हरदुआगंज#पंचतत्वों से मिलकर बने मिट्टी के दीये से चमकेगी दिवाली

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: मिट्टी का दीपक पांच तत्वों से मिलकर बनता है, जिसकी तुलना मानव शरीर से की जाती है। पानी, आग, मिट्टी, हवा तथा आकाश तत्व ही मनुष्य व मिट्टी के दीपक में मौजूद होते हैं। दीपक जलाने से ही समस्त धार्मिक कर्म होते हैं। दीपावली के शुभ अवसर पर मिट्टी के दीपों का ही अत्यंत महत्व है। वास्तुशास्त्र में इसका महत्व इस बात से है कि यदि घर में अखंड दीपक जलाने की व्यवस्था की जाए तो वास्तु दोष समाप्त हो जाता है।

मंविवि में नए सत्र के विद्यार्थियों के लिए आयोजित हुआ उन्मुखीकरण कार्यक्रम

…50-60 रुपए सैकड़ा है रेट 
इन दिनों कुम्हार बिक्री के लिए अलग-अलग वैरायटी के दीपक तैयार करने में लगे हुए हैं। कुम्हारों के अनुसार होलसेल में ₹50 सैकड़ा में दीये बेचे जाते हैं। बाजार में ग्राहकों को ₹10 में एक दर्जन दीये मिलते हैं। कस्बा के मोहल्ला अहीरपाड़ा निवासी गुलाबो पत्नी स्व० सोरन सिंह जो लगभग 30 वर्षों से यह कार्य कर रही हैं और बताती हैं कि दीया बनाना ही परेशानी का सबब नहीं बल्कि बिक्री करने में भी काफी दिक्कतें होती हैं। दुख तो तब और ज्यादा होता है कि अच्छे घरों के लोग इतनी कम कीमत के बाद भी मोलभाव करते हैं।
मिट्टी के दीयों में दिखती है भारतीय संस्कृति की झलक :– प्राचीन संस्कृति के लिहाज से मिट्टी के दीपकों का ही दीपावली में महत्व होता है। इसे बच्चे व युवा खूब अच्छे से जान रहे हैं।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com