अतरौली में चाय बेचने वाले का पढ़ने वाले बच्चों के प्रति उभरा दर्द

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: अतरौली में पैठ चौराहा पर काफी समय से प्रदीप कुमार जी लोगों को चाय बेचने का काम करते हैं आज उनकी अपनी दुकान के नीचे 7 वर्ष के बच्चे को जब बीड़ी पीते देखा तो अंदर से एक ऐसी भावना उभरी कि आज अगर पढ़ाई चल रही होती तो छोटे बच्चों को यह सीन देखने को नहीं मिलता और उन्होंने कहा कि जब त्यौहार, रैलियां प्रदर्शन आज सभी कार्य हो रहे हैं तो बच्चों की शिक्षा पर प्रतिबंध क्यों और कहां मैं सरकार से यह पूछना चाहता हूं कि पूरे उत्तर प्रदेश में सभी कार्य हो रहे हैं तो एक शिक्षा पर ही प्रतिबंध क्यों लगाया गया है जबकि शिक्षा का समय भी 4 घंटे का होता है उधर बच्चों की कोचिंग व्यवस्था पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है सब्जी मंडियों में काफी संख्या में भीड़ रहती है बाजारों में काफी संख्या में भीड़ रहती है उधर इस समय रोजाना भाजपा के खिलाफ सपा वाले रैलियां कर रहे हैं.

UP सरकार के कांवड़ यात्रा के निर्णय पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया स्वतः संज्ञान,केंद्र को भी नोटिस

धरना प्रदर्शन कर रहे हैं बाजारों में काफी संख्या में भीड़ रहती है कोई सोशल डिस्टेंस नहीं रहा है कोई भी व्यक्ति मास्क लगाने को तैयार नहीं है ऐसे में बच्चों की शिक्षा पर प्रतिबंध क्यों लगाया गया है इस बात को रखते हुए प्रदीप कुमार ने अपनी बात को रखते हुए सरकार से अपील की है कि शिक्षा पर के प्रतिबंध लगाया हुआ है वह जल्द से जल्द हटाया जाए और बच्चों को स्कूल में शिक्षा ग्रहण करने के लिए आगे प्रेषित किया जाए और उन्होंने कहा कि वर्ष 2021 में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट 100% रहा है इनका बिना पढ़े लिखे पास होना इस पर इनका भविष्य निर्भर होगा

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!