राज्यपाल ने किया हस्तशिल्प एवं स्वयं सहायता समूह उत्पाद प्रदर्शनी का उद्घाटन

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़: मा0 राज्यपाल उत्तर प्रदेश श्रीमती आनन्दीबेन पटेल द्वारा अपने भ्रमण के दौरान बुधवार को प्रातः सर्किट हाउस परिसर में ओडीओपी, एफपीओ एवं एनआरएलएम समूह की महिला लाभार्थियों द्वारा तैयार किये गये उत्पादों की प्रदर्शनी का फीता काटकर शुभारम्भ किया। उन्होंने स्टाॅलों के अवलोकन के दौरान उद्यमियों, किसानों एवं महिला लाभार्थियों से संवाद करते हुए तैयार उत्पादों की मुक्तकंठ से सराहना की। उन्होंने प्रदर्शनी अवलोकन के उपरान्त औषधीय गुणों को समेटे हुए मौलश्री के पौधे का रोपण भी किया।  मा0 राज्यपाल महोदया द्वारा सर्किट हाउस सभागार में एनआरएलएम समूह की महिला लाभार्थियों को प्रशस्ति पत्र, ओडीओपी के तहत मार्जिन मनी ऋण योजना के चैक एवं टूल किट के साथ विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र का वितरण किया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत और स्वावलम्बी बनाने के लिए हर सम्भव कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण परिवेश से जुड़ी महिलाएं स्वयं सहायता समूह से जुड़कर आर्थिक रूप से सबल, सशक्त और स्वावलम्बी बनें। उन्होंने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत संचालित स्वयं सहायता समूहों के क्रियाकलापों के बारे में जानकारी की और समूह सदस्यों से संवाद भी किया। उन्होंने कहा कि अब महिलाएं किसी भी स्तर पर अपने को कमजोर न समझें और जब महिलाएं सशक्त होंगी तभी देश सशक्त बनेगा। राष्ट्र की उन्नति एवं तरक्की के लिए महिलाओं को विभिन्न क्रियाकलापों के माध्यम से अपनी आय में वृद्धि करनी होगी। उन्होंने महिलाओं से आव्हान किया किया कि वह अपने बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें और संकल्प लें कि हमें गरीबी से बाहर निकलना है। उन्होंने आवश्यक खर्च पर नसीहत देते हुए कहा कि समाज में झूठी शान बनाए रखने के लिए विवाह आदि आयोजनों पर अनावश्यक खर्चों से बचें, पैसों का विवेकपूर्ण ढ़ंग से सदुपयोग करें। इस दौरान उन्होंने समूह द्वारा तैयार किए जा रहे उत्पादों एवं समूूह संचालन के बारे में जानकारी प्राप्त की। महिला समूहों द्वारा बताया गया कि वह समूह के माध्यम से 62 प्रकार की गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है, जिसमे प्रेरणा कैंटीन, विद्युत बिल एजेंट, पीडीएस शॉप, सामुदायिक शौचालय, स्कूल ड्रेस, ग्रासरी, ब्यूटी पार्लर, बेकरी, ब्रास मूर्ति बनाने का कार्य प्रमुख हंै, जिससे वह अपने परिवार का अच्छे से भरण-पोषण कर रही हैं। मा0 राज्यपाल जी ने कहा कि आज के समय में बेटे और बेटियों में कोई भेद नहीं रह गया है। बेटों की भांति बेटियों को भी अच्छी शिक्षा मुहैया कराई जाए। आज की बेटियां वह हर प्रकार के कार्य कर रही हैं और हर क्षेत्र में बेटों से एक कदम आगे आकर अपना परचम लहरा रहीं हैं।

दोनों लोग जिस प्रकार से उर्दू भाषा और साहित्य के बड़े विद्वान थे: प्रो. आज़रमी

मा0 दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री ठा0 रघुराज प्रताप सिंह ने कहा कि आज का भ्रमण जनपद के लिए प्रेरणादायी एवं मार्गदर्शक बनेगा। उन्होंने पुलिस एवं प्रशानिक अधिकारियों के कार्यों की सराहना करते हुए चाहे कोविड रहा हो या सामान्य दिन शासकीय योजनाओं का लाभ पात्रों को मिल रहा है। कोविड के दौरान श्रम विभाग द्वारा प्रत्येक पात्र को 1000-1000 रूपये उनके बैंक खातों में पहुॅचाने के साथ ही पंजीकृत श्रमिकों की बालिकाओं को साइकिल का भी वितरण किया गया है।

