पक्ष या विपक्ष में कोई बात रखनी है तो वह लोकतान्त्रिक तरीके से उसको रखने का अधिकार

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़। मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या मामले पर सुनाऐं गये फैसले के उपरान्त जिला मजिस्ट्रेट चन्द्र भूषण सिंह की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में पीस कमैटी की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जनपद के विभिन्न राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों, राजनेताओं, सांसदों, विधायक गणों, मौलवियों, पुजारियों, विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों, छात्र संगठन के पदाधिकारियों, अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय के विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों सहित शहर के सम्भ्रान्त नागरिकों, उद्यमियों-व्यापारियों आदि के द्वारा प्रतिभाग किया गया है।

जिला मजिस्ट्रेट चन्द्र भूषण सिंह में सभी बैठक में उपस्थित आयें आमन्त्रियों का आभार प्रकट करते हुये कहा कि बडे हर्ष का विषय है कि गंगा-जमुनी तहजीब को समेटे अलीगढ शहर वासियों ने मा0 सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाये गये फैसले को स्वीकार किया है। उन्होने जनपद वासियों से अपील करते हुये कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा जो भी फैसला सुनाया गया है, यदि किसी भी शहरी को उसके पक्ष या विपक्ष में कोई बात रखनी है तो वह लोकतान्त्रिक तरीके से उसको रखने का अधिकार है। उन्होने कहा कि अलीगढ के समुचित एवं सर्वागींण विकास के लिये वह जल्द ही सोसाइटी का गठन करेगें जिसमें विकास से जुडें निर्णय को एक फोरम पर निर्धारित किये जायेगें।

सांसद सतीश गौतम ने सभी को बधाई देते हुये कहा कि फैसला देश हित में है। उन्होंने कहा कि मस्जिद मंदिर समाज को दिशा प्रदान करते हैं। उन्होंने कहा कि लोग ध्यान रखें कि सोशल मीडिया पर यदि कोई भडकाऊ पोस्ट या कोई प्रतिक्रिया देतर है तो उसको समझाया जाये, उसको चिन्हित कर पुलिस प्रशासन को बताया जाये। उन्हांेने कहा कि जनपदवासी गंगा जमुनी तहजीब को बनाए रखें। विधायक अनिल पाराशर ने कहा कि अब अलीगढ बदल चुका है, अलीगढ ने विपरीत परिस्थितियों में भी विकास की ओर अपने कदम बढाये हैं। यह पहले कभी संवेदनशील रहा था, परन्तु अब सौहार्द की नगरी के तौर पर जाना जाता है। नगरवासियों ने संतुलित आचरण का परिचय दिया है सभी को बहुत बहुत धन्यवाद। नगर विधायक ने कहा कि अति संतुलित निर्णय सभी को पसंद आया है। हम सभी को निर्णय का सम्मान करना चाहिये। संकल्प लेकर जायें कि शरारती तत्वों को आश्रय न देंगे।  जिला अध्यक्ष ठा0 गोपाल सिंह ने कहा कि हम सभी को सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को मानते हुये ऐसा कोई भी कार्य नहीं करना चाहिए जिससे माहोल खराब हो।
मेयर मौहम्मद फुरकान ने अपने सम्बोधन में कहा कि अलीगढ के होशमंद साथियो आपको बधाई। ताली दोनों हाथों से बजती है। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आपके सामने है, पूरे देश ने इसे स्वीकार किया है। फैसला इससे अच्छा नहीं हो सकता था। जो दुश्वारियाॅ पूर्व में रहीं हैं, खत्म होनी चाहिये। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने कहा कि इस तरह के पल समाज की दिशा निर्धारित होती है। अलीगढ के नागरिकों ने पूरी परिपक्वता से निर्णय को स्वीकार किया है।

