AMU कुलपति को नहीं RSS, युवा वाहिनी और सांप्रदायिक शक्तियों के आकाओं को लिखें, SSP चिठ्ठी: हाजी ज़मीरुल्लाह

अलीगढ मीडिया ब्यूरो, अलीगढ: सोमवार को एक मीटिंग को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक हाजी ज़मीरुल्लाह खां ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी कुलपति से कहा कि हर हिंदुस्तानी की नजर आपके ऊपर है कि आप अब अमुवि के निजाम को कैसे चलाते हैं? इसलिए मेरा कहना है कि आप अमुवि को उसकी पुरानी परंपराओं के अनुसार चलाएं सांप्रदायिक शक्तियां अमुवि में शिक्षा के माहौल को खराब करना चाहती है उनकी चालों में ना आकर पढ़ाई लिखाई के माहौल को पुनः बहाल करें अमुवि देश में सेकुलरिजम पर विश्वास करने वालों की धरोहर है और उस धरोहर को बचाने का दायित्व कुलपति का है तथा उन्होंने कहा कि कुछ अधिकारी भाजपा कार्यकर्ताओं के रूप में कार्य कर रहे हैं ऐसे अधिकारियों के लिए मेरा कहना है कि वह अपनी सेवा त्याग कर भाजपा ज्वाइन कर लें तो ज्यादा अच्छा रहेगा हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के बयान पर पूर्व विधायक में कटाक्ष करते हुए कहा की अूमुवि का नाम राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर रखा जाए क्योंकि उन्होंने अमुवि को भूमि दान की है तो अगर दानदाताओं के नाम पर ही संस्थाओं और स्थानों के नाम बदलने लगे तो विश्व के इतिहास में सबसे अधिक धनराशि निजाम हैदराबाद ने उस समय दी थी जब देश आर्थिक तंगी से जूझ रहा था, तो उनके नाम क्या क्या करेंगे? अमुवि छात्रों से अपील की कि सांप्रदायिक शक्तियों अमुवि को कमजोर और बदनाम करना चाहती है आपको उनके इरादों को नाकाम करना है और आपके परिवार ने आपको जिस कार्य शिक्षा प्राप्त के लिए अलीगढ़ भेजा है आप शिक्षा ग्रहण कर सांप्रदायिक शक्तियों को विफल करें और अपने माता पिता के सपनों को साकार करें, उन्होने प्रशासनिक अधिकारियों से भी कहा की आपको जिस संविधान की शपथ ली है उसके अनुरूप बगैर किसी सत्ता पक्ष के दबाव के कार्य करें क्योंकि सत्ता तो आनी जानी है l
पूर्व विधायक हाजी जमीर उल्लाह खान ने एसएसपी की चिट्ठी पर कहा कि कप्तान साहब को चिट्ठियां अमुवि कुलपति को नहीं, आर एस एस, युवा वाहिनी और सांप्रदायिक शक्तियों के आकाओं को लिखनी चाहिए. यह शक्तियां अमुवि को क्यों नहीं चलाने दे रहे हैं क्योंकि अमुवि का माहौल इन्हीं शक्तियों के अंतर्गत बयानबाजी के कारण खराब हो रहा है. उन्होंने कप्तान साहब से कहा कि जो अलीगढ़ वासियों ने अमुवि छात्रों को भोजन में जो बिरयानी भेजी है उसकी जांच होगी तो उनकी होनी भी जाँच होनी चाहिए जिन व्यक्तियों ने अमुवि में आकर उत्पात मचाया. पुलिस ने भी बेकसूर छात्रों पर ही लाठीचार्ज किया और बर्बरता दिखाई. पूर्व विधायक ने कहा कि जांच उनकी होनी चाहिए जो ऊपर कोर्ट में माहौल खराब करने के लिए भगवा कलर के गमछे डालकर मोटरसाइकिल पर सांप्रदायिक माहौल को बिगाड़ने की नियत से निकले. जिसकी लिखित में तहरीर दी गई थी अभी तक FIR नहीं हुई और ना ही प्रशासन में कोई खास काम किया बल्कि प्रशासन ने उल्टे उनके ही खिलाफ FIR लिख डाली. जबकि उन्होंने कोई भी भड़काऊ भाषण या किसी भी तरह का गलत मैसेज देने वाला भाषण नहीं था.

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक, ट्यूटर के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *