डॉक्टर एवं पैरामेडिकल वर्कर्स की मेहनत एवं जागरूकता से एक्टिव केस कम हुए: मुख्यमंत्री

चंचल वर्मा, अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने अलीगढ़ पहुंचकर एमएमयू के आडिटोरियम सभागार में प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ मण्डलीय समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोरोना को काबू में करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा तैयार की गई रणनीति का परिणाम सभी को देखने को मिल रहा है। प्रदेश में कोरोना के नए मामलों में विगत दिनों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। डॉक्टर एवं पैरामेडिकल वर्कर्स की दिन-रात की मेहनत एवं जागरूकता से एक्टिव केस भी कम हुए हैं। कोविड-19 संक्रमितों के इलाज के लिए प्रदेश सरकार द्वारा भारी संख्या में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना प्रगति पर है। केंद्र सरकार के मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में इस महामारी से प्रत्येक नागरिक का जीवन सुरक्षित करने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। कुछ विशेषज्ञों की आशंकाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यूपी में नए मामलों की संख्या में वृद्धि होना बताया गया था, परंतु प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन, डॉक्टर्स, पैरामेडिकल वर्कर्स, प्रशासनिक अधिकारियों समेत कोरोना कार्य में लगे फ्रंटलाइन वर्कर्स के सहयोग और उनकी मेहनत के चलते सभी आशंकाएं निर्मूल साबित हुई हैं। वर्तमान में नए केस एवं एक्टिव संक्रमित मरीजों की संख्या में काफी कमी देखने को मिल रही है। हम कह सकते हैं कि आप सभी का सहयोग कोरोना से जंग जीतने में अवश्य ही सफलता दिलाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए हम सभी प्रकार की चुनौतियों के लिए तैयार हैं। चिकित्सा उपकरण, ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र और मानव संसाधन को बढ़ाए जाने की दिशा में तेजी के साथ कार्रवाई की जा रही है।

अलीगढ़ के गोकुलेशपुरम में पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ, संक्रमित का जाना हाल

एएमयू आडिटोरियम सभागार में आहूत उच्च स्तरीय कोविड-19 प्रबंधन के संबंध में समीक्षा बैठक में मा0 मुख्यमंत्री जी ने वर्चुअल माध्यम से मण्डल के अन्य जनपदों को भी संक्रमण दर को घटाने के लिए टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी जनपदों में वेंटीलेटर बेड एवं ऑक्सीजन बेड की संख्या की जानकारी प्राप्त करते हुए बेड की संख्या बढ़ाने एवं सभी वेंटीलेटर को क्रियाशील रखने के निर्देश दिए।करते हुए मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश श्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि प्रबंधन कार्यों में लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण एवं संक्रमितों के उपचार के लिए सभी संसाधन उपलब्ध करा रही है। उन्होंने गांव को संक्रमण से मुक्त रखने के लिए निगरानी समितियों के माध्यम से विशेष जांच अभियान संचालित करने के निर्देश दिए। अभियान के प्रभावी एवं त्वरित संचालन के लिए निगरानी समितियों एवं आरआरटी की संख्या में कार्य के अनुरूप वृद्धि करने के भी निर्देश दिए हैं। मंडलायुक्त ने बताया कि सभी जनपदों में मोहल्ला निगरानी समितियों का गठन कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि अस्पतालों में बेड की उपलब्धता को बढ़ाया गया है। ऑक्सीजन की उपलब्धता में भी काफी इजाफा किया गया है।

कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने घर में ही किया नजरबंद, पुलिस के साथ कांग्रेसियों की हुई नोंकझोंक

