अलीगढ़| राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय समेत 12 नये विश्वविद्यालयोंका किया गया शिलान्यास

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ: प्रदेश के मा0 उप मुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा ने सीवी गुप्ता सरस्वती विद्यापीठ सिंघारपुर में पूर्व राष्ट्रपति एवं भारत रत्न डा0 एपीजे अब्दुल कलाम की प्रतिमा एवं अटल टिंकरिंग लैब का लोकार्पण किया। विद्यापीठ के वार्षिक समारोह में सम्मिलित होने से पूर्व मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने केशव सेवा धाम में मॉ शारदा अध्ययन कक्ष (ई-लाइब्रेरी) का भी फीता काटकर लोकार्पण किया। वार्षिक समारोह को सम्बोधित करते हुए मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में विद्या भारती द्वारा एवं विभिन्न अनुसांगिक संगठनों के माध्यम से पुण्य एवं पवित्र आन्दोलन चलाया जा रहा है। नई शिक्षा नीति के माध्यम से हमने शिक्षा को रोजगारपरक बनाया है। सत्र को नियमित करते हुए उत्तर प्रदेश में बेहतर आवश्यकतानुरूप पाठ्यक्रम लागू किया गया है। परीक्षा का समय कम करते हुए शैक्षिक समय सारणी को भी निर्धारित किया गया है। संस्कृत भाषा का प्रचार-प्रसार करने के लिए संस्कृत निदेशालय को स्वीकृति प्रदान करते हुए विद्यालयों में संस्कृत अध्यापकों की नियुक्ति की प्रक्रिया समाप्ति की ओर है। मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में बेहतर शैक्षणिक माहौल प्रदान करने के लिए 12 नये विश्वविद्यालयों के साथ ही जनपद अलीगढ़ में राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय का भी शिलान्यास किया गया है। इस विश्वविद्यालय की स्थापना से अलीगढ़ मण्डल ही क्या समूचे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शिक्षा जगत में एक नई क्रांति का आना स्वाभाविक है। राजा महेन्द्र प्रताप सिंह ने अपना सम्पूर्ण जीवन शिक्षा के लिए न्योछावर कर दिया। वह एक सच्चे स्वतंत्रता सेनानी होने के साथ ही शिक्षा की अलख जगाने के लिए सदैव प्रयासरत रहे। अलीगढ़ ही क्या उन्होंने अन्य स्थानों पर कई शैक्षणिक संस्थानों को अपनी जमीन दान में दी। सच्चे राष्ट्रभक्त के रूप में विदेशों में रहकर देश की आजादी के लिए अपना घर-परिवार छोड़कर संघर्ष करते रहे। उन्होंने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में जनपद में बड़ी संख्या में विकास कार्य हुए हैं। राजा महेन्द्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय बनने से उच्च शिक्षा के क्षेत्र में नये द्वार खुलेंगे।

उन्होंने 2017 से पहले के समय का जिक्र करते हुए कहा कि जनपद अलीगढ़ में शिक्षा माफियाओं द्वारा इलाहाबाद बोर्ड के समानान्तर अपना ही एक अलग बोर्ड का संचालन किया जाता था। नकल के टेण्डर उठते थे। शिक्षा व्यवसाय का आधार बन गया था। अलग-अलग जनपदों में अलग-अलग लेखकों की पुस्तकें चलतीं थीं, जिसका भार अभिभावकों को अपनी जेबें ढ़ीली कर चुकाना पढ़ता था। परिक्षाएं ढ़ाई से तीन माह तक चलतीं थीं और एक के स्थान पर कोई अन्य दूसरा व्यक्ति बैठकर परीक्षाएं देता था। प्रदेश सरकार ने आते हुए पठन पाठन का शेड्यल तय किया, परीक्षा का समय कम किया। नकल माफियाओं पर पूर्णतः अंकुश लगाया, सीसीटीवी, लाइव टेलीकास्ट और मजिस्ट्रेट्स लगाकर समयबद्ध ढ़ंग से नकल विहीन परीक्षाएं सम्पन्न कराईं। नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षा को रोजगारपरक पाठ्यक्रम से जोड़ते हुए छात्रों के स्किल डवलपमेंट पर जोर दिया गया।

मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज पूरा विश्व मा0 प्रधानमंत्री एवं मा0 मुख्यमंत्री जी के कोविड प्रबन्धन की सराहना ही नहीं कर रहा है बल्कि उसको अपना भी रहा है। भारत ने जिस अल्प अवधि में वैक्सीन तैयार की आज दुनियां उस पर शोध कर रही है। लोग आश्चर्यचकित थे कि क्या इतने अल्प समय में देश को वैक्सीन मिल पाएगी। मा0 प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देश ने वह कर दिखाया जिसकी लोगों ने कल्पना भी नहीं की थी। देश ने इस अल्प समय में न केवल वैक्सीन का अविष्कार किया बल्कि 100 करोड़ से ज्यादा लोगों को प्रतिरक्षित भी कर दिया। आज वैक्सीन के लिए विश्व के कई देश भारत के सामने हाथ फैलाए खड़े हैं। अभी हाल ही में डब्लूएचओ द्वारा भारत में निर्मित को-वैक्सीन को मंजूरी प्रदान की गयी है।

उन्होंने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री के नेतृत्व में दुनियां में भारत के नागरिकों के प्रति नजरियें में बदलाव आया है। देश व प्रदेश में चिकित्सा, उद्योग, कृषि, रोजगार के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य किये गये हैं। हमारी व्यवस्था सबका साथ-सबका विकास है। सरकार की स्पष्ट नीति एवं नियति है कि देश की मेधा शक्ति का पलायन रूके। आज 43 देशों के बच्चे उत्तर प्रदेश के विद्यालयों में शिक्षा ले रहे हैं। प्रदेश में पूंजी निवेश के अवसर बढ़े हैं और 250 मेगावाट का डाटा सेन्अर आपके नजदीक नोएडा में स्थापित किया गया है। आज उत्तर प्रदेश आईटी एवं इलैक्ट्रॉनिक का हब बना हुआ है और लाखों लोगों को रोजगार मिला है। प्रदेश में एक साथ 5-5 एक्सप्रेस वे पर कार्य चल रहा है, 63 जिलों में नये मेडिकल कॉलेजों के स्थापना की कार्यवाही प्रारम्भ हो गयी है। आज देश का किसान भी डिजिटल लेन-देन की बात कर रहा है। जन-धन खातों के माध्यम से पूरी पारदर्शिता के साथ किसानों के खातों में सम्मान निधि का पैसा भेजा जा रहा है।

कार्यक्रम में विद्याभारती के छात्र-छात्राओं द्वारा देशभक्ति एवं राष्ट्रीय एकता से ओतप्रोत सांस्कृतिक कार्यक्रमों का बड़े ही मनोहारी ढ़ंग से मंचन किया गया। इस अवसर पर राज्य महिला आयोग की मा0 सदस्या श्रीमती मीना कुमारी एवं रामसखी कठेरिया, मा0 सांसद श्री सतीश गौतम, श्री राजवीर दिलेर, मा0 विधायकगण श्री संजीव राजा, श्री अनिल पाराशर, श्री राजकुमार सहयोगी, ठा0 दलवीर सिंह, ठा0 रवेन्द्रपाल सिंह, श्री अनूप प्रधान, एमएलसी श्री श्रीचंद शर्मा, डा0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह, ठा0 जयवीर सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती विजय सिंह, जिलाध्यक्ष चौ0 ऋषिपाल सिंह, बृज प्रान्त उपाध्यक्ष ठा0 श्यौराज सिंह, ठा0 गोपाल सिंह, महानगर अध्यक्ष विवेक सारस्वत, विद्या भारती के अखिल भारतीय सह संगठन मंत्री श्री यतीन्द्र जी, प्रधानाचार्य कुमुदेश कुमार, डा0 राजीव अग्रवाल समेत एडीएम प्रशासन डीपी पाल, एसडीएम इगलास संजीव ओझा एवं अन्य अधिकारी-कर्मचारी व जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!