर्जन की मात्रा अधिक होती है तथा स्वच्छ ऊर्जा के संसाधनों की तलाश की जानी चाहिए। इंस्टीटयूट आफ कैमिकल टेक्नालोजी, मुम्बई से आये पदम्श्री प्रोफेसर जीडी यादव ने वीडियो की सहायता से अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया।

इंजीनियरिंग संकाय के अधिष्ठाता प्रोफेसर बदरूल हसन खान ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इस कांफ्रेंस के आयोजन से देश के विभिन्न भागों से आये प्रतिनिधियों को सम्बन्धित क्षेत्र में विभिन्न विषयों पर विचारों के आदान प्रदान का अवसर प्राप्त होगा। जाकिर हुसैन इंजीनियरिंग कालिज के प्रिन्सिपल प्रोफेसर एमएम सुफियान बेग ने लगातार बदलते हुए ऊर्जा के दृश्य पटल तथा वातावरणीय संरक्षण के उपायों पर बढ़ते दबाव पर प्रकाश डाला। स्वागत भाषण में कैमिकल इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष श्री नसीम अहमद खान ने बताया कि तीन दिवसीय कांफ्रेंस में कैमिकल तथा पैट्रोकेमिल इंजीनियरिग से सम्बन्धित विभिन्न विषयों पर शोध पत्र प्रस्तुत किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि विभिन्न कार्यक्रमों में पदम् विभूषण प्रोफेसर एमएम शर्मा, डा. आरपी वर्मा, प्रोफेसर बी वी बाबू, आदि जैसी विभूतियां कांफ्रेंस में व्याख्यान प्रस्तुत करेंगी।

पैट्रोलियम स्टडीज़ विभाग के अध्यक्ष डा. नजम सरदार ने भी अपने विचार व्यक्त किये। प्रोफेसर मोहम्मद कामिल ने धन्यवाद ज्ञापित किया जबकि डा. मोहम्मद जुनैद खलील ने कार्यक्रम का संचालन किया।
यह कांफ्रेंस डीएसटी सीईआरबी, ओएनजीसी, एल्युमनाई 87 बैच, एनपीसीआईएल, अल्टेक कैमिकल, वैन्चुरी साइंटिफिक, डेजल इंफोटेक, आईआईसीएचई, आईईआई, इंजीनियरिंग एण्ड एंवायरनमेंटल सोल्युशन, केसी इंजीनियर्स तथा लवराज कुमार मेमोरियल ट्रस्ट के सहयोग से आयोजित की जा रही है।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com