तीनों कृषि कानून की प्रतियां जलाकर को इन बिलों के रद्द करने के मत को दोहराया

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़। जलाली कस्बे में किसानों की एक सभा के दौरान तीनों कृषि कानूनों की प्रतियां जलाई गईं। प्रतियां जलाते समय किसानों मजदूरों ने इन कानूनों की नकारते हुए रद्द करने की मांग के नारे लगाए। संयुक्त किसान मोर्चा के देशव्यापी कार्यक्रम के तहत बेरोजगार मजदूर किसान यूनियन के क्षेत्रीय कार्यकर्ताओं ने कानून की प्रतियां जलाकर को इन बिलों के रद्द करने के मत को दोहराया।  इसी दौरान आयोजित सभा का संचालन करते हुए डा सोरन सिंह बौद्ध ने तीन खेती के कानून और बिजली बिल 2020 को रद्द करने की किसानों की मांग पर सरकार के अड़ियल रवैये निन्दा की। जिसके विरुद्ध किसानों के साथ बेरोजगार युवकों और मजदूरों को एकजुटता के संघर्ष और तेज करने पर जोर दिया। इसी मौके पर मदन लाल आर्य ने किसानों से अपील की है कि वे दिल्ली में गणतंत्र दिवस ट्रेक्टर परेड की तैयारी में जुटे। यूनियन संयोजक शशिकान्त ने इन कानूनों द्वारा किसानों के अधिकारों के छिनने का हवाला दिया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि इनसे किसानों के लिए उनके बाजार पर और जमीन की सुरक्षा पर हमला होगा, लागत व सेवाओं के दाम बढ़ेंगे, उपज के दाम घटेंगे, किसानों पर कर्ज व आत्महत्याएं बढ़ेंगी, राशन व्यवस्था भंग होगी, खाने के दाम बढ़ेंगे, भूख व भुखमरी बढ़ेगा।

ALIGARH MEDIA के नाम और लोगो का इस्तेमाल कर चल रहे है फर्जी फेसबुक फेज और ट्यूटर अकाउंट, शिकायत दर्ज

मानसिंह का कहना था कोरोना के चलते पहले से बदहाल हुआ आम आदमी किसान विरोधी तीन कानून से और बदहाल होगा। डा अमरसिंह ने कहा कि किसान समझ गया है कि ये कानूनों कारपोरेट के हित में हैं न कि किसानों- मजदूरों के। सुरेशपाल का कहना था कि सरकार कितने भी प्रपंच हथकंडे अपना ले, लेकिन किसान की घर वापसी बिलों के रद्द होने से पहले नहीं होगी।

राज्यपाल ने किया हस्तशिल्प एवं स्वयं सहायता समूह उत्पाद प्रदर्शनी का उद्घाटन

सभा में इनके अलावा यूनियन संयोजक गोकुल करन, सुभाष चन्द्र, विजय सिंह वेदी, मोतीराम, हरप्रसाद, राकेशसिंह, नेत्रपाल सिंह, मानसिंह, रमेशचन्द्र, भीखम्बरसिंह, बाबूलाल, लाखनसिंह, सतीश कुमार, राजपाल सिंह, दानसहाय, कमरूद्दीन, शौकत अली, श्योराज सिंह, गेंदालाल, हरीसिंह, अतरसिंह, जोगपाल सिंह, सुरेश सिंह, अनिल कुमार, अमर सिंह, अखलेश कुमार, मदनलाल, सुरेश कुमार आदि शामिल रहे। सभा में जलाली के अलावा उकरना, बहरामपुर, खिटकारी, नगला नसीब अली गांवों के किसानों-मजदूरों ने तीनों कृषि बिलों को रद्द होने तक आन्दोलन जारी रखने की बात कही।

 

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com