युवाओं में किसी भी परिपेक्ष में ढलने की काबिलियत: प्रो. अमन

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़: कोरोना के प्रभाव के चलते रोजगार के अवसरों पर संकट गहराने लगा है। विभिन्न क्षेत्रों में किस प्रकार नौकरी पाई जाए ये संशय भी युवाओं के मन में है। इस समस्या को ध्यान में रखते हुए मंगलायतन विश्वविद्यालय ने वेबिनार श्रंख्ला की शुरुआत की थी। इसी क्रम में दूसरा वेब-सेमिनार ” मैनेजमेंट एन्ड कॉमर्स में कोविड-19 के बाद नौकरी के अवसर” विषय पर आयोजित हुआ।मुख्य वक्ता इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ फाइनेंस के डायरेक्टर प्रो. अमन अग्रवाल ने वेबिनार में कहा कि इस परिस्थिति में भी किसी को कहीं पर भी जॉब मिल सकती है। उन्होंने कहा कि समय के साथ व्यापार बदल रहा है, बदलते व्यापार के अनुसार खुद को बदलने की जरूरत है। भारत देश में बहुत ज्यादा युवा है और अपने को जल्द ही किसी भी परिपेक्ष में ढाल ने की काबिलियत रखता है। उन्होंने कहा कि सरकार ने बहुत सारे अवसर प्रदान किए हैं।

मंविवि के मानविकी संकाय के डीन प्रो. जयंतीलाल जैन ने कहा कि डिजिटल क्षेत्र में काफी ज्यादा जॉब है। अगर हम अपने आप को डिजिटल करेंगे तो नौकरी की कमी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि इस समय में सभी को शांत रहकर अपनी स्किल को बढ़ाने की जरूरत है।

जी.एल. बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च, ग्रेटर नोएडा के प्रो. रिपुदमन गौर ने एम्प्लॉयबिलिटी और एम्प्लॉयमेंट की बात की। उन्होंने कहा कि हेल्थ केयर सेक्टर, डिजिटल टेक्नोलॉजी आदि में प्रौद्योगिकी आधारित नौकरियां बढ़नी है। साथ ही छात्रों को पढ़ाई के अतिरिक्त अपनी स्किल्स बढ़ाने की आवश्यकता है। मैनेजिंग पार्टनर एन्ड हेड मीडिया टेक्नोलॉजीज डीडीबी मुद्रा राममोहन सुंदरम ने बताया कि पहले जो 100 ग्लोबल कंपनी थी, वह आज की तारीख में नहीं है। हमें ऑप्टिमिस्टिक रहने की जरूरत है। इस दौर में स्किल बढ़ाने की खास आवश्यकता है।

चैकिंग के दौरान पुलिस मुठभेड मे तीन शातिर अभियुक्त गिरफ्तार

संयोजक डॉ. राजीव शर्मा ने कहा कि कुलपति प्रो. केवीएसएम कृष्णा की प्रेणना से हम ये वेबिनार आयोजित कर रहे हैं। उन्होंने बताया हमें संकट को अवसर में बदलना है। उन्होंने कहा कि हम डिजिटल माध्यमों से विद्यार्थियों को आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस, डिजिटल टेक्नोलॉजी से सम्बंधित ज्यादा से ज्यादा जानकरी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि हम उद्यमकर्त्ता के रूप में विद्यार्थियों को आगे बढ़ाएं। सह-संयोजक डॉ. अनुराग शाक्य ने कहा कि विद्यार्थियों को बताया जा रहा है कि इस संकट में स्किल्स को बढ़ाना महत्वपूर्ण है। संचालन प्रो-वाईस चांसलर डॉ. आशीष मनोहर ने किया। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि युवाओं को डेवेलोप करें ताकि वह सरकार के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प में सहयोग कर सकें। आयोजन में डॉ. सिद्धार्थ जैन, डॉ. सौरभ कुमार, डॉ. अंकुर अग्रवाल, अंकिता शुक्ला, दीक्षा यादव, रोहित शाक्य का सहयोग रहा।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com