महिलाओं द्वारा बनाए गये उत्पादों का बाजार में बिकना भी अति आवश्यक:सीडीओ

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ़: मण्डलायुक्त अजय दीप सिंह ने आज विकास भवन परिसर में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के द्वारा निर्मित दीपावली में उपयोग होने वाली वस्तुओं के प्रदर्शनी मेला का फीता काटकर एवं दीप प्रज्ज्वलन कर उद्घाटन करने के पश्चात प्रांगण में महिला समूहों द्वारा लगाये गये स्टॉलों का भ्रमण किया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण महिलाओं द्वारा घर से बाहर जाकर अन्य महिलाओं के साथ समूह बनाकर जो छोटे-छोटे उत्पाद बनाए जाते हैं उससे उनको आर्थिक लाभ होता है साथ ही महिलाओं का ज्ञान बढ़ाने में भी यह एक सहायक तत्व के रूप में कार्य करता है। उन्होंने महिला समूहों की महत्वा को दो स्लोगन- ’’समूह से समृद्धि की ओर’’ एवं ’’पैरों पर अपने सच हांगे सपने’’ के माध्यम से समझाते हुए कहा कि कि केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए चलाई जा रही योजनाओं से महिलाएं समृद्धशाली होकर देश की मुख्यधारा के साथ जुड़ रही हैं। उन्होंने कहा कि मातृशक्ति का महत्व समाज में पूर्व से ही चला आ रहा है, अर्थ व्यवस्था के मामले में महिलाआेंं द्वारा परिवार को उठाने के लिए अनेक कार्य किए जाते थे जहां एक ओर शहरी महिलाएं नौकरी करके घर की आर्थिक स्थिति में अपना योगदान देती हैं वहीं ग्रामीण महिलाएं पशुपालन, दरदोजी, अचार, बुटीक आदि कार्य करके परिवार की समृद्धि में अपना सहयोग प्रदान करती हैं।

श्री सिंह ने मुख्य विकास अधिकारी अनुनय झा को निर्देश देतु हुए कहा कि महिला सशक्तिकरण योजना में अपना पूरा सहयोग देकर अधिकाधिक संख्या में ग्रामीण एवं शहरी महिलाओं को लाभान्वित करें। उन्होंने कहा कि महिलाओं द्वारा बनाए गये उत्पादों का बाजार में बिकना भी अति आवश्यक है इसके लिए जनपद स्तर पर एक स्थान सुनिश्चित करें ताकि हमेशा इन वस्तुओं का बिक्रय किया जा सके। उन्होंने कहा कि महिला समूहों द्वारा तैयार प्रोडक्ट को बाजार स्तर पर उपलब्ध कराने हेतु एनजीओ से समन्वय किया जाए। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियां को निर्देश देते हुए कहा कि महिला समूहों को कार्यो के अनुरूप प्रशिक्षण एवं उनके उत्पादों की मार्केटिंग की भी व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि त्योहारों का मुख्य उद््देश्य लोगों के सम्बन्धों को जोड़ने का है। दीपावली के पूर्व आज जिस प्रकार का आयोजन हुआ है ऐसे आयोजन भविष्य में भी किये जाएं। उन्होंने जय गणेश समूह की महिलाओं द्वारा प्रस्तुत स्वागत गीत , गुलाब हबीब पेन्टर द्वारा प्रस्तुत कब्बाली, रंगोली आदि की प्रशंसा की। इस अवसर पर उन्होंने आर0एफ0, सी0आई0एस0एफ0, वी0आर0एफ0, सी0सी0एल0 एवं स्टार्ट अप फण्ड के तहत महिला समूहों को 01,35,95,250 रूपये के वितरित किये।

मुख्य विकास अधिकारी अनुनय झा ने बताया कि जनपद में 320 महिला स्वयं सहायता समूह कार्यरत हैं। समूह के माध्यम से व्यक्ति का स्वास्थ्य, शिक्षा एवं स्वास्थ्य के साथ-साथ आर्थिक विकास भी होता है। उन्होंने कहा कि जब देश की महिला अपने पैरों पर खड़ी होगी तो निश्चित ही भारत विश्व के विकसित देशों से भी आगे निकल जाएगा.
प्रदर्शनी में विभिन्न महिला समूहों- नारी प्रतिष्ठा, ज्योति आजीविका ग्राम संगठन, राघव महिला स्वयं सहायता समूह, असेम्बल एवं डिस्ट्रीब्यूटर सेन्टर, दुर्गा महिला समूह, सर्वधर्म स्वयं सहायता, राधा कृष्णा महिला समूह, श्री गणेश समूह, लक्ष्मी समूह, रोशनी, बालाजी, पूजा, भीम, परी प्रतिष्ठा, ज्वाला आदि महिला समूहो के अतिरिक्त खादी व ग्रामोद्योग द्वारा कुर्ते-पजामे, शर्ट, हाथ के पंखे, थैला, कढ़े हुए दीपक, कंगन, कानों के कुडल, छोटे-बड़े बैग, मिट््टी के बर्तन, विशेष रूप से सजे दीपक, स्कूल ड्रेस, दरी, के साथ अनेक उत्पादों को प्रस्तुत किया गया।
इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी मथुरा प्रसाद मिश्र, एडीएम प्रशासन कृष्ण लाल तिवारी, एडीएम वित्त विधान जायसवाल, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट पूर्ण बोरा, एसडीएम कोल रंजीत सिंह, उपायुक्त स्वतः रोजगार जनार्दन प्रसाद यादव के साथ विकास भवन के अन्य अधिकारी, कर्मचारी, समूहों की महिलाएं एवं आमजन उपस्थित रहे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज , ट्यूटर & WhatsAap Gruopके जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com