अधिकारी अपने पटल सहायकों पर रखें कड़ी नजर: DM

अलीगढ मीडिया ब्यूरो, अलीगढ: कलैक्ट्रेट सभागार में बेसिक एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि सरकारी शिक्षा के प्रति जो आम लोगों की धारणा है उसको बदलने का कार्य शुरू कर दिया जाए तथा शिक्षण पद्धति में गुणोत्तर सुधार लाकर इस छवि को ठीक किया जाए। उन्होंने कहा कि हमारे विद्यालयों में उच्च शिक्षा प्राप्त प्रशिक्षित अध्यापक हैं जो प्राइवेट सेक्टर में नहीं हैं। अधिकारी नियमित रूप से विद्यालयों का भ्रमण कर अध्यापकों की उपस्थिति सुनिश्चित करते हुए पठन-पाठन कार्य पर भी पैनी नजर रखें।

श्री सिंह ने कहा कि अधिकारी एवं कर्मचारी सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य करें। किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि मेरी जन सुनवाई में शिकायतें प्राप्त हुईं हैं कि जीपीएफ एकाउंट नं0 देने के लिए पैसे की मांग की जा रही है इसके अतिरिक्त मैटरनिटी, चाइल्ड केअर एवं अर्जित अवकाश स्वीकृत करने के लिए भी पैसे मांगे जा रहे हैं यह स्थिति खेदजनक है। उन्होंने कहा कि अध्यापकों के मनचाहे जगह पर ट्रांसफर करने के साथ ही सामान्य रूप से स्थानान्तरण करने के पश्चात उसे निरस्त कराने के लिए भी पैसों की मांग की जा रही है। उन्होंने कहा कि अब यह खेल नहीं चलेगा अधिकारी एवं कर्मचारी सचेत हो जाएं नहीं तो दण्ड भुगतने को तैयार रहें। माध्यमिक शिक्षा विभाग के सहायक पटल राजेश कुमार द्वारा जीपीएफ एकाउंट नं0 देने के लिए धनराशि मांगने पर जिलाधिकारी ने उन्हें कलैक्ट्रेट के शिकायत प्रकोष्ठ में सम्बद्ध करने के निर्देश देते हुए कहा कि भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी। सभी अधिकारी पटल सहायकों पर कड़ी नजर रखते हुए पटल की समीक्षा करें तथा कार्यालय में लम्बित एसीपी, पदोन्नति, पेंशन आदि के प्रकरण को समय से निस्तारित कराएं।

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *