प्रतिस्पर्धा कानून का उद्देश्य व्यपार के क्षेत्र में वर्चस्व एवं अधिकार को नियन्त्रित करना: प्रो.शकील

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ, 20 जूनः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के विधि संकाय की ला सोसाइटी द्वारा भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग की कार्यप्रणाली एवं अवलोकन विषय पर आयोजित राष्ट्रीय वेबिनार को सम्बोधित करते हुए मुख्य वक्ता आनन्द विकास मिश्रा, ज्वाइंट डायरेक्टर, प्रतिस्पर्धा आयोग ने आयोग की कार्यप्रणाली के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा करते हुए कहा कि आयोग का मुख्य उद्देश्य बाजार में अधिपत्य को नियंन्त्रित करना है और प्रतिस्पर्धा को बढ़ाने में मदद करना है। ताकि बाजार में ग्राहक के पास अधिक से अधिक विकल्प उपलब्ध हो सके और देश में सस्ता और अच्छा सामान उपलब्ध हो सके।
उन्होंने कहा कि यह उन गतिविधियों को रोकता है जो प्रतिस्पर्धा को नकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं। उन्होंने अनेक केसों का हवाला देते हुए कहा कि आयोग ने बहुत से मामलों में व्यापारियों और कम्पनियों पर भारी अर्थदण्ड लगाया है। आनन्द विकास मिश्रा ने कहा कि यह आयोग पूरी तरह तटस्थ है और प्राइवेट और पब्लिक कम्पनी में कोई भेदभाव नहीं करता है। इस आयोग का उद्देश्य देश में तरक्की लाना है।
श्री मिश्रा ने कहा कि जो छात्र व छात्राऐं आर्थिक क्षेत्र में अपना केरियर बनाना चाहते हैं प्रतिस्पर्धा कानून उनके लिए असीम सम्भावनाऐ प्रदान करता है। उनहोंने बताया कि भारत में उस क्षेत्र में छात्रों को बहुत अवसर हैं जिसमें छात्र अपना स्वर्णिम भविष्य बना सकते हैं।
वेबिनार की अध्यक्षता करते हुए विधि संकाय के डीन प्रो. शकील समदानी ने कहा कि प्रतिस्पर्धा कानून का उद्देश्य व्यपार के क्षेत्र में वर्चस्व एवं अधिकार को नियन्त्रित करना, अनुचित और प्रतिस्पर्धा को रोकने वाली व्यपारिक गतिविधियों को रोकना तथा प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देने वाली नीतियों को लागू करना शामिल है। ताकि देश में लोगों को सस्ता और अच्छा माल मिल सके और देश में व्यापार ईमानदारी और समाज के हितों को ध्यान में रख कर किया जा सके।

विधि संकाय के सहायक अध्यापक मोहम्मद नासिर ने स्वागत भाषण में कहा कि लाकडाउन के समय में व्यापार की स्वतंत्रता एवं स्वास्थ का अधिकार चिन्ता का विषय बन चुके हैं। इसलिये इस पर गहन चर्चा अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि व्यापार की अस्वतंत्रता में प्रतिस्पर्धा आयोग एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।  कार्यक्रम का संचालन ला सोसाइटी के सचिव अब्दुल्ला समदानी ने किया। मेहमानों का धन्यवाद अभय जादौन ने दिया। इस कार्यक्रम में सऊदी अरब और ईरान के अलावा डा. बीआर अम्बेडकर विश्वविद्यालय, आगरा मो. अली जौहर विश्वविद्यालय रामपुर, बुंदेलखण्ड विश्वविद्यालय झांसी, इन्द्रप्रस्थ विश्वविद्यालय दिल्ली, उत्तरांचल विश्वविद्यालय देहरादून, जामिया मिलिया इस्लामिया नई दिल्ली आदि विश्वविद्यालय के अलावा मुर्शिदाबाद, मल्लापुरम सेन्टर के शिक्षक, छात्र व छात्राऐं अधिवक्ता आदि भी शामिल हुए। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में ला सोसाइटी के पदाधिकारियों के अलावा आदित्य वत्स, शुभम कुमार, शोएब अली, फौजिया, शेल्जा सिंह, पवन वाष्र्णेय आदि का विशेष योगदान रहा तथा समरीन अहमद, हुनैन खालिद आदि भी उपस्थित रहे।
अन्त में छात्र व छात्राओं ने मुख्य वक्ता से अनेक सवाल भी पूछे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com