Aligarh#पीस कमेटी की बैठक में ईद एवं रक्षाबन्धन सामाजिक दूरी के साथ मनाए जाने की हुयी अपील

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़: जिला मजिस्ट्रेट चन्द्र भूषण सिंह की अध्यक्षता में रक्षाबन्धन एवं ईद के त्योहार के दृष्टिगत जनपद के प्रबुद्धजनों एवं धर्मगुरूओं के साथ कलैक्ट्रेट सभागार में बैठक कर त्योहारों को सकुशल सम्पन्न कराए जाने के सम्बन्ध में विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान प्रमुख सचिव लोनिवि उ0प्र0 शासन श्री नितिन रमेश गोकर्ण, महापौर मो0 फुरकान सहित पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। डीएम ने कहा कि जनपद में शान्ति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखना जिला प्रशासन की शीर्ष प्राथमिकता है, इसमें किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने जनपदवासियों से अपील करते हुए कहा कि गंगा-जमुनी तहजीब को बनाए रखते हुए आपसी एकता एवं भाईचारे के साथ त्योहारों को मनाया जाए।

ईद-उल-जुहा के दिन शहर की यातायात व्यवस्था में परिवर्तन, इन रास्तो पर रहे प्रतिबन्ध

प्रमुख सचिव श्री गोकर्ण ने कहा कि त्योहार दिलों को जोड़ने में पुलों की तरह कार्य करते हैं। हम सभी को चाहिए कि अपने-अपने धार्मिक तौर-तरीकों और वर्तमान माहौल को ध्यान में रखते हुए कानून के दायरे में रहकर पर्व और त्योहारों को मनाएं। वर्तमान में कोरोना वायरस संक्रमण काल के चलते सरकार द्वारा गाइडलाइन जारी की गयी है कि संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए सामाजिक दूरी का सख्ती से अनुपालन किया जाए। इस लिहाज से आप सभी जनपदवासियों से अपील है कि सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क का प्रयोग करते हुए त्योहारों को हर्षोल्लास के साथ मनाएं।

जिला मजिस्ट्रेट चन्द्र भूषण सिंह ने कहा कि ईद-उल-जुहा (बकरीद) का पर्व चन्द्रदर्शन के अनुसार 01 अगस्त को मनाया जाना है। इस पर्व के अवसर पर मुस्लिम समाज द्वारा प्रातःकाल नमाज अदा करने के पश्चात कुर्बानी की जाती है। गृह मंत्रालय भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश शासन द्वारा कोविड-19 के मद््देनजर धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजन के सम्बन्ध में स्पष्ट दिशा-निर्देश निर्गत किए गये हैं, जिसके अनुसार कोरोना वायरस के संक्रमण से एक-दूसरे को सुरक्षित रखने के लिए आप सभी धर्मगुरूआंे एवं प्रबुद्धजनों से जिला एवं पुलिस प्रशासन अपील करता है कि बकरीद का त्योहार अपने-अपने घर में ही मनाएं और सामूहिक रूप से नमाज अदा करने के लिए एक स्थान पर एकत्रित न हों। खुले स्थानों में कुर्बानी न की जाए एवं गैर मुस्लिम क्षेत्रों में खुले रूप से मास का आवागमन न किया जाए। बकरीद के पर्व पर प्रतिबन्धित जानवरों की कुर्बानी न की जाए।

श्री सिंह ने कहा कि वर्तमान कोरोना संकटकाल में संक्रमण से बचने का एकमात्र उपाय जागरूकता व संयम है। कोरोना वायरस खुद चलकर घर नहीं आता बल्कि हमारी थोड़ी सी लापरवाही से हमारा पूरा परिवार संक्रमित हो सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है, जरूरत सिर्फ शारीरिक दूरी एवं मास्क का प्रयोग करने की है।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com