पूर्व मंत्री की बहिन की हनक के आगे ADA की निकली हेकड़ी, दो साल में भी नहीं तोड़ पाए अवैध निर्माण

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़: सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही माफियाओं और अवैध निर्माण करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने की बात करते हो, लेकिन हकीकत उससे उलट है. छोटा सा आशियाना बिना नक़्शे के बना रहे किसी गरीब को नियम कानून का डंडा चलाने वाले अलीगढ विकास प्राधिकरण के अधिकारियो की नेता नगरी के आगे दुम हिलती है. मामला अलीगढ शहर के धोर्रा क्वार्सी बाईपास स्थित ग्रीन बेल्ट में अवैध रूप से बने डॉ वक़ार हार्ट सेंटर का है. डॉ वक़ार हार्ट सेंटर नाम के हॉस्पिटल को समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री बकार अहमद की बेटी डॉ अलवीरा शाह चलाती है. डॉ अलवीरा शाह के भाई यासिर शाह भी सपा सरकार में मंत्री रहे है. अब मंत्री जी की बहिन ने अस्पताल की ईमारत बनायीं है तो फिर नियम कानून की बात करे अलीगढ विकास प्राधिकरण में हिम्मत कहाँ. लेकिन एडीए को कार्रवाई करनी पड़ गयी जब इस अवैध निर्माण की शिकायत प्राधिकरण तक लिखित में पहुंच गयी. कार्रवाई के नाम पर तमाम आदेश हुए, अवैध निर्माण को तोड़ने के नोटिस भी जारी हुए लेकिन नतीजा ठाक के तीन पात, २६ सितम्बर २०१७ को अलीगढ विकास प्राधिकरण ने धारा- २७(१) के तहत जो आदेश दिया वह फाइलों में दफ़न होकर रह गया. शिकायतकर्ता में कई बार आदेश के अनुपालन की गुहार लगायी लेकिन उसके बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई है |

ग्रीन बेल्ट में बने डॉ वक़ार हार्ट सेंटर पर एक्शन लेने में क्यों डर रहे है एडीए अधिकारी

गरीब के घर पर एक शिकायत में ही बुलडोजर चलाने के लिए तैयार रहने वाला अलीगढ विकास प्राधिकरण भाजपा की योगी सरकार में ग्रीन बेल्ट में बने इस अवैध निर्माण पर सपा के पूर्व मंत्री यासिर शाह के प्रभाव के चलते कार्यवाही का साहस नहीं जुटा पा रहा है. दरअसल हॉस्पिटल की संचालक सपा के पूर्व मंत्री यासिर शाह की डॉ अलवीरा शाह बहन है. इसलिए राजनैतिक रसूख का आलम यह है कि ग्रीनबेल्ट खाली करने के लिए लड़ रहे सामाजिक कार्यकर्ता जियाउर्रहमान पर भी एफआईआर दर्ज करा दी गयी है. हालांकि मामले पर अलीगढ विकास प्राधिकरण के Executive इंजीनियर D.S भदौरिया से फोन पर बातचीत की तो उनकी जुबान बंद हो गयी. बोले की वह आधिकारिक बयान देने के लिए सक्षम नहीं है. यहाँ साफ़ कर दे कि वह बात अलग है कि विकास प्राधिकरण में उपाध्यक्ष Manmohan Chaudhary के आने से पहले सर्वेसर्वा थे.

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com