 

…उत्पाद प्रदर्शनी में लगाए स्टाॅल
उजमा एप्लिक वर्क, मुकी अहमद पुत्र जकी अहमद जरीदोजी, जयकिशोर पुत्र कंवरपाल मूंगा-मोती, फेडरेशन आॅफ स्माल एण्ड मीडियम इडंस्ट्रीज एसोशिएशन, दि अलीगढ़ इलैक्ट्रीकल्स मैन्युफैक्चरर एण्ड सप्लायर्स एसोशिएशन, मै0 स्टील मेन्स इंपैक्स लाॅक्स एण्ड हार्डवेयर, मै0 मंदा इनोवेशन इनोवेटिव आइडिया, मै0 स्पाइडर लाॅक प्रा0 लि0 लाॅक्स, मै0 अखिल ब्रादर्स आर्टवेयर एण्ड हार्डवेयर, मै0 तिरूपति ब्रासवेयर एण्ड हार्डवेयर, बजाज ग्रुप्स लाॅक एण्ड हार्डवेयर, पालम सिक्योरिटी लाॅक्स, कोमलिका किसान उत्पादक कम्पनी लिमिटेड, भू समृद्धि प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड, ब्रज किसान उत्पादक कम्पनी लिमिटेड एवं अमन स्वयं सहायता समूह टप्पल, राघव स्वयं सहायता समूह बौनेर, संतोषी माता स्वयं सहायता समूह बीनूपुर द्वारा स्टाॅल लगाए गये।

 

…लाभार्थियों एवं उद्यमियों को मिले टूलकिट व चैक
शरद अग्रवाल, घनेन्द्र कुमार, नरेश कुमार, अमित कुमार, राममोहन, संदय शर्मा, बिन्दू सागर, प्रफुल्ल चन्द सरकार, उपेन्द्र कुमार, अतुल शर्मा, ऊष देवी, भावना, मुरारी लाल, हिमान्शु अग्रवाल व रद्युवीर सिंह।

…एनआरएलएम लाभार्थियों को मिले स्वीकृति पत्र
आजीविका ग्रामीण एक्सपे्रस योजना में दुर्गेश देवी, सायना एवं सीमा देवी को टैक्सी की चाबी सौंपी गयी। नीरज देवी एवं साधना शर्मा को 101 स्वयं सहायता समूहों को 1 करोड़ 1 लाख रूपये का डेमो चैक प्रदान किया गया। मन्जू देवी, रूचि सिंह, नीतू देवी, विनीता एवं चन्द्रवती देवी को स्वयं सहायता समूह के लिए सीसीएल का स्वीकृति पत्र वितरित किया गया। केनरा बैंक के लाभार्थी बच्चू सिंह को फिश फार्मिंग, राजेश कुमार को केसीसी डेयरी लोन एवं सुखदेव शर्मा व अर्जुन सिंह को किसान क्रेडिट कार्ड का वितरण किया गया। इस दौरान उन्होंने प्रेरणा कैन्टीन का संचालन कर रही साधना शर्मा, विद्युत बिल एजेन्ट के रूप में कार्य कर रही प्रतिमा कुमारी, समूह में एकाउंटेंट के रूप में कार्य कर रही नीरज एवं समूह संचालिका प्रतिमा शर्मा, राशन की दुकान चला रही गीता राघव और सामुदायिक शौचालय का संचालन कर रही पूनम देवी से संवाद करते हुए उनके अनुभवों को जाना। इस दौरान राज्यपाल महोदया ने आयुष्मान कार्ड, कन्या सुमंगला योजना, नवीन कृषि कानून, स्वास्थ्य, संस्थागत प्रसव, पोषण सम्बन्धी बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की।

 

…अलीगढ़ का ताला एवं हार्डवेयर के सामान देख हर्षित व गद्गद् हुईं राज्यपाल
ताला एवं हार्डवेयर के लिए विश्व भर में सुविख्यात अलीगढ़ में ताला उद्योग का तालानगरी स्थित स्पाइडर लाॅक कम्पनी में स्थलीय निरीक्षण करने पहुॅची मा0 राज्यपाल ने विभिन्न प्रकार के ताले, डोर लाॅक एवं अन्य हार्डवेयर प्रोडक्ट का गहनता से अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने ताला निर्माण सम्बन्धी एक फिल्म भी देखी और फैक्ट्री स्थल पर चल रहे हार्डवेयर एवं लाॅक निर्माण कार्य का अवलोकन भी किया। इस दौरान उन्होंने आध्यात्मिक पौधे रूद्राक्ष का रोपण किया और गाय का गुड़ व चारा खिलाया।

