कृषि विपणन मंत्री बोले, ‘अब बेमौसम होगी सब्जियों की खेती, किसानों को होगा कई गुना मुनाफा’

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ: मा0 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उद्यान, कृृषि विपणन एवं कृृषि विदेश व्यापार, कृृषि निर्यात श्री राम चैहान जी की अध्यक्षता में सर्किट हाउस में अलीगढ़ संभाग की मंण्डी समितियों एवं उद्यान विभाग के अधिकारियों की मण्डलीय समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक के उपराॅत मा0 मंत्री जी द्वारा जवाहर पार्क में संेटर आॅफ एक्सीलेंस फाॅर वेजीटेबल केंद्र का भी उदघाटन किया गया। मा0 मंत्री जी ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री जी की भरपूर कोशिश है कि किसान की आय दोगुनी हो, परम्परागत खेती को छोड वैज्ञानिक विधि एवं नवीन तकनीक पर आधारित खेती कर कम लागत में फसलोत्पादन प्राप्त करें और आर्थिक रूप से भी सबल बनें।

मा0 मंत्री जी ने संेटर आॅफ एक्सीलेंस फाॅर वेजीटेबल केन्द्र का मंत्रोच्चारण के बीच शिलापट्टिका का अनावरण एवं फीता काटकर उदघाटन करते हुये कहा कि अब किसानों को अपने खेत खाली नहीं छोडनें होंगे। किसान इस तकनीक के माध्यम से निरोगी फसल एवं उपज के साथ साथ अच्छा मुनाफा भी प्राप्त करेंगे। उन्होने कहा कि केंद्र की स्थापना के उपराॅत किसानेां को किसी भी मौसम में सब्जियों की फसल की अच्छी प्रजाति की नर्सरी के लिये अनावश्यक भागदौड नहीं करनी पडेगी। जो किसान पाॅली हाउस या ग्रीन हाउस के माध्यम से अगैती खेती कर ले जाते हैं, वह बाजार मंे बेहतर मुनाफी प्राप्त करते हैं, जबकि आम किसानों के लिये यह संभव नहीं हो पाता है। लेकिना प्रदेश सरकार की मदद से आम किसान भी किसी भी मौसम में अच्छी नर्सरी प्राप्त कर सकेंगे। अब संेटर आॅफ एक्सीलेंस फाॅर वेजीटेबल केन्द्र की स्थापना से किसानों के खेत खाली नहीं रहेंगे और फसलोत्पादन में भी काफी बढोत्तरी होगी एवं समय से पहले बाजार में फसल एवं सब्जी बेचने पर आर्थिक रूप से भी सबल होंगे।

जवाहर पार्क मैदान में आयोजित मुख्य समारोह को सम्बोधित करते हुये सांसद सतीश गौतम ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार के साथ ही जनपद के कृषि एवं उद्यान विभाग के अधिकारी निरंतर किसानों से सम्पर्क में रहकर विभागीय योजनाओं को जनजन तक पहुॅचा रहे हैं। विकास खण्डों के साथ ही दूर दराज के ग्रामोें में कृषि वैज्ञानिक एवं विषय विशेषज्ञ गोष्ठियाॅ आयोजित कर सरकार की योजनाओं के साथ ही कृषि आधारित तकनीकों एवं विधियों को साझा कर रहे हैं, परिणाम स्वरूप किसान नवीन पद्वति से खेती कर आर्थिक रूप से मजबूत हो रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार निरंतर प्रयत्न कर रही है कि जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ जनजन तक पहुॅचे। आज लोकार्पित संेटर आॅफ एक्सीलेंस फाॅर वेजीटेबल केन्द्र जिससे हम 15 से 20 दिनों पहले फल सब्जी बाजार मे ंलाकर दो से तीन गुना अधिक मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं। आज का यह उदघाटन किसानों की आय को बढाने में मील का पत्थर साबित होगा।

