कोरोना वीरों के कर्म का अमर उजाला ने किया सम्मान, डीएम & सीडीओ रहे मौजूद

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़: अलीगढ़ गिरकर उठना-उठकर चलना, यह क्रम है संसार का, कर्मवीर को फर्क न पड़ता किसी की जीत या हार का। इसी भावना के साथ कोरोना संक्रमण काल में जिन वीरों ने समाज हित में कर्म किया। ऐसे कोरोना कर्मवीरों का शनिवार को अमर उजाला ने होटल आभा रीजेंसी में सम्मान किया। यह कार्यक्रम अमर उजाला और माहेश्वरी नर्सिंग एंड पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट ने सारेक्स बैटरी के साथ आयोजित किया था। मुख्य अतिथि के रूप में आए जिलाधिकारी श्री चंद्रभूषण सिंह ने कर्मवीरों का सम्मान करते हुए बोले कि कर्मवीरों से काफी सीख मिली है। इन्हीं की प्रेरणा से हमने टीम बनाकर कार्य किया। अमर उजाला द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम सराहनीय है।

अतरौली#जन कल्याणकारी शिविर का एसडीएम अतरौली ने किया निरीक्षण

इससे पहले कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह,विशिष्ट अतिथि एडीएम सिटी राकेश कुमार मालपाणी, मुख्य विकास अधिकारी अनुनय झा व सीएमओ भानू प्रताप सिंह कल्याणी ने दीप जलाकर किया। यहां विशिष्ठ अतिथि के तौर पर आरपीएफ के सहायक सुरक्षा आयुक्त धीरेंद्र कुमार व एसवी क्राइम डॉ. अरविंद कुमार ने भी प्रतिभागिता की। जिलाधिकारी ने कर्मवीरों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि वास्तव में इन्हीं लोगों ने कोरोना संक्रमण से लडऩे में मुख्य भूमिका अदा की है। प्रशासन ने जहां सामजस्य बैठाते हुए अपना कार्य किया। वहीं समाजसेवियों, सामाजिक संगठनों व अन्य लोगों ने प्रशासन का सहयोग किया। यही कारण रहा कि हम अदृश्य कोरोना से लड़ पाए हैं। एडीएम सिटी राकेश कुमार मालपाणी ने कहा कि जिलाधिकारी के नेतृत्व में अच्छा कार्य किया गया। लेकिन यह बात भी सत्य है कि कोरोना कर्मवीरों ने भी अतुलनीय योगदान दिया। सीएमओ भानू प्रताप सिंह कल्याणी ने कहा कि कोरोना का असर कम हुआ है, लेकिन कोरोना खत्म नहीं हुआ है। इसीलिए शभी लोग अभी भी सावधानी बरतें। क्योंकि अगर कोरोना दोबारा आया तो अपना और भी घातक रूप लेकर आएगा। वैक्सीनेशन पूरा होने तक ढिलाई बरतने की जरूरत नहीं है। एसवी क्राइम डॉ. अरविंद कुमार ने कोरोना संक्रमण काल के संस्मरण सुनाते हुए सभी को खूब हंसाया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग थे, जो स्वयं संभल गए। जो लापरवाही कर रहे थे। उन्हें हमने समझाया। उन्होंने कहा कि कोरोना बहुत खतरनाक है। इसे हमने भुगता है। अभी भी मास्क पहनें और सामाजिक दूरी रखें। यहां सभी अधिकारियों ने अमर उजाला द्वारा आयोजित कोरोना कर्मवीर सम्मान समारोह की सराहना की।

अलीगढ़ महोत्सव नुमाइश के मुक्ताकाश मंच पर हुआ उपभोक्ता जागरूकता सेमिनार

…यह था कर्मवीरों का सहयोग, जिसके दम पर कोरोना संक्रमण से लड़ा अलीगढ़

स्मृति गौतम, कोरोना कंट्रोल रूम प्रभारी : स्मृति गौतम की टीम ने कोरोना संक्रमण के दौरान सभी शिकायतों की सुनवाई की। उसका निस्तारण भी कराया। यही नहीं, राशन वितरण से लेकर शासन से समन्वय स्थापित किया। आज भी इनकी टीम कार्य कर रही है।

रंजीत सिंह, एसीएम द्वितीय : रंजीत सिंह ने कोरोना संक्रमण काल में कोविड अस्पताल (दीनदयाल संयुक्त चिकित्सालय) में संसाधनों को उपलब्ध कराने और मरीजों की समस्या निस्तारित करने में दिन रात जुटे रहे। कानून व्यवस्था संभालने के लिए क्षेत्र में भी भ्रमणशील रहे।

राजेश कुमार सोनी, जिला पूर्ति अधिकारी : कोरोना संक्रमण काल में लगभग छह लाख परिवारों तक भोजन, राशन आदि पहुंचाने में मुख्य योगदान दिया। इनमें से कई परिवार तो ऐसे थे, जिनके यहां भोजन के लिए राशन नहीं था। इन्हें वरीयता देकर सुबह शाम भोजन उपलब्ध कराया।

संजीव ओझा, विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी : संजीव ओझा कोरोना संक्रमण काल में एसडीएम कोल के पद पर थे। इन्होंने कोटा से आने वाले विद्यार्थियों के साथ मजदूरों को ठहराने, सुख सुविधाएं देने का कार्य किया। जरूरत पडऩे पर लोगों को घर भी भेजा। इस दौरान यह भी कोरोना संक्रमित पाए गए थे।

डॉ. अरविंद कुमार, एसपी क्राइम : डॉ. अरविंद कुमार ने संक्रमण काल में कानून व्यवस्था संभालने में मुख्य योगदान दिया। लोगों से लॉकडाउन का पालन कराया। कोरोना संक्रमित मरीजों की कांट्रेक्ट ट्रेसिंग में भी भूमिका अदा की।

रविंद्र सिंह, इंस्पेक्टर कोतलावी : ऊपरकोट कोतवाली इलाके में जमातियों की तलाश के दौरान मुख्य भूमिका अदा की। वहीं अराजक तत्वों पर शिकंजा कसा और समाज के वरिष्ठ लोगों को साथ में लेकर घर घर राशन भी वितरित कराया।

धीरेंद्र मोहन शर्मा, इंस्पेक्टर बन्नादेवी : धीरेंद्र मोहन शर्मा कोरोना काल की शुरुआत में थाना देहलीगेट में कार्यरत थे। यहां इन्होंने सुबह शाम गश्त कर लोगों को घर के अंदर रहने के लिए प्रेरित किया। इसके साथ ही जरूरतमंदों की सूचना पर समाजसेवियों के साथ घरों में राशन पहुंचाया।

रविंद्र दुबे, इंस्पेक्टर सिविल लाइन : रविंद्र दुबे कोरोना संक्रमण की शुरुआत में बन्नादेवी थाने में थे। इन्होंने बन्नादेवी क्षेत्र में शांति बनाए रखने के लिए समाज के वरिष्ठ लोगों का सहयोग लिया। लॉकडाउन में अवैध शराब तस्करी पर लगाम भी लगाई।

चमन सिंह तोमर, पोस्ट कमांडर आरपीएफ : श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में मजदूरों और विभिन्न यात्रियों को नियमों के साथ ट्रेनों में बैठवाया। कोरोना से बचाव के नियमों का पालन करने के लिए लोगों को प्रेरित किया। आवश्यकता पडऩे पर लोगों की मदद भी की।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

error: Content is protected !!