…अलीगढ़ का ताला ओडीओपी के रूप में है चयनित
सर्वविदित है कि अलीगढ़ का ताला देश ही नहीं वरन् सम्पूर्ण विश्व में सदियों से अपनी पहचान बनाए हुए है। वर्तमान में कुछ ही सालों से हार्डवेयर के क्षेत्र में भी देश में बेहतर पकड़ बना रखी है। प्रदेश सरकार द्वारा ओडीओपी के रूप में अलीगढ़ का ताला चयनित किया गया है। औद्योगिक इकाईयों एवं निवेश को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे विभिन्न प्रकार के सार्थक प्रयासों एवं राज्यपाल जी के भ्रमण व निरीक्षण से ताला एवं हार्डवेयर उद्योग को प्रोत्साहन मिलने का विश्वास हर छोटे-बड़े निवेशक, उद्यमियों एवं निर्यातकों के मन में पैदा हुआ है।

…कोरोना वाॅरियर्स के रूप में अधिकारी हुए सम्मानित
महामहिम राज्यपाल उत्तर प्रदेश द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना संकटकाल में बेहतरीन योगदान देने के लिए मुख्य विकास अधिकारी अनुनय झा, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व डा0 विधान जायसवाल, एसपी क्राइम डा0 अरविन्द कुमार, पुष्पेन्द्र सिंह एवं कमलेश चैरसिया को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

…टी.बी. रोगियों को गोद लेकर कराएं समुचित इलाज का प्रबंध
सर्किट हाउस सभागार में राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के तहत 18 वर्ष तक के टीबी ग्रसित रोगियों को माननीय राज्यपाल जी के प्रेरणा स्वरूप स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा गोद लिया गया है, उनके साथ बैठक कर डा0 वैभव वाष्र्णेय, डा0 राहुल कुलेश्रेष्ठ, डा0 विपिन गुप्ता, डा0 भरत वाष्र्णेय, डा0 ज्ञानेन्द्र मिश्रा, डा0 ललित उपाध्याय, डा0 प्रवीन गुप्ता एवं डा0 प्रगति चैहान को प्रशस्ति पत्र प्रदान किये और क्रियाकलाप के बारे में संवाद भी स्थापित किया। इस दौरान जिला क्षय रोग अधिकारी द्वारा ’’टीबी हारेगा-देश जीतेगा’’ पर पावर प्रजेन्टेशन के माध्यम के संक्षिप्त प्रस्तुति भी दी गयी।

डा0 अनुपम भास्कर ने बताया कि टीबी खोजो अभियान में 403 टीमों का गठन कर लक्षण के आधार पर 2074 व्यक्तियों का नमूना परीक्षण कराया गया, जिसमे 172 व्यक्ति संक्रमित पाए गये। वर्ष 2020 में कुल 9902 क्षय रोग के मरीज पाए गये हैं। सुगर और एच आई वी की जाँच के दौरान भी 147 क्षय रोग संक्रमित व्यक्ति पाए गए, सभी संक्रमितों का चिकित्सकीय परामर्श पर इलाज किया गया जिसका सफलता प्रतिशत 95 रहा है। मा0 राज्यपाल ने 12 जनवरी तक टीबी खोज अभियान कार्यक्रम में अन्तर्गत किये गये सर्वे के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त की। स्वयंसेवी संस्थाओं से अपील करते हुए राज्यपाल महोदया ने कहा कि टीबी छुआ-छूत की बीमारी नहीं है। चिन्हित मरीजों को गोद लेकर उनके उपचार में भरपूर सहयोग किया जाए ताकि टीबी का उन्मूलन शीघ्र हो सके। टीबी हारेगा तभी देश जीतेगा। उन्होंने कहा कि क्षय रोग से ग्रसित लड़के-लड़कियों में विभेद न किया जाए, बल्कि सभी का समुचित एकसमान इलाज करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा क्षय रोग उन्मूलन के लिए अभूतपूर्व अभियान शुरू किया गया है जो अन्य राज्यों में अभी तक आरम्भ नहीं हो सका है और हमारा प्रदेश टीबी से जंग में काफी आगे निकल गया है। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी देखा गया टीबी मुक्त भारत का सपना 2025 से ही उत्तर प्रदेश प्राप्त कर लेगा। मा0 राज्यपाल ने आयुष्मान योजना के तहत मिलने वाली 5 लाख रूपये की धनराशि के बारे में विस्तृत जानकारी दी और सभी के आयुष्मान कार्ड बनवाने के साथ ही सभी को इसका लाभ उठाने को कहा।

