साहित्यिक पत्रिका ”कहानी पंजाब” ने अपने 100 वें संस्करण का तीसरा खंड रिलीज

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़, 21 नवंबरः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के आधुनिक भारतीय भाषा विभाग के अध्यक्ष डा० क्रांति पाल द्वारा संपादित प्रख्यात साहित्यिक पत्रिका ”कहानी पंजाब” ने अपने 100 वें संस्करण के तीसरे खंड की रिलीज के साथ ही एक और मील का पत्थर हासिल कर लिया है। जनसंचार विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर शाफे किदवाई ने पत्रिका के इस विशेषांक का विमोचन करते हुए कहा कि पंजाबी भाषा की यह पत्रिका कलात्मक आलोचना और सौंदर्य प्रभाव के विश्लेषण के लिए प्रतिबद्ध है तथा नये साहित्यिक आयामों पर अध्ययन के नये बिन्दु प्रस्तुत करती रहती है।
उन्होंने कहा कि इस अंक में पंजाबी में अनुवादित हिंदी, उर्दू और यूरोपीय साहित्य के दर्जनों गद्य, साक्षात्कार और संवादों को प्रस्तुत किया गया है जिनमें हंगरी के लेखक और नोबेल पुरस्कार विजेता, इमरे कीर्त्ज के उपन्यास का पंजाबी अनुवाद शामिल है। डा० क्रांति पाल ने कहा कि पत्रिका इमरे की लेखनी की एक झलक देती है जो इतिहास की बर्बर मनमानी के विरूद्ध व्यक्ति के अनुभवों को उजागर करती है।

वीरांगना झलकारी बाई सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में 350 बच्चे हुए शामिल

उन्होंने कहा कि काहानी पंजाब में सैयद असगर वजाहत के ”पाकिस्तानी सफर नामा” का पंजाबी अनुवाद भी शामिल है, जो पंजाबी पाठकों को प्रख्यात हिंदी विद्वान, कथा लेखक, उपन्यासकार, नाटककार तथा वृत्तचित्र फिल्म निर्माता के महान कार्यों से परिचित कराता है। पत्रिका में कुर्रूतुल ऐन हैदर, मोईन अहसन जज़बी, आल-ए-अहमद सुरूर और शहरयार जैसे कवियों और लेखकों के दुर्लभ साक्षात्कार शामिल हैं। कहानी पंजाब में फ्योदोर दोस्तोवोस्की, बलराज साहनी, इंतेजार हुसैन, गगन गिल, महत्री पुष्पा, जोगिंदर पाल और बिपिन चंद्र के संवादों पर आधारित अध्याय भी शामिल है।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com