अतरौली#35 हजार की लूट में फ़साने की धमकी देकर ज्वेलर्स से मांगी 2लाख की घूस, घूसलेती पुलिस कैमरे में कैद

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़। अतरौली क्षेत्र के चौकी रायपुर मुजफ्फर चौकी प्रभारी पर अतरौली के एक ज्वैलर्स को 25 हजार की लूट में फसाकर जेल भेजने की धमकी देकर 1लाख 28 हजार रुपये जबरन बसूलने का आरोप लगा है। पुलिस से बचने के लिए मांगी गई घूस की रकम देते हुए पीड़ित ने एक वीडियो भी मोबाईल से बनाई है। इस वीडियो में पुलिस की पीआरबी संख्या 0746 में पुलिस ज्वेलर्स को लूट के आरोप में पकड़कर लाती है और एक बाग में उसे छोड़ने के नाम पर लाखो रुपये बसूलती दिखाई दे रही है।

 

इलाके के लोगो का आरोप है कि चौकी दरोगा , पीआरबी गाड़ी पर तैनात पुलिस कर्मियों की मिलीभगत से निर्दोष लोगों को उठाकर फर्जी मामला में फ़साकर जेल भेजने के नाम पर डराकर उसे छोड़ने के नाम पर वसूली करते है। चौकी प्रभारी की मिलीभगत से हो रही चौथ वसूली का ताज मामला रविवार का है।

अतरौली के गांव काज़िमबाद निवासी योगेश कुमार व हैबतपुर निवासी बंटी कुमार को फर्जी मामला बनाने की धमकी देकर बंटी को पुलिस ने उठाया और रुपए लेकर छोड़ा , दोनों पीड़ितों के घर पुलिस चौकी से 5 पुलिसवाले गए और परिवार में मां बहनों से की अभद्रता ,घरवालों से ₹2 लाख रुपए की मांग व धमकी देते हुए पुलिस वालों ने कहा अगर 2 दिन में बाकी रुपए नहीं दिए तो लूट के मामले में जेल भेज देंगे। उन्हें छोड़ने के नाम पर पीआरवी 0746 के पुलिसकर्मियों ने 1 लाख 28 हजार रुपए लिए और आगे 2 दिन में बाकी रकम नहीं दी तो झूठे मामले में फंसा कर जेल भेज देने की धमकी दी।

आपको अवगत करा दें अभी विगत 15 दिन पहले रायपुर चौकी के गांव शेरपुर निवासी विजय कुमार जो कि एक निर्दोष व्यक्ति था उससे भी रुपए मांगे गए थे रुपए ना देने पर उसके साथ रायपुर मुजफ्फता चौकी के पुलिसकर्मियों के द्वारा मारपीट की गई गाली गलौज दी गई। क्षेत्र के लोगों का हो रहा है शोषण गरीब लोगों को चौकी प्रभारी वह सभी पुलिसकर्मी कर रहे परेशान क्षेत्र के लोग लगा रहे न्याय की गुहार तत्काल प्रभाव से ऐसे पुलिस वालों को निलंबित किया जाए।

ग्रीन बेल्ट में बने डॉ वक़ार हार्ट सेंटर पर एक्शन लेने में क्यों डर रहे है एडीए अधिकारी

वहीं मामले पर जब अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम ने कोतवाली अतरौली प्रभारी से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि घूस लेने जैसे कोई बात नही है। पीआरबी को 35 हजार रुपये और मोबाइल फोन लूटने की सूचना मिली थी उसी सूचना पर पीड़ित की निशानदेही के अनुसार आरोपी ज्वैलर्स को पुलिस उठाकर लायी और बाग में लूट के पैसे और मोबाइल फोन वापस दिलाकर दोंनो पक्षोंके समझौता कर दिया। पैसे का लेनदेन जो वीडियो में कैद हुआ है वह वही रुपये है। पीआरबी को बिना मामला दर्ज किए फैसला नही कराना चाहिए था जो गलत हुआ है।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com