निदेशक उद्यान आर के तोमर ने कहा कि प्रदेश सरकार किसान हित में पानी की तरह पैसा बहा रही है। किसान एफपीओ के माध्यम से संगठित होकर अपनी आय में वृद्वि कर रहे हैं। उन्हांेने कृषक बन्धुओं से आवाहन किया कि वह जानकारी प्राप्त कर सरकार योजनाओं का लाभ उठायें। उन्हांेने बताया कि संेटर आॅफ एक्सीलेंस फाॅर वेजीटेबल केन्द्र से एक वर्ष में 10 लाख तक पौधे तैयार किये जा सकते हैं। संेटर आॅफ एक्सीलेंस फाॅर वेजीटेबल केन्द्र के बारे में जानकारी देते हुये उन्होंने बताया कि इससे तैयार होने वाली फसल एवं पौध निरोगी और स्वस्थ्य होगी, जो कई गुना उत्पादन भी देगी। किसान पुरानी पद्वति से नर्सरी तेयार करता है जिससे लागत अधिक और उपज कम आती है। कम रबका वाले किसाना कुछ रूपये देकर अच्छी प्रजाति की पौध प्राप्त कर सकेंगे। यह सेंटर उन किसानों के लिये मील का पत्थर साबित होगा जो अगैती ख्ेाती करना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि कृषक अपनी माॅग को दर्शाकर अथवा आर्डर देकर भी पौध प्राप्त कर सकते हैंै।

उद्घाटन के दौरान विधायक खैर अनूप प्रधान, महानगर अध्यक्ष विवेक सारस्वत, धर्मेन्द्र चैधरी, राजेश राणा, प्रबल प्रताप सिंह, एस0के0 चैहान, विजय चन्द्र एवं अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे। गोष्ठी में कृषि वैज्ञानिकों द्वारा औद्यानीकरण के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।

कोरोना वीरों के कर्म का अमर उजाला ने किया सम्मान, डीएम & सीडीओ रहे मौजूद

 

…52.67 करोड़ की राजस्व प्राप्ति हुयी जो लक्ष्य का 83 प्रतिशत

उपनिदेशक मण्डी नरेन्द्र कुमार मलिक ने बैठक का संचालन करते हुये मा0 मंत्री जी को बताया कि अलीगढ़ सम्भाग में 12 मण्डी समितिया है। नया अध्यादेश लागू होने के बाद मण्डी स्थलों के बाहर स्थापित प्रोसेसिंग इकाइयाॅ जैसे दाल-मिल, राईस-मिल, फ्लोर-मिल, कोल्ड स्टोरेज द्वारा किसानों से सीधे खरीद हो रही है। उन्होंने बताया कि अलीगढ़ सम्भाग की मण्डियों का माह जनवरी 2021 तक 63.34 करोड़ के लक्ष्य के सापेक्ष मण्डियों द्वारा 52.67 करोड़ की राजस्व प्राप्ति हुयी जो लक्ष्य का 83 प्रतिशत है। अलीगढ़ सम्भाग प्रदेश में 6वें स्थान पर है। भारत सरकार द्वारा लागू नये कृषि कानून से किसानों को सीधे तौर पर निश्चित रूप से फायदा हो रहा है, उन्हें उनकी उपज का मुँह-माँगा मूल्य प्राप्त हो रहा है और किसान आर्थिक रूप से मजबूत हो रहा है।