मुख्यमंत्री जी ने निर्देशित किया कि लक्षण युक्त एवं संक्रमण की दृष्टि से संदिग्ध सभी व्यक्तियों को निगरानी समितियों के माध्यम से मेडिकल किट वितरण किया जाए। राज्य सरकार द्वारा सभी अनिवार्य दवाइयों के साथ मेडिकल किट उपलब्ध कराई गई हैं, उन्होंने लक्षण युक्त एवं संदिग्ध व्यक्तियों की तत्काल टेस्टिंग करते हुए रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसके उपचार की समुचित व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने ऑक्सीजन समेत जीवन रक्षक दवाइयों की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई करने के निर्देश देते हुए कहा कि इसकी निरंतर जांच की जाए और दोषियों के विरुद्ध किसी तरह की रियायत न बरती जाय।

मुख्यमंत्री ने टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश देते हुए कहा कि जागरूकता एवं सावधानी ही कोरोना से बचने का सर्वोत्त्म उपाय है। हमारे लिए प्रत्येक व्यक्ति का जीवन अमूल्य है। उसे हर हालत में बचाना है। यदि संक्रमित व्यक्ति को समय से समुचित इलाज उपलब्ध हो जाए तो निश्चित ही वह आरोग्यता को प्राप्त करेगा। इसलिए रोग को छुपाया न जाए, क्योंकि यदि बीमारी है तो उसका उपचार आवश्यक है। उन्होंने कहा कि 108 एंबुलेंस सेवा के 75 फीसदी वाहनों का प्रयोग कोविड-19 के लिए निर्धारित कर दिया गया है। जिला एवं पुलिस प्रशासन द्वारा यह सुनिश्चित किया जाय कि प्राइवेट चिकित्सालय एवं निजी एंबुलेंस द्वारा निर्धारित दर से अधिक शुल्क ना लिया जाए। उन्होंने कंटेनमेंट जोन व्यवस्था को सख्ती से लागू करने के साथ केवल स्वास्थ्य, स्वच्छता, फागिंग, सैनिताइजेशन कार्य के साथ-साथ डोर स्टेप डिलीवरी की अनुमति प्रदान करने के निर्देश दिए।

उन्होंने निर्देशित किया कि प्रत्येक जनपद में पिछले 24 घंटे के अंदर सामने आए कोरोना वायरस के नए मामलों, संक्रमण से स्वस्थ हुए मरीजों और सक्रिय केस की प्रतिदिन समीक्षा किया जाए। उन्होंने कांटेक्ट ट्रेसिंग पर प्रभावी जोर देते हुए कहा कि इससे हम संक्रमित व्यक्तियों की जल्द पहचान कर सकेंगे, जोकि कोरोना की चैन तोड़ने में कारगर सिद्ध होगी। मुख्यमंत्री ने निगरानी समितियों के माध्यम से ग्रामों में जनजागरूकता के लिए बेहतर ढंग से कार्य करने के निर्देश देते हुए कहा कि निगरानी समितियों के माध्यम से गांव में आने वाले प्रवासी श्रमिकों की सूची तैयार कर आवश्यकतानुसार टेस्टिंग भी कराई जाए। पी0 ए0 सिस्टम के माध्यम से ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में जनजागरूकता पर जोर देते हुए लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया जाए और उन्हें यह भी बताया जाए कि वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है।

मुख्यमंत्री जी ने होम आइसोलेशन के माध्यम से स्वास्थ्य लाभ ले रहे कोविड-19 संक्रमितों के साथ कोरोना कंट्रोल रूम के माध्यम से नियमित संवाद स्थापित करते हुए उनके स्वास्थ्य की जानकारी कर उन्हें मेडिकल परामर्श देने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कोविड-19 हॉस्पिटल द्वारा दिन में कम से कम एक बार मरीज के स्वास्थ्य एवं उपचार के संबंध में उनके परिजनों को जानकारी अवश्य दिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि टीम भावना से कार्य किए जाने पर निश्चित रूप से सफलता मिलेगी और हम जल्द ही कोरोना पर विजय प्राप्त करेंगे। उन्होंने जिलाधिकारियों को राज्य स्तर पर गठित टीम की ही भांति जनपद स्तर पर भी समिति का गठन कर अधिकारियों को विभिन्न प्रकार के कार्यों के प्रति जवाबदेह बनाने के निर्देश देते हुए समस्त व्यवस्थाओं की नियमित एवं प्रभावी मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कोविड कमांड सेंटर का निरीक्षण कर लिया व्यवस्थाओं का जायजा …देखिये वीडियो

