भारतीय संविधान की धारा-19 अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की गारंटी देती है:डा० फ्रेंक

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र प्रख्यात उद्यमी तथा व्यापारी, समाज सेवी, लेखक तथा एफआई इनवेस्टमेंट ग्रुप के अध्यक्ष, अमरीका निवासी डा. फ्रेंक इस्लाम ने बुधवार को यहां विश्वविद्यालय के मास कम्यूनिकेशन विभाग में मास कम्यूनिकेशन आडीटोरियम तथा बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन विभाग में इंटरप्रिन्योरशिप सेंटर का उद्घाटन करते हुए कहा कि अमुवि ने ही उनको प्रशिक्षित किया तथा ऐसे मूल्य सिखाऐ जिनसे उन्हें जीवन में सफलता प्राप्त हुई।
विश्वविद्यालय के आफताब हाल के मुमताज हास्टिल में भी उनके निधन पर शोक सभा का आयोजन हुआ। मास कम्यूनिकेशन विभाग में अपने सम्बोधन में डा. इस्लाम ने कहा कि मास कम्यूनिकेशन आडीटोरियम एवं प्रीव्यू थियेटर बहुत महत्वपूर्ण स्थान होगा। जहां अध्यापकां, छात्र – छात्राऐं तथा ज्ञान एवं कला के विशेषज्ञ एकत्रित होंगे तथा स्वतंत्र पत्रिकारिता एवं लोकतंत्र पर विचारों का आदान प्रदान होगा। उन्होंने कहा कि यह मात्र शब्द नहीं बल्कि वास्तविकता पर आधारित भावना है इसीलिये मैंने तथा मेरी धर्मपत्नी ने इस आडीटोरियम के लिये आर्थिक सहयोग उपलब्ध कराया है। उन्होंने आडीटोरियम में एयरकंडीशनिंग व्यवस्था के लिये भी आर्थिक सहयोग उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि मुझे विश्व के दो बड़े लोकतांत्रिक देशों भारत तथा अमारीका में निवास का अवसर मिला है तथा मुझे विश्वास है कि इन देशों में लोकतंत्र को जीवित तथा उज्जवल बनाये रखने एवं विश्व भर के लिये एक मिसाल बनाने के लिये सक्रिय नागरिकों का होना अति आवश्यक है।

Video Breaking…मडराक# बी फार्मा छात्र की अपहरण के बाद हत्या, परिजनों ने घेरा थाना

 

उल्लेखनीय है कि डा. फ्रेंक इस्लाम ने मैनेजमेंट काम्पलेक्स के लिये 14 करोड़ रूपये तथा मास कम्यूनिकेशन आडीटोरियम के लिये 1 करोड़ रूपये की राशि दान की थी। डा. फ्रेंक इस्लम ने कहा कि भारतीय संविधान की धारा 19 अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की गारंटी देती है। इस इस पर आम सहमति है कि इस धारा में प्रेस की (पत्रकारिता) की स्वतंत्रता शामिल है। उन्होंने कहा कि 1947 से भारत में स्वतंत्रत प्रेस ने काफी प्रगति की है तथा इसने भारतीय लोकतंत्र के विकास में मुख्य भूमिका निभाई है। डा. फ्रेंक इस्लाम ने बल देते हुए कहा कि फर्जी तथा सज्जा समाचार किसी लोकतंत्र में बड़ा अंतर पैदा कर सकता है। उन्होंने कहा कि वास्तविक समाचार समस्याओं के समाधान, समाज के निर्माण आदि की प्राप्ति में सहायक सिद्व होता है। जबकि झूठा समाचार मतभेद को हवा देता है। नागरिकों के बीच दूरी को बढ़ाता है तथा खेमाबंदी एवं दूरियों को बल पहुंचाता है।

