मोदी की चुनावी जनसभा से पहले पूरे गॉव का ऐलान, सभी प्रत्याशियों का बहिष्कार …देखिये ग्राउंड जीरो रिपोर्ट

चंचल वर्मा, अलीगढ मीडिया न्यूज़,हरदुआगंज/अतरौली: सपेरा भानपुर की जनता ने सभी उम्मीदवारों के बहिष्कार करने का ऐलान किया है और कहा है कि नेता समय समय पर अपना उल्लू सीधा करने लिए हर पांच वर्ष बाद गांव आकर चुनावी वादे करते हैं और चुनाव होने के उपरांत कोई भी जन समस्या का हल नहीं किया जाता है जिससे गांव की जनता त्रस्त है गांव में नाली सड़क पानी निकासी को लेकर मुख्य समस्या आवासीय पट्टो की है जिसके बहाने लोगो का मौजूदा ग्राम प्रधान के जरिए समय समय पर ग्रामीणों का मानसिक व आर्थिक रूप से शोषण होता रहा है लेकिन न किसी विधायक सांसद व प्रशाशन के माध्यम से कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है जिससे ग्रामीणों की समस्या हल हो सके जिससे परेशान होकर इस बार ग्रामीणों ने मतदान वहिष्कार का ऐलान किया है  ग्रामीणों ने बताया कि बरोली विधानसभा क्षेत्र के ब्लाक जंवा की पंचायत सपेरा भानपुर सहित तीन माजरा है नगला गिरधारी नगला नारायण सिंह नगला बघेल. ये तीनों माजरे जमींदारी काल से ही अलग अलग भूखंडों पर बसे हुए है जमीदारी काल से ही लोगो ने अपना कालांतर अनुसार अपने झोपड़ी से लेकर आज अपने पक्के मकान बनाए है  जंहा समय समय पर नाली खरंजा व पानी निकाल की मुख्य समस्या रही हैं और गांव को शहर से जोड़ने बालेे मुख्य सड़के भी खस्ता हालत में रही है जिस पर ग्राम प्रधान सहित विधायक सांसद ने कभी समस्या को हल करने पर जोर नहीं दिया गया
…पूर्वजों के बने हुए है 500 मकान पुनः मकान निर्माण के नाम पर होती है अवैध वसूली
ग्रामीणों ने बताया कि नगला गिरधारी व नगला नारायण सिंह आजादी से पूर्व सपेरा भानपुर पंचायत में बसे हुए है जंहा उनके पूर्वज झोपड़ी व कच्चे मकान बनाकर रहते थे जब ये मकान जर्जर अवस्था में पहुंच गए तो ग्रामीणों ने इनका पुनः निर्माण कार्य शुरू किया तो मौजूदा प्रधान के जरिए ग्राम पंचायत की जमीन के नाम पर अवैध वसूली की गई वसूली न देने पर उन पर 122 बी आदि के मुकद्दमा दर्ज कराए गए जिससे ग्राम वासियों ने क्षुब्द होकर इस बार अपनी समस्या हल न होने के कारण मतदान का वहिष्कार किया है और कहा है हमने समय समय पर अपनी समस्या। के बारे में प्रशाशन को अवगत कराया लेकिन हमारी समस्या हल नहीं हुई जब तक हमारी समस्या का हल नहीं होगा हम मतदान नहीं करेंगे.

…ग्रामीणों के बोल, यहाँ सब कुछ है झोल
ग्रामीणों ने बताया कि जब हम अपने पूर्वजों के मकान को मरम्मत नहीं कर सकते तो हमे वोट डालने का अधिकार किसने दिया.रामबाबू चौधरी कहते है कि ग्राम पंचायत ने हमारे पूर्वजों के मकान अतिक्रमण कारी घोषित किए तो हम यहां के निवासी भी नहीं रहे हम वोट क्यों डाले? गांव में पिछले वर्षों से कोई विकास कार्य नहीं कराया गया है सरकारी योजनाओ में भी खूब धाधले बाजी रही हैं पूर्वजों के मकान को मरम्मत आदि कराया जाता है तो ग्राम पंचायत की जमीन के नाम पर अवैध वसूली की जाती है जब हम यहां के निवासी नहीं तो वोट क्यों करे
रंजीत चौधरी का कहना है कि गांव में कोई विकास कार्य नहीं कराया गया है युवा अगर आगे बढ़ कर विकास कराना चाहते हैं तो गांव के राजनीतिक लोग उन पर फर्जी मुकद्दमा दर्ज करा देते है
ग्राम पंचायत की जमीन के नाम पर अवैध वसूली की जाती है प्रशासन हमारी समस्या का हल करे अन्यथा हम वोट का वहिष्कार करेंगे
नगीना ने बताया कि जिनके पास रहने के लिए जमीन नहीं है और जिनके मकान पूर्वजों के जरिए बने हुए है उन्हें उस जमीन पर प्रशाशन नियमित करे उनकी अवैध वसूली न की जाय पहले भी इस पर प्रशाशन से मांग की गई है लेकिन संतोष संशोधन नहीं किया गया है या तो प्रशाशन हमारी समस्या का हल करे वरना हम ग्रामीण वोट का वहिष्कार करेंगे  स्मार्ट विलेज फाउंडेश के सचिन चौधरी ने बताया कि गांव में पिछले पांच वर्ष से कोई भी कार्य सांसद ने नहीं कराया है और गांवो में पूर्वजों के बनाए गए मकानों की मरम्मत कराने पर राजनीतिक लोग चुनावी रंजिश निभाते हैं जिससे ग्रामीणों का शोषण होता है.

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक, ट्यूटर के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *