रोगाणुरोधी प्रतिरोध सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए एक बड़ा खतरा हैः डाक्टर नफीस फैजी

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: एंटीमाइक्रोबियल प्रतिरोध (एएमआर), जो पिछले दो दशकों से खामोशी से निरंतर बढ़ रहा है अब सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए एक बड़ा खतरा बन गया है। यह बात एएमयू के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डाक्टर नफीस फैजी ने कही। वह सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट, नई दिल्ली द्वारा आयोजित एएमआर अफ्रीका-एशिया कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। कार्यशाला में नीती आयोग और विभिन्न मंत्रालयों, संगठनों और वैज्ञानिक संस्थानों के विशेषज्ञों ने भाग लिया। डाक्टर फैजी ने कहा कि एएमआर में वृद्धि के कई कारण हैं और यह मुख्य रूप से हमारी लापरवाही के कारण बढ़ा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन, खाद्य और कृषि संगठन और विश्व पशु स्वास्थ्य संगठन के साथ अपने कार्य अनुभव के प्रकाश में डाक्टर फैजी ने कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य देखभाल और एएमआर की रोकथाम में सामुदायिक भागीदारी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कोविड -19 के दौरान एंटीबायोटिक दवाओं के उपयोग से भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है।
उल्लेखनीय है कि डाक्टर नफीस फैजी ने डाउन टू अर्थ पत्रिका में एंटीमाइक्रोबियल रेसिस्टेंस (एएमआर) पर एक सूचनात्मक शोध पत्र भी लिखा है। वह ‘एंटी-माइक्रोबियल प्रतिरोध कोलाइजन’ का भी हिस्सा है, जिसका वर्तमान सचिवालय जान हापकिंस ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ, जान हापकिंस विश्वविद्यालय, बाल्टीमोर, मैरीलैंड, यूएसए है। विशेषज्ञों का यह निकाय मुख्य रूप से रोगाणुरोधी प्रतिरोध के क्षेत्र में नीति बनाने में शामिल है।

पंचायत चुनाव को लेकर बहुजन समाज पार्टी की हुयी विशेष बैठक, प्रत्याशियों से मांगे आवदेन

…बेसिक लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग का आयोजन
अलीगढ़ 26 मार्चः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के एनेस्थिसियोलॉजी विभाग ने एमबीबीएस बैच 2020 के छात्रों के लिए बेसिक लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग का आयोजन किया गया।
दो दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान विभागाध्यक्ष प्रो काजी एहसान अली, डाक्टर सैयद कामरान हबीब, डाक्टर मनाजिर अतहर और डाक्टर आफताब हुसैन ने छात्रों को कार्डियो-पल्मोनरी रिससिटेशन पर व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान किया। छात्रों को मैनुअल कार्डियक कम्प्रेशन, एयरवे, ब्रीथिंग और डी-फिब्रिलेशन (इलेक्ट्रिक कार्डियो संस्करण) की मूल बातों से परिचित कराया गया। प्रशिक्षण के दौरान अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के सैद्धांतिक और व्यावहारिक तरीकों को अपनाया गया और सफल प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए।
फैकल्टी आफ मेडीसिन के डीन प्रोफेसर राकेश भार्गव ने इस तरह के प्रशिक्षण के महत्व पर जोर देते हुए सफल छात्रों को बधाई दी।

…आजादी का अमृत महोत्सव के तहत कार्यक्रम आयोजित
अलीगढ़ 26 मार्चः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के पैथोलॉजी विभाग ने आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अन्तर्गत एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
स्वागत भाषण प्रस्तुत करते हुए विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर एसएच आरिफ ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों के लंबे संघर्ष और महान बलिदानों के कारण देश ने स्वतंत्रता प्राप्त की है। आजादी के 75 साल हो रहे हैं इसलिए हमें इस अवसर पर स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों को याद करना चाहिए और देश के विकास के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए।
स्वतंत्रता संग्राम के नेताओं की चर्चा करते हुए सहायक प्रोफेसर डाक्टर रूकय्या अफरोज ने कहा कि देश ने पिछले कुछ वर्षों में कई मोर्चों पर प्रगति की है परन्तु अभी भी बहुत कुछ हासिल किया जाना बाकी है और आपसी एकजुटता और एकता से ही देश को नए मुकाम पर ले जाया जा सकता है।
इस अवसर पर सहायक प्रोफेसर डाक्टर बुशरा सिद्दीकी ने एक प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया जिसमें शिक्षकों और पीजी छात्रों की पांच टीमों ने भाग लिया। प्रश्नोत्तरी में प्रोफेसर एसएच आरिफ, डाक्टर हिना अंसारी और डाक्टर रूकय्या को विजेता घोषित किया गया, जबकि सीनियर रेजीडेंट डाक्टर जकी, डाक्टर अंकिता और डाक्टर दारा शेहवार फर्स्ट रनर अप और पीजी स्टूडेंट्स डाक्टर संगीता, डाक्टर दाऊद और डाक्टर राहील दूसरे स्थान पर रहे। सहायक प्रोफेसर डाक्टर शगुफ्ता कादरी और डाक्टर सोहेल-उर-रहमान ने प्रश्नोत्तरी के संचालन में सहायता की
कार्यक्रम के दौरान रेजीडें डाक्टर कार्ति और डाक्टर अतिया ने सुंदर पोस्टर बनाए जबकि सबा शकील ने देशभक्ति गीत प्रस्तुत किया। अंत में प्रोफेसर डाक्टर निशात अफरोज ने पुरस्कार वितरित किए।
स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देने के लिए दो मिनट का मौन रखा गया। डाक्टर बुशरा सिद्दीकी ने कार्यक्रम का संचालन किया तथा आभार व्यक्त किया।

 

…प्रोफेसर इमरान अहमद यूनिवर्सिटी कोर्ट के नए सदस्य नियुक्त
अलीगढ़ 26 मार्चः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कालिज के प्लास्टि सर्जरी विभाग के चेयरमैन प्रोफेसर इमरान अहमद यूनिवर्सिटी कोर्ट के नए सदस्य नियुक्त किये गये हैं। उनकी नियुक्ति विभागाध्यक्ष के वरिष्ठताक्रम में तत्काल प्रभाव से तीन वर्ष या उनके विभागाध्यक्ष पद पर बने रहने तक की गई है।

…आडू व अमरूद की फसल की नीलामी 1 अप्रैल को
अलीगढ़ 26 मार्चः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के लैण्ड एण्ड गार्डन विभाग द्वारा जारी सूचना के अनुसार आडू व अमरूद की फसल की नीलामी 1 अप्रैल 2021, गुरूवार को प्रातः 11 बजे लैण्ड एण्ड गार्डन्स विभाग परिसर में होगी। इच्छुक व्यक्ति समय पर आकर बोली बोल सकते हैं।
लैण्ड एण्ड गार्डन विभाग के मेम्बर इंचार्ज प्रोफैसर जकी अनवर सिद्दीकी ने बताया कि नीलामी के दौरान हर व्यक्ति को कोरोना वायरस के बचाव के लिए स्वास्थय मंत्रालय द्वारा दिये गये सुझावों को ध्यान में रखते हुए उचित दूरी बनाये रखनी होगी। इस बात को सुनिश्चित करने हेतु संपूर्ण नीलामी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जायेगी।
इच्छुक व्यक्ति फसल की नीलामी से पूर्व भलीभांति देख लें बाद में किसी भी प्रकार का भ्रम मान्य नहीं होगा। प्रत्येक व्यक्ति को बोली बोलने से पूर्व जमानत धनराशि 1 घंटे पहले जमा करनी होगी। जिस व्यक्ति के नाम बोली छूटेगी उसकी जमानत राशि रोक ली जायेगी।
नीलामी मंजूर होने के तुरन्त बाद ठेकेदार को बोली का 50 प्रतिशत जमा करना होगा एवं 50 प्रतिशत 30.09.2021 तक हर हालत में जमा करना होगा। अधिक जानकारी के लिए लैण्ड एण्ड कार्यालय से सम्पर्क स्थापित कर सकते हैं।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

error: Content is protected !!