उद्घाटन समारोह में डा. फ्रेंक इस्लाम ने अमुवि कुलपति प्रो. तारिक मंसूर के साथ चुनिंदा पत्रकारों को जर्नलिज्म एक्सीलेंस एवार्ड प्रदान किये जिनमें कु. रोमाना ईसार (ऐंकर एबीपी न्यूज), श्री अनुज कुमार (सीनियर असिस्टेंट एडीटर द हिन्दू), श्री संतोष शर्मा (दैनिक जागरण), श्री पर्णव अग्रवाल (हिन्दुस्तान) तथा श्री मोहम्मद कामरान (न्यूज -18 उर्दू) शामिल हैं। फ्रेंक एण्ड डेबी इस्लाम मास कम्यूनिकेशन आडीटोरियम में उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करते हुए अमुवि कुलपति प्रो. तारिक मंसूर ने कहा कि पत्रकारिता लोकतंत्र का महत्वपूर्ण स्तंभ है तथा हमारे देश ने खुशवंत, कुलदीप नैयर एवं अरूण शौरी जैसे महान पत्रकार दिये हैं। उन्होंने कहा कि कई पत्रकारिता के संस्थान हैं जो पत्रकारिता के मूल्यों से समझोता किये बगैर साहस तथा ईमानदारी के साथ समाचार लिख रहे हैं।
बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन विभाग में इंटरप्रन्योरशिप सेंटर का उद्घाटन करते हुए डा. फ्रेंक इस्लाम ने कहा कि यह सेंटर नये विचारों एवं कल्पनाओं के विकास तथा नये उद्यमियों एवं इंटरप्रन्योर का प्रशिक्षण करके भारत ही नहीं बल्कि विश्व भर में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। उन्होंने कहा कि इंटरप्रन्योर लीडरों के लिये अवसर पहले से कहीं ज्यादा हैं। भारत में नये कारोबार तथा स्टार्टअप अमरीके के मुकाबले दो गुने हैं तथा स्टार्टअप इंडिया, मेकिंग इंडिया तथा स्किल इंडिया जैसे कार्य नये कारोबार को प्रारंभ करने तथा विकसित करने में सहायक है।

सहकार भारती के उमेशपाल मंडल बने सह संयोजक, और बृजमोहन जिलाध्यक्ष

डा. फ्रेंक इस्लाम ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत एक बड़ी शक्ति बन रहा है इसलिये स्वास्थ्य की देखभाल, शिक्षा, जलवायु की सुरक्षा एवं आर्थिक विकास की प्राथमिक प्रासंगिकता है जो हमसे नये नजरियों एवं कल्पनाओं की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह कुछ कर गुजरने का समय है और नये इंटरप्रन्योर लीडर भविष्य के लिये बहुत महत्वूर्ण हैं। मुझे विश्वास है कि यह इंक्यूबेशन सेंटर अमुवि के छात्र व छात्राओं के लिये सर सैयद के विजन को आगे ले जाने में सहायक सिद्व होगा। इस अवसर पर अमुवि कुलपति प्रो. तारिक मंसूर ने कहा कि इंक्यूबेशन सेंटर वास्तव में इस लिये होता है कि जब आप निर्बल पड़े तो आपको सुरक्षा प्रदान हो तथा यहीं पर छात्रों की नई कल्पनाओं को विकसित करने का वातावरण उपलब्ध होगा ताकि वह मजबूत उद्यमी बन सकें। उन्होंने बल देते हुए कहा कि वह एक टीम के रूप में कार्य करना सीखें तथा होसले से काम लें। नये बिजनेस प्लान को लागू करने के लिये खतरा उठाना महत्वपूर्ण है और जो प्रतिष्ठित कारगुजारी का प्रदर्शन करेंगे वहीं शेष रहेंगे।

अमेरिका से पधारे अमुवि के ही पूर्व छात्र श्री सैयद अली रिज़वी ने कहा कि अमुवि शिक्षा का महान केन्द्र है तथा यहां के दरो दीवार एवं हाल हमसे बातें करते हैं तथा विश्व भर में फैले अमुवि के पूर्व छात्र वर्तमान छात्रों को अपने ज्ञान तथा कला से लाभांवित करने क लिये हर समय तात्पर्य हैं। इससे पूर्व मास कम्यूनिकेशन विभाग के अध्यक्ष प्रो. शाफे किदवई तथा मैनेजमेंट संकाय के अधिष्ठाता प्रो. वलीद ए अंसारी ने स्वात भाषण प्रस्तुत किये। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन विभाग के अध्यक्ष प्रो. परवेज तालिब ने कहा कि इंटरप्रन्योरशिप केन्द्र का उद्देश्य डा. फ्रेंक इस्लाम जैसे और अधिक उद्यमी उत्पन्न पैदा करना है।

अमुवि के कुलसचिव श्री अब्दुल हमीद आईपीएस तथा श्री अब्दुल्लाह तरीन ने क्रमशः मास कम्यूनिकेशन विभाग तथा बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन विभाग में उपस्थितजनों के प्रति आभार व्यक्त किया। मास कम्यूनिकेशन विभाग में डा. हुमा परवीन तथा बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन विभाग में हम्दा सिद्दीकी ने संचालन किया। इस अवसर पर अमुवि के सहकुलपति प्रो. अख्तर हसीब, डा. फ्रेंक इस्लम की धर्मपत्नी डेबी जे ड्रेसमैन तथा अमुवि के नामचीन पूर्व छात्र डा. ए अब्दुल्लाह एवं अन्य प्रतिष्ठित अतिथि मौजूद थे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com