 

…जिलास्तरीय अधिकारियों द्वारा क्षय रोग ग्रसित गोद लिए गए बच्चे
जनपद में वर्तमान में क्षय रोग से ग्रसित 844 बच्चे हैं, जिनका इलाज चल रहा है। लक्ष्मी वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष डॉ0 विभव वाष्र्णेय द्वारा समय समय पर बच्चों को पोषण सामग्री प्रदान करने के साथ ही स्वास्थ्य की जाँच भी की जाती है। इसी प्रकार से प्रगति फाउंडेशन द्वारा 20 बच्चों को गोद लेकर उनकी शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

जिलाधिकारी द्वारा नई बस्ती के नैतिक 8 वर्ष, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा जयगंज के हार्दिक 4 वर्ष, मुख्य विकास अधिकारी द्वारा बैंक कालोनी पला रोड के सिद्धार्थ 6 वर्ष, एडीएम सिटी द्वारा बरौला बाईपास की अनन्या 5 वर्ष, एडीएम प्रशासन द्वारा भुजपुरा निवासी गोविंद 5 वर्ष, एडीएम वित्त द्वारा अवंतीबाई कॉलोनी की पलक 4 वर्ष, एस पी सिटी द्वारा खिरनी गेट के 5 वर्षीय यश, एस पी क्राइम द्वारा निशाद बैग के अहान 5 वर्ष, मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा मुल्ला पाड़ा के अलफैज 6 वर्ष और जिला क्षय रोग अधिकारी द्वारा माबूद नगर की रहिमा 5 वर्ष क्षय रोग से ग्रसित बच्चों को गोद लिया गया है। इस प्रकार से जिलास्तरीय अधिकारियों द्वारा 14 टीबी ग्रसित बच्चे गोद लिए गए हैं।

…आंगनबाड़ी बच्चों के पोषण पर दें विशेष ध्यान:-
किसी भी देश के लिए बच्चे भविष्य की धरोहर होते हैं। यदि बच्चे कुपोषित, कमजोर होंगे तो राष्ट्र सशक्त कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों में उसे 6 वर्ष आयु तक के बच्चे आते हैं। हमें ऐसे बच्चों के पोषण एवं शिक्षा पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। वर्तमान सरकार की विशेष पहल आंगनबाड़ी विद्यालयों एवं केंद्रों को प्राइवेट स्कूलों की भांति विकसित किया जा रहा है, यह एक अच्छी एवं सराहनीय पहल है। आंगनबाड़ी केंद्रों में साफ-सफाई, रंग-रोगन के साथ ही शुद्ध पेयजल, स्वच्छ शौचालय, खिलौने, आकर्षक एवं रंगीन मेज व कुर्सियों का समुचित प्रबन्ध किया जा रहा है जिससे बच्चों का केंद्रों के प्रति आकर्षण बढ़े। उन्होंने कहा कि जनपद के धनाड्य व्यक्ति एवं महाविद्यालयों, इंजीनियरिंग काॅलेजों के संचालनकर्ताओं को चाहिए कि वह कम से कम 5-5 आंगनबाड़ी केंद्र गोद लें। यदि किसी कार्य में जनता का सहयोग प्राप्त होता है तो समाज में एक अलग ही बदलाव देखने को मिलता है। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में कार्य कर रही आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को समय-समय पर खून की जांच कराते रहने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि यह समय सामाजिक बदलाव लाने का है। हमें समाज में फैली विभिन्न कुरीतियों को समाप्त करने के लिए प्रयास करने चाहिए, इस कार्य में युवा वर्ग अपना विशिष्ट योगदान दे सकता है। उन्होंने बाल विवाह को रोकने और प्रदेश सरकार द्वारा संचालित सामूहिक विवाह योजना में जन समान्य को बढ़-चढ़कर प्रतिभाग करने का आव्हान किया।

ALIGARH MEDIA के नाम और लोगो का इस्तेमाल कर चल रहे है फर्जी फेसबुक फेज और ट्यूटर अकाउंट, शिकायत दर्ज

 

