प्रशिक्षण कार्यशाला का हुआ आयोजन, ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए अंतिम तिथि घोषित

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज की चिकित्सा शिक्षा इकाई द्वारा फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के अन्तर्गत एक ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें देश के सभी मेडिकल कॉलेजों में नैतिकता और संचार के माडयूल के कार्यान्वयन के बारे में जानकारी प्रदान की गई। कार्यशाला में देश-विदेश के 105 से अधिक लोगों ने कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। डाक्टर शाइस्ता सैयद (डिपार्टमेंट ऑफ फिजियोलॉजी, श्रीमति एनएचएल नगरपालिका मेडिकल कॉलेज, अहमदाबाद) ने पारेषण और संचार के विषय पर बालते हुए कहा कि एटकॉम के उचित कार्यान्वयन से कौशल पर आधारित स्नातक चिकित्सा शिक्षा कार्यक्रम की ओर बढ़ना आसान होगा जिसकी अवधारणा राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग द्वारा प्रस्तुत की गई है।
डाक्टर विक्रम झा (विजिटिंग फैकल्टी, यूनिवर्सिटी ऑफ लिवरपूल, यूके) ने बायोइथिक्स पर प्रकाश डालते हुए छात्रों के लिए एटकाम के सत्र को दिलचस्प बनाने के तरीकों पर प्रकाश डाला।
प्रोफेसर राकेश भार्गव (डीन, फैकल्टी ऑफ मेडिसिन, एएमयू) ने कहा कि राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग ने नए पाठ्यक्रम में मरीजों के प्रति सही रवैये को बढ़ावा देने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि डाक्टरों के मरीज से वार्तालाप के तरीकों के अनुरूप मरीज पर प्रभाव पड़ता है।
आयोजन अध्यक्ष प्रोफैसर सीमा हकीम (समन्वयक, चिकित्सा शिक्षा इकाई) ने कहा कि संचार बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह रोगी और चिकित्सक के बीच संबंध बनाता है और रोगी को संतुष्ट भी करता है।
प्रोफेसर सैय्यद मनाजिर अली (सहायक समन्वयक, चिकित्सा शिक्षा इकाई) ने भी सहभागियों को सम्बोधित किया। आयोजन सचिव डाक्टर बुशरा सिद्दीकी ने कार्यक्रम का संचालन किया जबकि डाक्टर सोफिया नसीम ने आभार व्यक्त किया।

ग़ज़ल गायन प्रतियोगिता का आयोजन, विद्यार्थियों व शिक्षकों ने लिया बढ़चढ़ कर भाग

…ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए अंतिम तिथि घोषित
अलीगढ़, 25 मार्चः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर डिस्टेंस एंड ऑनलाइन एजुकेशन के बीए, बीकाम, एमए तथा एमकाम पाठ्यक्रमों में ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है।
केंद्र के निदेशक प्रोफेसर मुहम्मद नफीस अहमद अंसारी ने कहा कि प्रवेश प्रक्रिया वेबसाइट www.amuonline.in पर जाकर पूरी की जा सकती है। और अधिक जानकारी www.cdeamu.ac.in से ली जा सकती है। उन्होंने कहा कि प्रवेश के लिए आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 30 अप्रैल 2021 निर्धारित की गई है।

…महिला पालिटेक्निक में बौद्धिक संपदा अधिकारों पर कार्यशाला
अलीगढ़, 25 मार्चः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के महिला पॉलिटेक्निक के प्रशिक्षण और प्लेसमेंट सेल के तत्वाधान में अनुसंधान और नवाचार के क्षेत्र में बौद्धिक संपदा अधिकार पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें 98 से अधिक छात्रों और कर्मचारियों ने भाग लिया।
महिला पालीटेक्निक की प्रिन्सिपल डाक्टर सलमा शाहीन ने नियुक्त विशेष सहायक प्रोफेसर श्री मुहम्मद इमरान खान (जाकिर हुसैन कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, एएमयू) का स्वागत करते हुए कहा कि अनुसंधान और नवाचार और बौद्धिक संपदा अधिकारों के बीच के अंतर्संबंध को जानना और समझना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि अनुसंधान और नवाचार देश के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
श्री मोहम्मद इमरान खान ने अनुसंधान और नवाचार में बौद्धिक संपदा अधिकारों की भूमिका के बारे में बताते हुए कहा कि यह औद्योगिक आविष्कारों और नवाचारों की रक्षा करता है। उन्होंने कॉपीराइट अधिनियम 1957 के तहत पंजीकरण प्रक्रिया पर विस्तार से प्रकाश डाला और पेटेंट दाखिल करने के तरीकों, पात्रता, शर्तों और अन्य मुद्दों पर प्रकाश डाला।
प्रशिक्षण और प्लेसमेंट अधिकारी डाक्टर जहांगीर आलम ने कहा कि बौद्धिक संपदा अधिकारों के बारे में जानना महत्वपूर्ण है ताकि अनुसंधान में किए गए निवेश को सुरक्षित किया जा सके और यह कंपनी के लिए फायदेमंद हो सके।
कार्यक्रम के समन्वयक श्री तारिक अहमद ने आभार व्यक्त किया। उन्होंने महिला पॉलिटेक्निक में रोबो क्लब, इनोवेशन क्लब और रिसर्च लैब के बारे में भी बताया। आयोजन सचिव आतिफा अकील ने कार्यक्रम का संचालन किया।

…विश्व क्षय रोग दिवस के अवसर पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित
अलीगढ़, 25 मार्चः विश्व क्षय रोग दिवस के अवसर पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के कम्यूनिटी मेडीसिन विभाग के ग्रामीण स्वास्थ्य प्रशिक्षण केंद्र जवां में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसके अतिरिक्त बाल रोग विभाग में प्रो फरजाना के बेग (अध्यक्ष, पल्मोनोलॉजी और आईडी क्लिनिक) ने रेजिडेंट्स डाक्टर आकांक्षा मित्तल, डाक्टर स्वर्णना सिंह, डाक्टर निदा खान, डाक्टर राजकुमार, डाक्टर प्रोमा, डाक्टर समीन के साथ क्षय रोग जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया।
कम्यूनिटी मेडीसिन विभाग द्वारा ग्रामीण स्वास्थय प्रशिक्षण केन्द्र में आयोजित कार्यक्रम की देखरेख सामुदायिक चिकित्सा विभाग, आरएचटीसी के प्रमुख प्रोफेसर अनीस अहमद ने की जिसमें डाक्टर उज़मा इरम ने टीबी की रोकथाम और उपचार के महत्व पर बात की।
इस अवसर पर जूनियर डॉक्टरों ने एक नाटक के माध्यम से तपेदिक के बारे में ग्रामीण लोगों में जागरूकता पैदा की। जूनियर रेजिडेंट्स डाक्टर कार्तिका पी, डाक्टर अंबिका सारस्वत, डाक्टर फजीला, डाक्टर मूनिश एमएस, डाक्टर असमा आफताब और डाक्टर जुबेर शम्सी ने एक नाटक के माध्यम से लोगों को बीमारी के शीघ्र निदान और उपचार का संदेश दिया।
आरएचटीसी के सेमिनार कक्ष में दर्शकों को एक लघु फिल्म दिखाई गई। इसके अलावा, मुकेश कुमार शर्मा (सीनियर टीबी लैब सुपरवाइजर) ने सीएचसी, जवां में स्थापित नई ट्रोनैट मशीन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकारी कार्यक्रम के तहत एक टीबी रोगी को पौष्टिक भोजन खरीदने के लिए प्रति माह 500 रुपये दिए जाते हैं।
एएमयू के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विभाग में एक साप्ताहिक तपेदिक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें प्रोफेसर फरजाना के बेग (हेड, पल्मोनोलॉजी और आईडी क्लिनिक) ने कहा कि रॉबर्ट कोच ने 1882 में टीबी बैक्टीरिया की खोज की थी। उनकी याद में विश्व क्षय रोग दिवस मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि संदेह की स्थिति में टीबी की जांच कोविड-19 की तरह तुरंत किया जाना चाहिए।
इस अवसर पर एक पोस्टर मेकिंग और क्विज प्रतियोगिता भी आयोजित की गई और ब्लॉसम स्कूल के बच्चों के साथ एक संवाद आयोजित किया गया। प्रतियोगिता में एमबीबीएस और नर्सिंग के छात्रों ने भाग लिया।
कार्यक्रम के अंत में दर्शकों के बीच सूती कपड़े, मास्क और साबुन वितरित किये गये।
रेजिडेंट्स डाक्टर आकांक्षा मित्तल, डाक्टर स्वर्णना सिंह, डाक्टर निदा खान, डाक्टर राजकुमार, डाक्टर प्रोमा, डाक्टर समीन के साथ क्षय रोग जागरूकता कार्यक्रम के आयोजन में सहायता की।

…दो आरसीए छात्रों ने उत्तर प्रदेश पीएससी की प्रतियोगी परीक्षा पास की
अलीगढ़, 25 मार्चः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की आवासीय कोचिंग अकादमी के दो छात्र उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की एसीएफ एवं आरएफओ (रेंज फॉरेस्ट ऑफिसर) की प्रतियोगी परीक्षा 2019 में कामयाबी हासिल की है।
आरसीए के निदेशक प्रोफैसर इमरान सलीम ने कहा कि आयशा नसीम और मोहम्मद जाफर ने उक्त परीक्षा उत्तीर्ण की इसका परिणाम 24 फरवरी, 2021 को घोषित हुआ था। उन्होंने दोनों सफल छात्रों को बधाई दी है।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

error: Content is protected !!