Breaking#जेएन मेडीकल कालिज में ओपीडी सेवाएं 12 जुलाई से फिर से शुरू होंगी

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कालेज में आउट पेशेंट विभाग (ओपीडी) सेवाएं 12 जुलाई से सभी मरीजों के लिए फिर से शुरू हो रही हैं। चिकित्सा अधीक्षक प्रोफेसर हारिस एम. खान के अनुसार, ईएनटी विभाग ओपीडी (सभी दिन), बाल रोग विभाग (सभी दिन), वेल बेबी क्लिनिक (मंगलवार, गुरुवार और शनिवार), रेडियो डायग्नोसिस (सभी दिन), आर्थोपेडिक सर्जरी (सभी दिन), त्वचा रोग विज्ञान (सभी दिन), मस्तिष्क रोग (सभी दिन), सामान्य सर्जरी (सभी दिन), मेडीसिन विभाग (सभी दिन) मेडिसिन / फालो-अप (सभी दिन), टीबी और छाती रोग (सभी दिन), प्लास्टिक सर्जरी (सभी दिन), मातृत्व और स्त्री रोग (सभी दिन), एएनसी (सभी दिन), रेडियोथेरेपी (सभी दिन) (मधुमेह और एंडोक्रिनोलाजी (सोमवार, मंगलवार, गुरुवार और शुक्रवार) और नेत्र विज्ञान (सभी दिन) में प्रति दिन 70 मरीज ओपीडी में सभी कार्यदिवस दिन देखे जाएंगे।

शहर की सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्था में मील का पत्थर साबित होगा आई ट्रिपिल सी

स्पोर्ट्स एंड आर्थाेस्कोपी सुपर स्पेशलिटी (मंगलवार), ट्यूमर क्लिनिक-सुपर स्पेशियलिटी (मंगलवार), स्पाइन क्लिनिक-सुपर स्पेशियलिटी (गुरुवार), बाल चिकित्सा आर्थो क्लिनिक-सुपर स्पेशलिटी (सोमवार), आर्थो प्लास्टिक हिप और घुटने-सुपर स्पेशलिटी (बुधवार), फिजियोथेरेपी / कार्यशाला (पूरा दिन), दर्द क्लिनिक (पैर, बुधवार और शनिवार), एनेस्थिसियोलॉजी एनेस्थिसियोलॉजी (सभी दिन), जीएस फालो-अप क्लिनिक (सभी दिन), जीएस स्पेशल ओपीडी (मंगलवार, बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार), न्यूरोसर्जरी (सोमवार, बुधवार और शनिवार), सीटीवीएस (मंगलवार और शुक्रवार), नेफ्रोलॉजी सुपर स्पेशलिटी (सोमवार), रुमेटोलाजी सुपर स्पेशियलिटी (शनिवार), न्यूरोलाजी सुपर स्पेशलिटी (बुधवार), जीई क्लिनिक-सुपर स्पेशियलिटी (शुक्रवार), बाल चिकित्सा सर्जरी (सोमवार और शुक्रवार), कार्डियोलाजी सुपर स्पेशियलिटी (सभी दिन) और बांझपन क्लिनिक-सुपर स्पेशियलिटी (शनिवार) ओपीडी में एक दिन में 30 मरीज देखेंगे।
ज्ञात हो कि कोविड की रोकथाम के लिए सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार, सभी ओपीडी सेवाओं को पूर्व में निलंबित कर दिया गया था और स्वास्थ्य कर्मियों को कोेविड 19 की व्यवस्था करने के लिए नियुक्त किया गया था। इस बीच, जेएनएमसी के डाक्टर अपने सभी मरीजों को टेलीफोन परामर्श प्रदान कर रहे थे। केंद्र सरकार द्वारा प्रतिबंधों को चरणबद्ध तरीके से उठाने की अनुमति मिलने के बाद अब ओपीडी शुरू की जा रही है।

डीबीटी के माध्यम से भ्रष्टाचार की जड़ें समूल नष्ट हुईं, पारदर्शी व्यवस्था हुई मजबूत: प्रभारी मंत्री

…दिलीप कुमार के निधन पर एएमयू ने जताया शोक
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय ने मशहूर अभिनेता युसूफ खान उर्फ दिलीप कुमार के निधन पर दुख जताया है। दिलीप कुमार अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व कोर्ट सदस्य रहे और उन्हें विश्वविद्यालय द्वारा मानद उपाधि से भी सम्मानित किया गया था। एएमयू समुदाय की ओर से शोक व्यक्त करते हुए कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा कि दिलीप कुमार के निधन की खबर सुनकर स्तब्ध हूं।
एएमयू समुदाय की ओर से शोक व्यक्त करते हुए कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा दिलीप कुमार के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं। उन्हें कला और सिनेमा के लिए देश के सर्वोच्च पुरस्कार दादा साहब फाल्के पुरस्कार से नवाजा गया था। इसके अलावा दिलीप कुमार को उनकी सेवाओं के लिए पद्म भूषण से भी नवाजा गया था।
कुलपति ने कहा कि एएमयू ने उन्हें 1982 में कोर्ट का सदस्य चुना। कला और सिनेमा के लिए उनकी लंबी सेवा के लिए 2002 में उन्हें डीलिट की मानद उपाधि से सम्मानित किया। उनका पांच दशक से अधिक का करियर कई मायनों में आदर्श और मूल्यवान है।
प्रोफेसर मंसूर ने कहा कि भारतीय सिनेमा को आकार देने और अभिनय की कला को आने वाली पीढ़ियों के लिए यादगार बनाने के लिए दिलीप कुमार को हमेशा याद किया जाएगा। प्रसिद्ध अर्थशास्त्री मेघनाद देसाई ने अपनी पुस्तक ‘नेहरू के हीरो दिलीप कुमार’ में अपनी फिल्मों और नए स्वतंत्र भारत की मिश्रित अर्थव्यवस्था की तुलना की है।
प्रोफेसर मंसूर ने कहा कि दिलीप साहब एक परोपकारी व्यक्ति थे, जिनका व्यक्तित्व उनके स्क्रीन व्यक्तित्व से काफी ऊंचा था। दिलीप कुमार की अभिनय शैली दशकों से उपयुक्त और लोकप्रिय रही है और उन्होंने आठ फिल्मफेयर पुरस्कार जीते हैं। उनके भावनात्मक अभिनय ने उन्हें ट्रेजेडी किंग का खिताब भी दिलाया।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

error: Content is protected !!