…अधिक से अधिक किसान उत्पादन संगठन बनाए जाने पर दिया जोर:-
देश के प्रधानमंत्री जी संकल्प है कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दो गुनी हो। देश के किसान यदि इस संकल्प को पूरा करना चाहते हैं तो उन्हें परम्परागत खेती को छोड़कर वैज्ञानिक आधारित खेती के साथ ही तकनीक का प्रयोग करना ही होगा। बागवानी एवं पशुपालन समेत कृषि के अन्य सहायक घटकों की तरफ आगे बढ़ना होगा। रासायनिक खेती को छोड़ जैविक खेती करेंगे तभी कृृषक खुशहाल होंगे और नवयुवक खुशहाल होंगे तो देश तरक्की करेगा। वर्तमान सरकार किसानों को आर्थिक तौर पर मजबूती प्रदान करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित कर रही हैं। किसानों को सस्ते दामों पर बिजली, पानी, बीज, खाद, कृषि यंत्र मुहैया करा रही है, आप इसका लाभ उठाएं और उन्नतशील प्रजाति के बीज और नवीन तकनीक का प्रयोग कर आर्थिक तौर पर आत्मनिर्भर बनें। उन्होंने किसानों को समूह बनाकर खेती करने का आव्हान करते हुए अधिक से अधिक एफपीओ बनाने के निर्देश दिये।

…जनपद में संचालित हैं 7 एफपीओ
कम लागत में बेहतर उत्पादन प्राप्त करने और समूह में खेती करने के लिए जनपद में 7 पंजीकृत किसान उत्पादन संगठन कार्य कर रहे हैं। सीडीओ ने बताया कि ग्राम भमरौला में किसान राजेन्द्र प्रसाद पचैरी द्वारा 780 किसान सदस्यों की मदद से कोमालिका फार्मर प्रोड््îूसर कम्पनी के नाम से धान, गेहूँ एवं आलू बीज का उत्पादन किया जा रहा है। ग्राम शेखा में संतोष कुमार द्वारा 200 कृषकों के समूह के साथ बृज किसान कम्पनी द्वारा जैविक खाद, जैविक कीटनाशक एवं धान, मक्का, बाजरा व गेहूं की जैविक खेती की जा रही है। अतरौली के अजयपाल सिंह द्वारा 250 किसानों के साथ भू समृद्धि फार्मर कम्पनी का संचालन करते हुए पौध नर्सरी, ऑर्नामेंटल प्लांट और नींबू, अमरूद, कटहल व अनार की पौध तैयार की जा रही है।

…जनपद के प्रगतिशील किसान
उत्तर प्रदेश की मा0 राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल द्वारा जनपद के 5 प्रगतिशील किसानों से संवाद किया गया। इस दौरान उन्होंने प्रगतिशील किसानों द्वारा तैयार किये जा रहे उत्पादों की लगाई गई प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। पड़़की के भवँर पाल ने बताया कि वह धान, बाजरा, मक्का एवं गेहूं का जैविक उत्पादन करते हैं। ग्राम बरौठा के अनिरुद्ध उपाध्याय ने बताया की वह जैविक खेती के माध्यम से मक्का, बाजरा, गेहूँ, मसूर एवं सरसों का उत्पादन कर रहे हैं। लक्ष्मण गढ़ी के देवराज सिंह ने बताया कि जैविक खेती के माध्यम से फल, सब्जियां और औषधियों का उत्पादन कर रहे हैं। बहरावद के बाबू सुरेश चंद ने बताया कि वह आड़ू की कलम से पौध, कटहल, वर्मीकम्पोस्ट, मधुमक्खी पालन, और फ्रूट प्लाई ट्रेप का निर्माण करते हैं। प्रगतिशील किसान ध्यान पाल सिंह ने बताया कि वह अश्वगंधा, सतावर, कोन्छ, कालमेघ, तुलसी, और सर्पगंधा समेत अन्य तमाम प्रकार की औषधीय फसल का उत्पादन प्राप्त कर रहे हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री किसान सममान निधि योजना में तीन कृषक राजेन्द्र कुमार शर्मा, रामशरण सिंह एवं श्रीराम को चैक प्रदान किये।

