सोशल मीडिया पर ‘नजीब की माँ फातिमा नफीस को लोकसभा टिकट’ की मांग

अलीगढ मीडिया न्यूज़, नई दिल्ली: क्या आपको नजीब याद है? जी वही नजीब जो 15 अक्तूबर 2017 को जेएनयू के माही-मांडवी हॉस्टल से लापता हो गया था। जिस वक्त नजीब गायब हुआ उस वक़्त वह 27 साल का था और जेएनयू में एमएससी बायोटेक्नोलॉजी का छात्र था।
गायब होने से पहले नजीब का एबीवीपी के छात्र नेताओं से झगड़ा हुआ था। जिसके बाद 15 अक्टूबर 2017 में अचानक वह गायब हो गया। नजीब के गायब होने के देशभर में छात्रों और राजनीतिक पार्टियों ने कई विरोध प्रदर्शन किए। जेएनयू में कई दिन नजीब का पता लगाने और जिन एबीवीपी के छात्रों से झगड़ा हुआ था उनकी गिरफ्तारी के लिए धरना चला।
लेकिन नजीब केस में कोई सुनवाई नहीं हुई ना नजीब का कोई सुराग मिला। देशभर में नजीब की जांच के लिए बड़े विरोध प्रदर्शन हुए। लेकिन नजीब के गायब होने के 7 महीने बाद भी ना नजीब का कुछ पता चला ना उन एबीवीपी के छात्रनेताओं की गिरफ्तारी हुई जिनसे नजीब का झगड़ा हुआ था और उसके बाद से वह गायब हो गया था।
जिसके बाद केंद्र सरकार ने 16 मई 2018 को सीबीआई जांच बैठाई। सीबीआई ने 15 अक्टूबर 2018 की दिल्ली उच्च न्यायालय में क्लोज़र रिपोर्ट दाखिल करदी। क्लोज़र रिपोर्ट दाखिल करते वक़्त सीबीआई ने कहा कि ‘उसने इस मामले की हर पहलू की जांच की। उसका मानना है कि लापता छात्र के खिलाफ कोई अपराध नहीं किया गया है।
फ़िलहाल नजीब का केस दिल्ली के उच्च न्यायालय में चल रहा है। हालाँकि अभी तक तक नजीब केस में न कोई गिरफ्तारी हुई है ना अभी तक नजीब का कोई सुराग मिल पाया है। नजीब केस की पैरवी नजीब की मां फातिमा नफीस कर रही हैं। आने वाले दिनों में देश में लोकसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में सारी पार्टियों बीजपी को हराने के लिए गठबंधन कर रही हैं।
नजीब की मां फातिमा नफीस उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले से हैं और उत्तर प्रदेश में धर्मनिरपेक्षता पार्टी समाजवादी पार्टी , बहुजन समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के बीच गठबंधन हुआ है। देशभर के छात्रों ने उत्तर प्रदेश में हुए गठबंधन में नजीब की मां फातिमा नफीस के लिए बदायूं से लोकसभा सीट की मांग की है। छात्र नेता अज़फर अली खान ने कहा कि ‘हम ये मांग इसलिए कर रहे हैं ताकि नजीब की मां लोकसभा चुनाव जीत कर सांसद में बीजपी और एबीवीपी के खिलाफ खड़ी हो सके और अपने बच्चे नजीब को इंसाफ दिलवा सके।
एएमयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष फैज़ुल हसन ने कहा कि ‘मोहतरमा फ़ातिमा नफ़ीस साहिबा (नजीब की अम्मी ,जेएनयू छात्र) को गठबंधन सीट ज़िला बदायूं से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार घोषित करा जाए।’छात्र नेता नावेद मुग़ल ने कहा कि ‘बेतुकी बयानवाजी और, संविधान की धज्जियाँ उड़ाने वाले, दंगाइयों, को टिकट, मिल सकता है, तो अपने बेटे को वापस लाने के लिए, सड़को, से लेकर अदालत तक हक़ की लड़ाई लड़ने वाली,एक माँ को टिकट क्यों नहीं मिल सकता।’
एएमयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष मशकूर उस्मानी ने कहा कि ‘मोहतरमा फ़ातिमा नफ़ीस साहिबा (नजीब की अम्मी ,जेएनयू छात्र) को गठबंधन सीट ज़िला बदायूं से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार घोषित करा जाए।’
एएमयू वोमेन्स कॉलेज छात्र नेता सुमेरा आरिफ ने लिखा कि ‘जब गवैये, रेपिस्ट, हत्यारे को टिकट मिल सकता है तो एक बेसहारा नजीब की मां @FatimaNafis को गठबंधन द्वारा लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया जा सकता क्या ?
