पांच माह की बालिका कनिका के घर यूं रौनक एवं खुशियां लेकर आया दीपावली का त्यौहार

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़: दीपावली का त्यौहार पांच माह की बालिका कनिका के घर में रौनक एवं खुशियां लेकर आया। इस बच्ची का अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कालिज के कार्डियोंथोरेसिक सर्जरी विभाग के चिकित्सा दल द्वारा 40 मिनट तक हार्ट व लंग्स के कार्य को रोक कर उसके दिल के छेद का सफलतापूर्वक आपरेशन कर दुर्लभ सर्जरी को अंजाम दिया गया। खुर्जा की रहने वाली पांच माह की कनिका जन्मजात हृदय रोग से पीड़ित थी और उसके हृदय में छेद होने के कारण उसका शरीर नीला पड़ जाता था। दिल में छेद के कारण उसके फेफड़ों से प्रवाहित होने वाला स्वच्छ रक्त गंदे रक्त से मिल रहा था जिसके चलते कानिका निरंतर रूप से बीमार चल रही थी और उसका वजन भी नहीं बढ़ रहा था।
कानिका के माता पिता उसे जेएन मेडिकल कालिज लेकर आये जहां बाल एवं शिशु रोग हृदय विशेषज्ञ डाक्टर शाद अबकरी और डाक्टर एम कामरान मिर्जा ने उसकी इकोकार्डियोग्राफी कर उसकी बीमारी का पता लाया और उसके माता पिता को तत्काल उसके हृदय में छेद की तत्काल सर्जरी कराने का परामर्श दिया। उन्होंने शिशु का प्री सर्जरी का परीक्षण भी किया।
कार्डियोथोरेसिक सर्जरी विभाग के अध्यक्ष एवं प्रमुख कार्डिक सर्जन डाक्टर एम आजम हसीन व उनकी टीम के सदस्यों ने लगभग चार घंटे तक चली इस सर्जरी को सफलतापूर्वक अंजाम देकर कानिका को नया जीवन प्रदान किया। डाक्टर आजम हसीन ने बताया कि शिशु के पाॅच माह आयु का होने तथा उसका भार चार किलो होने के कारण उसकी सर्जरी करना एक चुनौती भरा कार्य था क्योंकि यह एक बेहद दुलर्भ सर्जरी थी। उन्होंने बताया कि क्लीनिकल पफ्र्युजनिस्ट डाक्टर साबिर अली खान ने मेडीसिन एण्ड हार्ट लंग्स मशीन की मदद से आपरेशन के दौरान बच्ची के हद्य व फेफड़ों के कार्य को 40 मिनट तक रोके रखा। जब कि चिकित्सकों की टीम में शामिल डाक्टर सुमित प्रताप सिंह और डाक्टर मयंक यादव ने सर्जरी में सहयोग किया। शिशु को एनेसथीसिया डाक्टर नदीम रजा व उनकी टीम द्वारा दिया गया।

मुँह पर मास्क और टेबल पर काजू-पिस्ता के बीच हुआ अतरौली में समाधान दिवस

डिस्ट्रिक अर्ली इंटरवेंशन सेंटर के समन्वयक एवम जेएन मेडीकल कालिज के बाल एवम शिशु रोग विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर कामरान अफजाल ने बताया कि इस सर्जरी को भारत सरकार के बाल स्वास्थय कार्यक्रम योजना के तहत निशुल्क अंजाम दया गया। एएमयू कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने चिकित्सा दल के सदस्यों को बधाई देते हुए कहा कि मरीजों को ऐसे इलाज के लिए अलीगढ़ से बाहर जाने की आवश्यकता नहीं है क्यों कि जेएन मेडीकल कालिज में सुपर स्पेशलिएटी सुुविधायें उपलब्ध कराई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि जेएन मेडीकल कालिज मार्च लाकडाउन के बाद से 130 से अधिक कार्डियोवेस्कुलर सर्जरी के साथ अन्य दुलर्भ सर्जिकल प्रक्रियाओं को सफलतापूर्वक अंजाम दे चुका है।
मेडीसिन संकाय के डीन प्रोफेसर राकेश भार्गव तथा जेएन मेडीकल कालिज प्राचार्य प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश जेएन मेडीकल कालिज में मेडीकल की बुनियादी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होने से बड़ी संख्या में रोगी जेएन मेडीकल कालिज आ रहे हैं और स्वास्थय लाभ हासिल कर रहे हैं।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

You May Also Like