….राज्यपाल से संवाद कर हर्षित हुए किसान
मा0 राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल ने सर्किट हाउस में प्रगतिशील किसानों एवं एफपीओ से संवाद करते हुए कहा कि हमारे कृषक आॅर्गेनिक, जीरो बजट एवं जैविक खेती की ओर अग्रसर हों। रासायनिक उर्वरकों का अंधाधुंध प्रयोग एवं भूमिगत जल का अविवेकपूर्ण दोहन हम सभी को बर्वाद कर छोड़ेगा। उन्होंने सचेत किया कि अभी भी समय है वैज्ञानिकों, विशेषज्ञों एवं नवीन तकनीक पर आधारित खेती जहां आपकी लागत को कम करेगी वहीं कम लागत में फसलोत्पादन को बढ़ावा मिलने के साथ ही स्वास्थ्य भी उत्तम रहेगा। उन्हांेने प्रगतिशील किसानों से संवाद करते हुए कहा कि किसानों को कैमिकल युक्त फर्टिलाइजर्स का प्रयोग पूर्णतया बन्द कर देना चाहिए। निरोगी काया के लिए आवश्यक है कि आर्गेनिक और जैविक खेती करें और स्वास्थ्य के लिए उत्तम फसलोत्पादन प्राप्त करें। वर्तमान में हमारे अधिकतर किसान रासायनिक खादों एवं पानी का अंधाधुध प्रयोग कर रहे हैं जिससे फसल जहरीली होने के साथ ही भूगभीय जल समय से पहले समाप्त हो रहा है। किसानों को चाहिए कि कृषि विधियों और नवीन तकनीक को अपनाकर अपनी पैदावार को अन्य माध्यमों अथा बागवानी, पशुपालन, मत्स्य पालन से आय में वृद्धि करें। समूह के माध्यम से खेती करें और तैयार फसल, फल, सब्जी, फूल आदि को बेहतर मार्केटिंग के साथ ही शादी, विवाह, विद्यालयों, हाॅस्टल आदि में सीधे पहुॅचाएं ताकि बिचैलियों की व्यवस्था समाप्त हो और आपको अपनी फसल का उचित मूल्य प्राप्त हो सके। राज्यपाल ने किसान आन्दोलन पर चर्चा करते हुए कहा कि नये कृषि कानून कृषि एवं किसान हित में है, इससे किसानों को आगे बढ़ने, नये प्रयोग करने और अपनी जमीन का अधिकतम सदुपयोग करने का मौका मिलेगा।

…अभिनव पहल- महिला सुरक्षा सेल (डब्लू.पी.सी)
जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह द्वारा बताया गया कि जनपद में अभिनव पहल के रूप में शासन की मंशा के अनुरूप महिला सुरक्षा सेल का गठन किया गया है। महिला सुरक्षा सेल का उद््देश्य महिला उत्पीड़न से निपटने और सुधारात्मक उपाय तलाशना, सूचना तकनीक का उपयोग कर सरकारी तंत्र के माध्यम से पीड़ित महिलाओं को सहायता उपलब्ध कराना, महिलाओं के प्रति हो रहे अत्याचार में कमी लाकर उन्हें भयमुक्त और सुरक्षित वातावरण उपलब्ध कराना है। अब तक महिला सुरक्षा सेल में 314 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिसमे से 303 का निस्तारण किया गया।
बैठक के अन्त में जिलाधिकारी ने मा0 राज्यपाल महोदया को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि आपका मार्गदर्शन एवं दिशा निर्देश जनपद के लिए प्रेरणा के स्रोत बनेंगे। समाज के प्रति आपका नजरिया वास्तव में अत्यन्त ही सराहनीय एवं पथ प्रदर्शक है। जिलाधिकारी के रूप में आपको विश्वास दिलाता हूंॅ कि आप द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों के क्रम में सरकार द्वारा संचालित की जा रही योजनाओं का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति तक पहुॅचाया जाएगा।

….सम्पूर्ण कार्यक्रम में दर्ज कराई उपस्थिति
मा0 सांसद श्री सतीश गौतम, मा0 वित्त एवं शिक्षा राज्य मंत्री श्री संदीप सिंह, दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री ठा0 रघुराज प्रताप सिंह, मण्डलायुक्त जी. एस. प्रियदर्शी, आई.जी. पीयूष मोर्डिया, अपर आयुक्त कंचन शरण, डीएम चन्द्र भूषण सिंह, एसएसपी मुनिराज जी. सीडीओ अनुनय झा, अपर जिलाधिकारी राकेश कुमार मालपाणी, विधान जायसवाल, डीपी पाल, एसपी क्राइम डा0 अरविन्द कुमार, उप श्रम आयुक्त श्रीनाथ पासवान, उप निदेशक कृषि अनिल कुमार, डीसी एनआरएलएम जनार्दन प्रसाद यादव, सीएमओ बीपीएस कल्याणी, जिला कृषि अधिकारी विनोद कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रेयस कुमार आदि उपस्थित रहे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com