मंडलायुक्त गौरव दयाल ने मंडल में कोविड-19 के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि टेस्टिंग, कांटेक्ट ट्रेसिंग, स्वच्छता, फागिंग, सैनिटाइजेशन, वैक्सीनेशन के कार्यों को तेजी के साथ संपन्न कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मंडल में 1 अप्रैल से 12 मई तक 334183 सेम्पल लिए गए। अलीगढ़ में 148792, एटा में 58201, हाथरस में 68234 और कासगंज में 58956 सेम्पल किये गए। इसके अतिरिक्त मंडल में कुल 2874 निगरानी समितियां एवं 752 मोहल्ला समितियां क्रियाशील हैं। कोविड प्रबंधन कार्य के लिए 85 एंबुलेंस का प्रयोग किया जा रहा है। मंडलायुक्त ने बताया कि अलीगढ़ में सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में एल-2 श्रेणी के 941 बेड्स हैं, जिनमें 511 मरीज भर्ती है और 430 बेड्स खाली हैं। एटा में 170 बेड्स हैं, जिसमे 79 मरीज भर्ती है और 91 बेड्स खाली हैं। जनपद कासगंज में 100 बेड्स हैं, जिसमें 35 मरीज स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं और 65 बेड्स खाली हैं। इसी प्रकार से हाथरस में 200 बेड्स के सापेक्ष 54 संक्रमित भर्ती हैं और 146 बेड खाली हैं। मण्डल में 161 वेंटिलेटर की क्षमता है। उन्होंने बताया कि मण्डल में 5775 मेडिकल किट्स का वितरण किया गया है। मण्डल में संक्रमितों की संख्या के अनुरूप 1601 कंटेंमेंट जोन बनाये गए हैं। मण्डल में 246 ऑक्जीजन कन्संट्रेटर क्रियाशील हैं। ऑक्सीजन सपोर्ट बेड्स की संख्या में 290 कई बढ़ोतरी करते हुए 1133 किये गए हैं। मण्डल भर में 5 मई को 16.63 मी. टन की आपूर्ति की गई, जिसमें 11.42 मी. टन की बढ़ोतरी करते हुए 12 मई को 28.05 मी. टन की आपूर्ति की गई। उन्होंने बताया कि मण्डल में जीवन रक्षक दवाएं प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं। बैठक में उन्होंने मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति, मानव संपदा, वेक्सीनेशन का भी विवरण प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर जनपद प्रभारी मंत्री श्री सुरेश राणा, वित्त एवं शिक्षा राज्य मंत्री श्री संदीप सिंह, दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री ठा0 रघुराज सिंह, मा0 सांसद श्री सतीश गौतम, श्री राजवीर सिंह, श्री राजवीर दिलेर, एएमयू वीसी तारिक मंसूर, एमएलसी डा0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह, ठा0 जयवीर सिंह, मा0 विधायकगण श्री संजीव राजा, श्री अनिल पाराशर, श्री अनूप प्रधान, श्री राजकुमार सहयोगी, ठा0 रवेन्द्रपाल सिंह, जिलाध्यक्ष चै0 ऋषिपाल सिंह, महानगर अध्यक्ष विवेक सारस्वत, डा0 राजीव अग्रवाल, अनीता जैन, ठा0 विजयपाल सिंह एवं अन्य जनप्रतिनिधियों समेत कमिश्नर, डीएम, एसएसपी, सीडीओ, एडीएम, सीएमओ आदि उपस्थित रहे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें

Aligarh Media Group

www.aligarhmedia.com (उत्तर प्रदेश के अलीगढ जनपद का नंबर-१ हिंदी न्यूज़ पोर्टल) अपने इलाके की खबरे हमें व्हाट्सअप करे: +91-9219129243 E-mail: aligarhnews@gmail.com

error: Content is protected !!