एक्टिविस्ट मोहम्मद आमिर मिन्टोई ने लिखा कि ‘मोहतरमा फ़ातिमा नफ़ीस साहिबा (नजीब की अम्मी ,जेएनयू छात्र) को गठबंधन सीट ज़िला बदायूं से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार घोषित करा जाए।’
छात्रनेता नजमुस शाकिब ने लिखा कि ‘आज अंतराष्ट्रीय महिला दिवस है,उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन अगर सत्य में सेकुलर विचारधरा पर कायम है तो नजीब अहमद की मां फातिमा नफीस को बदायूं लोकसभा क्षेत्र से टिकट दें।यह एक बड़ा काम “सेकुलरिज़्म” के नाम पर होगा।’
छात्र नेता राजा भैया ने लिखा कि ‘क्या फर्जी गठबंधन #JNU से गायब हुए छात्र नजीब की मां को बदायूं से टिकट दे कर धर्मनिरपेक्ष बन पाएगा?’
एएमयू के पूर्व छात्र ज़ारून ने लिखा कि ‘मुस्लिम वोटों का हिस्सा पाने वाली सेक्युलर पार्टियों को जेएनयू के छात्र नजीब लोक सभा की मां फातिमा नफीस को बदायूं सीट से उम्मीदवार बनाना होगा।’
मोहम्मद उमर साफे ने कहा कि ‘मोहतरमा फ़ातिमा नफ़ीस साहिबा (नजीब की अम्मी ,जेएनयू छात्र) को गठबंधन सीट ज़िला बदायूं से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार घोषित करा जाए।एएमयू वोमेन्स कॉलेज की छात्रनेता रुकशान नकीब ने कहा कि ‘सेक्युलर पार्टियाँ, नजीब की माँ की बीजेपी के साथ लड़ाई लड़ने में मदद करेंगी?
समाजसेवी आमिर जुवेन ने लिखा कि ‘खुद को मुसलमानों को हमदर्द कहने वाला धर्मनिरपेक्ष गठबंधन जेएनयू से गायब हुए नजीब की मां को बदायूं से लोकसभा का टिकट देकर हमदर्दी की मिशाल पेश करे।’
छात्र नेता जानिब हसन ने लिखा कि ‘मोहतरमा फ़ातिमा नफ़ीस साहिबा (नजीब की अम्मी ,जेएनयू छात्र) को गठबंधन सीट ज़िला बदायूं से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार घोषित करा जाए।’
समाजसेवी हुसैन साहब ने लिखा कि ‘(नजीब की अम्मी ,जेएनयू छात्र) को गठबंधन सीट ज़िला बदायूं से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार घोषित करके सपा, बसपा को मुसलमानों के लिये एक मैसेज देना चाहिये जिससे महसूस हो यह हमारे साथ हैं।’
छात्र नेता सुहेब गाजी ने लिखा कि’ मोहतरमा फ़ातिमा नफ़ीस साहिबा (नजीब की अम्मी ,जेएनयू छात्र) को गठबंधन सीट ज़िला बदायूं से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार घोषित करा जाए।’

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक, ट्यूटर के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *