मैला ढ़ोने की प्रथा को किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाए: जिलाधिकारी

अलीगढ मीडिया ब्यूरो,अलीगढ: मैला ढ़ोने की प्रथा (मेनुअल स्कैवेंजर्स) समाज से समाप्त हो चुकी है, यदि किसी भी व्यक्ति के यहां ड्राई टॉयलेट पाए जाएंगे तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने तहसील खैर में मैला ढ़ोने की प्रथा में कार्यरत कुछ व्यक्तियों की शिकायत पर उन्होंने उप जिलाधिकारी खैर को निर्देश दिये कि वह पूरी तहसील में विस्तृत रूप से जांच करा लें और व्यक्ति मेनुअल स्कैवेंजर्स कार्य में पाया जाता है तो उसका तुरन्त पुनर्वास किया जाए।

यह निर्देश जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह ने कलैक्ट्रेट सभागार में मेनुअल स्कैवेंजर्स के सम्बन्ध में आयोजित बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि शहर में नगर पालिका एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सभी उपजिलाधिकारियों के माध्यम से सर्वे कराया जाए कि कोई ड्राई शौचालय तो नहीं है। यदि ऐसा कोई पाया जाता है तो उसे तोड़कर तुरन्त नष्ट कर दिया जाए। उन्होंने मैला ढ़ोने वाले व्यक्तियों को नगर निगम एवं नगर पालिका में संविदा के रूप में नियुक्त करने के भी दिये। उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्तियों को चिन्हित कर लिया जाए और उनके तुरन्त राशन कार्ड बनाए जाएं एवं काशीराम योजना के अन्तर्गत उन्हे माकान देने की कार्यवाही भी की जाए।

जिलाधिकारी ने समाज कल्याण अधिकारी नागेन्द्र पाल सिंह को निर्देश दिये कि ऐसे व्यक्तियों को स्वतः रोजगार योजना के अन्तर्गत आवेदन कराकर यथाशीघ्र इन्हें स्वरोजगार के लिए लोन दिया जाए। उन्होंने नगर आयुक्त को निर्देश दिए कि वह भी एक टीम गठित कर शहर का भी निरीक्षण अपने स्तर से करा लें जिससे इस बात का पता चल सके कि नगर में कोई ड्राई टॉयलेट तो कार्यरत तो नहीं है, यदि ऐसा कहीं पाया जाए तो टीम द्वारा उसे तुरन्त तोड़ दिया जाए।

तत्पश्चात जिलाधिकारी द्वारा पं0 दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत दिए गये लोन वितरण की जानकारी प्राप्त की गयी जिसमें अवगत कराया गया कि ग्रामीण बैंक ऑफ आर्यावर्त के निर्धारित लक्ष्य 754 के सापेक्ष 334 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए है जिसमें 110 को स्वीकृत कर दिया गया है। इसी प्रकार भारतीय स्टेट बैंक द्वारा निर्धारित लक्ष्य 154, पंजाब नेशनल के 143, सेन्ट्रल बैंक के 170, केनरा बैंक 264, ओबीसी के 55, बैंक ऑफ बड़ौदा के 34, सिंडीकेट बैंक के 34, इलाहाबाद बैंक के 37, एलडीबी के 20, यूनियन बैंक के 125, यूको बैंक के 50, बैंक ऑफ इण्डिया के 31, देना बैंक के 10, पंजाब एण्ड सिंध बैंक के 20, आईओबी के 20, आन्ध्रा बैंक के 10 एवं इण्डियन बैंक के 5 लक्ष्य के सापेक्ष 674 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए हैं जिसमें 158 प्रार्थना पत्रों को स्वीकृत कर दिया गया है।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त/राजस्व उदय सिंह, प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव, जिला पूर्ति अधिकारी, स्वास्थ्य विभाग, पीओ डूडा आदि सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक, ट्यूटर के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *