अवैध हॉस्पिटल और इंस्टिट्यूट को बचा रहा प्रशासन, एसीएम की जांच एकपक्षीय, डीएम से होगी शिकायत

अलीगढ़ मीडिया न्यूज़, अलीगढ़। शिक्षा माफियाओं के खिलाफ हमेशा मुखर रहने वाले हेल्थ एडुकेशन एनवायरनमेंट एन्ड रोडस एंटी करप्शन एसोसिएशन के अध्यक्ष छात्र नेता जियाउर्रहमान एडवोकेट ने जिलाधिकारी की जनसुनवाई में अवैध हॉस्पिटल और इंस्टीट्यूट के खिलाफ की गई शिकायत पर एसीएम द्वितीय द्वारा निष्पक्ष जांच न करने पर आक्रोश व्यक्त किया है ।
एसोसिएशन के अध्यक्ष जियाउर्रहमान एडवोकेट और महासचिव प्रतीक चौधरी एडवोकेट ने धोर्रा बाईपास स्थित अवैध रूप से संचालित प्रीमियर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड हार्ट सेंटर की शिकायत 08 अगस्त को डीएम से जनसुनवाई में की थी, जिसपस एडीएम प्रशासन ने एसीएम द्वितीय को जांच के आदेश दिए थे । 14 अगस्त को जियाउर्रहमान एडवोकेट को एसीएम द्वितीय अंजुम बी ने नोटिस देकर 19 अगस्त को शिकायत के संदर्भ में साक्ष्य और बयान देने के लिए बुलाया था। जियाउर्रहमान एडवोकेट शुक्रवार को डीएम वार रूप में एसीएम द्वितीय के द्वारा शिकायत के संदर्भ मे जांच आख्या देख अचंभित रह गए । जांच में शिक्षा माफिया और डॉक्टर को बचाने के प्रयास किये गए हैं । गायनी की डॉक्टर हार्ट सेंटर संचालित कर रही हैं यह तो बताया गया है लेकिन इंस्टीट्यूट और हॉस्पिटल की मान्यता पर डॉक्टर को बचाया गया है ।
जियाउर्रहमान एडवोकेट ने कहा है कि एसीएम द्वितीय अंजुम बी ने 19 अगस्त को साक्ष्य के लिए बुलाया था लेकिन उससे पहले ही डॉक्टर से मिलीभगत कर जांच आख्या डीएम को भेज दी गयी जो सरासर अन्याय और असंवैधानिक है। हॉस्पिटल अवैध रूप से संचालित है जिसके साक्ष्य हैं और इंस्टिट्यूट पूर्ण रूप से फर्जी है । उन्होंने कहा है कि इंस्टीट्यूट संचालित करने के लिए स्टेट मेडिकल फैकल्टी ऑफ लखनऊ और नर्सिंग कौंसिल ऑफ इंडिया से सम्बद्ध होना जरूरी है जो नही है । एसीएम की जांच आख्या में जिस भारत सेवक समाज से मान्यता दिखाई जा रही है वह खुद असंवैधानिक है । सुप्रीम कोर्ट के भी इस संदर्भ में स्पष्ट आदेश हैं । सोमवार को सभी साक्ष्य डीएम के समक्ष पेश करूँगा और कार्यवाही की मांग करूँगा। उन्होंने कहा है कि एसीएम द्वितीय ने नोटिस का समय पूरा हुए बिना ही एकपक्षीय जांच कर डॉक्टर को बचाने का प्रयास किया है जो कि असंवैधानिक है । पूरे प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए, दोषियों को बचाने वाले अफसरों पर भी कार्यवाही की आवश्यकता है । उन्होंने कहा है कि शिक्षा माफिया पर कार्यवाही कराकर रहेंगे चाहें इसके किये उन्हें जान ही क्यो न देनी पड़े ।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com