कृषि मंत्री ने कहा कि जहां तक मण्डी में राजस्व में कमी है इस सम्बन्ध में मण्डी संचालको एवं सचिवों को मण्डी के अन्दर नई-नई गतिविधियाॅ विकसित करनी होगी। वह मण्डी में खाली पड़ी भूमि पर प्रोसेसिंग यूनिट, होर्डिग्स, टावर, ग्रामीण गोदाम स्थापित कराकर राजस्व प्राप्त करें। बैठक में बताया गया कि अलीगढ सम्भाग में मुख्यमंत्री दुर्घटना सहायता योजना के अन्र्तगत 29 दावों का निस्तारण माह जनवरी 2021 तक किया गया है जिसमें रूपया 5225000 का लाभ लाभार्थियों का दिया गया। मुख्यमंत्री खेत खलिहान दुघर्टना सहायता योजना में 66 दावों पर रूपया 1099448 लाभार्थियों को दिया गया। मंडी आवक मुख्यमंत्री किसान उपहार योजना के अन्तर्गत सितम्बर 2020 तक के कूपन लकी ड्रा के द्वारा त्रैमासिक व छःमासिक बम्बर ड्रा निकाला गया है, जिसमें 6 ट्रैक्टर, 6 पाॅवर ट्रिलरत्र 9 राउड स्ट्रावेलर, 6 रिपर, 30 सोलर पावर पैक यंत्र के अतिरिक्त 60 कृषि यंत्रों के उपहारो से किसानों को लाभान्वित किया गया है। संभाग में जनपद कासगंज में 4, एटा में 2 हाॅट पैंठों का निर्माण कराया गया। गडडा मुक्ति योजना में 22 सम्पर्क मार्गों की मरम्मत कराई गयी।

बैठक में उपनिदेशक निर्माण तीरन सिंह, मडी सचिव अशोक कुमार सोलंकी, सतवीर सिंह, जगत सिंह तेवतिया, यशपाल सिंह, दिलीप सिंह, प्यारे लाल, अजय चैहान, तुलसी राम गुप्ता, सुनील कुमार उपस्थित रहे।

 

…उद्यान समीक्षा बैठक

संेटर आॅफ एक्सीलेंस फाॅर वेजीटेबल केंद्र का उदघाटन करने आये मा0 राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) उद्यान, कृृषि विपणन एवं कृृषि विदेश व्यापार, कृृषि निर्यात श्री राम चैहान जी ने सर्किट हाउस में उद्यान विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर विभागीय योजनाओं की प्रगति समीक्षा भी की। औद्यानिकी के विकास के लिये आवंटित बजट को खर्च करने के मामले में एटा एवं कासगंज की गति धीमी पाये जाने पर मंत्री जी ने जिला उद्यान अधिकारियों को आडे हाथ लेते हुये कहा कि केन्द्र एवं प्रदेश सरकार औद्यानीकरण एवं किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिये दोनों हाथों से खजाने को लुटा रही है, वहीं आप अधिकारीगण विभागीय बजट को दबाये बैठे हैं और बजट का किसान हित में सदुपयोग नहीं कर रहे हैं। जिस पर एटा के जिला उद्यान अधिकारी को जबाब नहीं सूझा और वह स्टाफ के अभाव का रोना रोते रहे। मंत्री जी ने स्पष्ट किया कि विभागीय बजट का किसान एवं जनहित में सदुपयोग किया जाना चाहिये।

सर्किट हाउस में मा0 राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) उद्यान, कृृषि विपणन एवं कृृषि विदेश व्यापार, कृृषि निर्यात श्री राम चैहान जी ने केन्द्र राज्य व जिला सैक्टर की उद्यान से संबंधित सभी योजनाओं की बिंदुवार जानकारी प्राप्त कीं। उन्होंने बागवानी मिशन, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत मोर ड्राॅप-मोर क्राॅप समेत अन्य योजनाओं के बजट का जल्द सदुपयोग करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारी मार्च का इन्तजार न करें बल्कि किसान हित में योजनाओं का पूरे साल प्रचार प्रसार करते हुये सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को लाभ लाभार्थियों तक पहुॅचायें। श्री चैहान ने कहा कि औद्यानीक क्षेत्र में रोजगार एवं आत्मनिर्भरता के काफी अवसर हैं। योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को प्राप्त होना चाहिये। बैठक में मंत्री जी एवं निदेशक उस समय काफी परेशान हुये जब उन्हें जानकारी हुयी कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में मण्डल में 67 प्रतिशत, राज्य औद्यानिक मिशन में 60 प्रतिशत, एससीपी योजना में 81 प्रतिशत एवं माइक्रोइरीगेशन योजना में मात्र 42 प्रतिशत बजट का ही सदुपयोग हुआ है। बैठक में सभी जिलों से जिला उद्यान अधिकारी उपस्थित रहे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

error: Content is protected !!