ग्रामीणों का बड़ा आरोप,’प्रधान की करतूतों से गांव में है अशांति का माहौल’! हो चुका है खूनी संघर्ष

रंजीत, अलीगढ मीडिया न्यूज़,हरदुआगंज: सपेरा भानपुर ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान देवेन्द्र सिंह की कार्यप्रणाली गांव तनाव व्याप्त है ग्रामीणों का आरोप है कि ग्राम प्रधान दबंग तरीके से लोगो भय व्याप्त कर अवैध बसूली करता है और 100 वर्षों से रह रही पुरानी आबादी को बेघर करने की धमकी देता है उनसे कार्यवाही के नाम अवैध उघाई भी करता है जिससे परेशान होकर ग्रामीणों आक्रोश पैदा हो गया है भविष्य में अनहोनी को देखते हुए ग्रामीणों ने प्रशासन से ग्राम प्रधान के आतंक से बचने के लिए गुहार लगाई है.
सपेरा भानपुर के ग्रामीणों ने पत्र लिखकर ग्राम प्रधान देवेन्द्र सिंह काली करतूतों। के बारे में ए डी एम प्रशासन को अवगत कराया और बताया कि उक्त व्यक्ति ने गांव में तनाव का महौल पैदा कर रखा है देवेन्द्र सिंह अपने पिता छिद्दा सिंह के आचरणों पर चल रहा है छिद्दा सिंह। ने भी गांव में तानाशाही की जिसका विरोध गांव के जागरूक लोगो ने किया तो सन 1983 पानी की समस्या को लेकर छिद्दा सिंह ने रानी सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। जिसके बचाव में आए रमेश को भी गोली मारकर हत्या कर थी हत्या की सूचना पर परिजनों के आने के उपरांत जन नरसंहार हुआ और उक्त घटना में पांच लोगों की मौत हुई .पांच लोगों की मौत से पूरे गांवो में मातम छा गया था जो आज तक भी लोग उस घटना को नहीं भुला सके है ग्राम प्रधान ने भी अपने पिता की तरह तानाशाही कर गांवो का माहौल तनाव पैदा कर रखा है. गत वर्ष चंद्रपाल का फर्जी गोदनामा व चन्द्र पाल की संदिगधावस्था में मौत को लेकर प्रधान सुर्खियों में रहा. गत वर्ष चन्द्र पाल अपने खेत उठाने के लिए अपनी बहिन चंद्रवती पत्नी जयपाल गभाना के यहां से सपेरा भानपुर आया.जिससे दिनांक 30/05/2018 को ग्राम प्रधान ने अपने हितेषी वीरपाल पुत्र गरीबदास के पुत्र के नाम गोदना करा लिया था और चन्द्र पाल रात्रि को खाना खार सोया लेकिन अगली सुबह जगा नहीं जिसका दाहसंस्कार परिजनों को बिना बताये ही करा दिया पड़ोसियों की सूचना पर बहिन चंद्रवती ने इसका विरोध किया और अपने भाई की हत्या की आशंका जताई पुलिस का भी सहारा लिया लेकिन पुलिस की मदद न मिलने के कारण कोर्ट का सहारा लिया कोर्ट के आदेश पर ग्राम प्रधान सहित पांच लोगों पर जालसाजी धोखाध़ी व हत्या जैसे संगीन अपराधों में मुकद्दमा दर्ज हुआ जिससे बौखलाए प्रधान ने अशांति का माहौल पैदा किया.
…ग्राम पंचायत की करोड़ों की संपत्ति पर कब्ज़ाधारी है प्रधान
प्रधान देवेन्द्र सिंह व उसके भाई गजेन्द्र सिंह जितेंद्र सिंह ने ग्राम पंचायत की 26 बीघा करोड़ों की संपत्ति पर अनाधिकार कब्जा भी कर रखा है जिसपर संतोष कुमार यादव पूर्व जिलाधिकारी ने पाया कि उक्त जमीन पर देवेन्द्र सिंह सहित उसके भाइयों ने जालसाजी कर अपने नाम दर्ज करा लिया। है जिस पर धोखा धड़ी व जालसाजी की कार्यवाही कर उक्त खेत में खड़ी धान की फसल को जुतबाकर कब्जा मुक्ति कराया था लेकिन हाई कोर्ट के स्टे आर्डर के बहाने आज भी उक्त जमीन पर अनेतिक तरीके से कब्जा कर रखा है
…विधायक ठाकुर दलवीर सिंह कर चुके है पहल
ग्रामीणों में चुनाव के दौरान नोटा कर चुनाव वहिष्कार का एलान किया था तब गांवों जाकर विधायक ने ग्रामीणों की समस्या सुनी व् ग्रामीणों ने बताया कि गांवो में जब भी कोई अपने पूर्वजो के मकान की मरम्मत आदि करता है तो ग्राम प्रधान राजस्व के अधिकारी से मिल अवैध बसूली करता है न देने पर जमीन से वेदखल की धमकी देता है जिससे ग्रामीणों में तनाव का माहौल है
ग्रामीणों की समस्या को विधायक ने मंडलायुक्त के समक्ष रखी व टीम गठित कर ग्राम सभा की जमीन को आवादी में दर्ज कराने की मांग की जिसपर मामला गंभीर होने के कारण मंडलायुक्त ने टीम गठित कर आख्या मांगी है.

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक, ट्यूटर के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *