अब बालिकाओं एवं महिलाओं को डरने की जरूरत नहीं हैं: सुशील कुमार

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ: महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वाभिमान समेत उनको स्वावलम्बी बनाने के अभियान मिशन शक्ति के अन्तर्गत बुधवार को बाल विकास परियोजना कार्यालय अतरौली में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में महिलाओं से जुड़े क्रियाकलापों, उनके अधिकारों एवं आर्थिक रूप से सबल बनाए जाने एवं शासन द्वारा संचालित विभिन्न प्रकार की जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। कार्यक्रम के उपरान्त क्षेत्र में जन जागरूकता रैली निकालकर लोगों को महिलाओं के प्रति अपराध एवं भेदभाव को समाप्त करने का सकारात्मक संदेश दिया गया।

अकराबाद पुलिस ने उ0प्र0 गिरोह बंद एवं समाज विरोधी क्रियाकलाप में इरफान संपत्ति की जब्त

मिशन शक्ति कार्यक्रम में बाल विकास परियोजना अधिकारी, अतरौली सुशील कुमार ने कहा कि अब समय आ गया है कि महिलाओं के प्रति सामाजिक भेदभाव को समाप्त करना ही होगा। प्रदेश सरकार के हस्तक्षेप एवं प्रदत्त अधिकारों के चलते अब बालिकाओं एवं महिलाओं को डरने की जरूरत नहीं हैं। आज महिलाएं प्रत्येक क्षेत्र में तरक्की के झण्डे बुलन्द कर रही हैं। घूंघट से बाहर निकलकर आई महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने के लिए सरकार दृढ़ संकल्पित है, अब एक कामकाजी महिला रात या दिन किसी भी वक्त घर या दफ्तर आ-जा सकती है। प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को सुरक्षा एवं सम्मान प्रदान करने के लिए प्रत्येक थाने पर महिला हैल्प डेस्क की स्थापना कर दी गयी है। अब महिला घर या बाहर हुए उत्पीड़न एवं शोषण की भयमुक्त होकर हैल्प डेस्क पर तैनात महिला पुलिस कर्मी से अपनी शिकायत एवं समस्या दर्ज करा सकती है।

मिशन शक्ति के तहत आयोजित कार्यक्रम में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, कन्या भू्रण हत्या रोकने के लिए पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा से जुड़े कानूनी प्राविधान, कन्या भू्रण हत्या के प्रतिरोध के लिए सुझाव एवं उपाय, सहायता एवं हिंसा करने पर दण्ड के प्राविधान, लैंगिंग समानता, घरेलू हिंसा, नारी सुरक्षा, स्वावलम्बन एवं सम्मान समेत अन्य जानकारियां दी गयीं। कार्यक्रम के उपरान्त सीडीपीओ की अगुवाई में कार्यालय से ब्लाॅक मुख्यालय तक स्वयं सहायता समूह की महिलाओं एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा जन-जागरूकता रैली का आयोजन कर किशोरियों एवं महिलाओं के प्रति भेदभाव एवं हिंसा को रोकने का सकारात्मक संदेश देकर लोगों को जागरूक किया गया।

हैंड्स फ़ॉर हेल्प, देहदान कर्तव्य संस्था व सत्यमन सेवा संस्थान ने गरीबों के साथ मनाया दीपोत्सव

क्षेत्रीय मुख्य सेविका पूनम सिंह ने कहा कि बच्चों और महिलाओं से सम्बन्धित अधिकतर अपराध उनके निकटतम सम्बन्धी एवं परिचितों द्वारा किए जाते हैं, जिसके प्रति उन्होंने बालिकाओं एवं महिलाओं को सचेत रहने की आवश्यकता पर बल देते हुए ग्राम स्तर पर गठित संरक्षण समितियों को सक्रिय रहने पर जोर दिया। भगवती सिंह मुख्य सेविका ने आंगनबाड़ी केंद्रों पर महिलाओं एवं किशोरियों के अधिकारों, कन्या सुमंगला, सामाजिक सुरक्षा, पोषण एवं स्वास्थ्य विषयों पर जानकारी दी। जिला प्रोबेशन कार्यालय से सीमा सिंह ने महिला हिंसा या अपराध होने की दशा में तत्काल 181, 1090 एवं 112 टोल फ्री नम्बर अथवा अपने नजदीकी थाने पर शिकायत दर्ज कराने की जानकारी देते हुए ’चुप्पी तोड़ो-खुलकर बोलो’ का नारा दिया।

 

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com