अलीगढ स्मार्ट सिटी बनने की ओर अग्रसर है, आओ हम सभी एक साथ मिल कर जनपद को आर्थिक और सामाजिक विकास की ओर आगे बढायें। मुख्य विकास अधिकारी अनुनय झा ने कबीर के दोहे को पढ कर कहा कि  मोकूॅ कहाॅ ढूढे बन्दे मै तो तेरे पास हॅू…… से बात प्रारम्भ करते हुये कहा शहरवासी शाॅति का परिचय देते हुये गंगा जमुनी तहजीब को बनाये रखें। संभ्रांत नागरिक बजाज जी ने कहा कि 60-70 के दशक में पीस कमैटी के आयोजन के उपराॅत एक बार फिर सभी वर्ग और समुदाय को एक साथ बैठा देख अत्यंत खुशी हो रही है। बीएसपी जिलाध्यक्ष तिलक राज यादव ने कहा कि हम और हमारी पार्टी संविधान को देने वाले बाबा साहब को मानने वाले हैं, फैसले का दिल से स्वागत करते हुये जिला प्रशासन के साथ कन्धे से कन्धा मिला कर खडें।  अमूटा अध्यक्ष नजमुल इस्लाम ने फैसले का स्वागत करते हुये कहा कि फैसला देशहित में है, सल्यूट करते हुये जनपद वासियों से अपील करता हूॅ कि भाईचारे के संदेश के साथ मिलजुल कर रहें। पूर्व विधायक जमीरउल्ला ने कहा कि लम्बे समय बाद ऐसी बैठक होना अच्छी बात है परन्तु अब हम आगे ऐसा कोई कार्य न करें जिससे ऐसी बैठकों में बच्चों को आना पडें। अज्जू इश्हाक ने बेहतर व्यवस्था के लिये पुलिस प्रशासन को धन्यवाद देते हुये कहा कि मन्दिर, मस्जिद हम सभी के जीवन में अहम मुकाम रखते है परन्तु रोजगार हम सभी की जरूरत है, फसाद का मसला खत्म हुआ आओ हम सब माजी को भूल आगे की तरफ बढें। शकुन्तला भारती ने कहा कि उम्मीदें मुस्करा उठीं, तमन्ना मुस्करा उठीं, जैसी ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया अलीगढ नगरी मुस्करा उठीं । जफर आलम ने कहा कि फैसला स्वागत योग्य है हम सभी को मानना चाहिये। जावेद सईद ने कहा कि ये देश संविधान से चलता है उसी व्यवस्था के तहत निर्णय आया है सभी को सम्मान करना चाहिए।

बैठक में अब्दुल हमीद, रजिस्टार ए0एम0यू0, ए0डी0एम0(प्रशासन) कृष्णलाल तिवारी, ए0डी0एम0(वित्त) विधान जायसवाल, एस0पी0आर0ए0 अतुल शर्मा, रीता राजपूत, अखिलेश सिंह, प्रदीप सक्सैना, विष्णु कुमार बन्टी, राकेश सक्सैना, सरदार दलजीत ंिसह, महेन्द्र सिंह लोधी, सत्यदेव सिंह, के0के0 तिवारी, आशीष गौड, जितेन्द्र भारद्वाज, डा0 उदय शंकर, मधुलिका राधव, शैलेन्द्र सिंह टिल्लू, फारूख अहमद, रंजीत चैधरी, सौरभ चैधरी, मुकेश भारद्वाज, मानव महाजन, अशोक यादव, आदित्य पण्डित, अध्यक्ष प्रधान संगठन, डा0 शैलेश, पंकज धीरज, प्रवीन अग्रवाल, मनोज कुमार, वर्षा गौड, अमित गोस्वामी, डालचन्द्र राजपूत, राजीव अग्रवाल, मुफ्ती जाहिद, मजहरउल कमर, विशाल गुप्ता, दिनेश कुमार शर्मा आदि सभी उपस्थित सम्भ्रान्त नागरिकों ने उच्चतम न्यायालय के फैसले को स्वीकार करते हुये जनपद वासियों से अपील की वह देशहित में समाज की तरक्की के लिये फैसले को स्वीकार कर आगे बढें और कोई ऐसा कार्य न करें, जिससे देश-प्रदेश और जनपद का नाम खराब हो। सभी शहर वासियों ने पुलिस एंव जिला प्रशासन द्वारा की गयी चार चैबंद व्यवस्था की जमकर तारीफ की।

 

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज , ट्यूटर & WhatsAap Gruopके जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com