कार्य न करने वालों को नोटिस देकर तत्काल पदच्युत कर योग्य व्यक्ति को दी जाये तैनाती

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़ 29 सितम्बर 2021(सू0वि0) जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति बैठक का आयोजन किया गया। डीएम ने कहा क स्वास्थ्य सेवाओं में किसी भी स्तर पर लापरवाही या उदासीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सरकार स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार एवं प्रत्येक जरूरतमंद को चिकित्सकीय सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने सीएमओ को निर्देशित किया कि शासन द्वारा विभिन्न मदों मंें आवंटित धनराशि पर कुण्डली मारकर बैठे रहने के बजाय सीएचसी एवं पीएचसी से प्रस्ताव प्राप्त कर शीघ्र धनराशि हस्तांतरित कराना सुनिश्चित करें। ताकि जनहित में आवंटित धनराशि का लाभ जरूरतमंद एवं पात्रों को समय से प्राप्त हो सके। कोरोना संक्रमण काल के दौरान चिकित्सालयों में समुचित इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध करा दिया गया है, जिसका लाभ सभी वर्गों को एकसमान रूप से प्राप्त होना चाहिए।

डीएम सेल्वा कुमारी जे. ने बुधवार को कलैक्ट्रेट सभागार में डीएचएस बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग में विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। यदि किसी भी एक योजना के ग्राफ में कमी आती है तो इसका सीधा प्रभाव स्टेट रैंकिंग में दिखाई पड़ता है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि नियमित कर्मचारी हो या आउटसोर्सिंग, यदि शासन की मंशा के अनुरूप कार्य नहीं कर रहा है तो उसे नोटिस देकर तत्काल पदच्युत कर योग्य व्यक्ति को तैनात किया जाए। कोविड टीकाकरण के चलते नियमित टीकाकरण को प्रभावित न होने दिया जाए। माइक्रो प्लान तैयार कर टीकाकरण कराया जाए। यदि स्टाफ का अभाव है तो व्यवस्था कर कार्य का समुचित ढ़ंग से संचालन किया जाए।

जननी सुरक्षा योजना एवं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में लाभार्थियों को समय से लाभान्वित करने के निर्देश देते हुए डीएम ने कहा कि जनहित की इन योजनाओं में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। आशा संगिनी के भुगतान में ब्लॉक अतरौली एवं धनीपुर द्वारा अपेक्षित सुधार न किये जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की गयी। आशा रिपोर्टिंग में छर्रा एवं इगलास की स्थिति काफी बेहतर पाई गयी वहीं धनीपुर की सबसे खराब, जिसे इंप्रूव करने के निर्देश दिये गये। एसएनसीयू एवं पोषण पुनर्वास केन्द्रों पर कुपोषण से निजात दिलाने के लिए रेफर किये जा रहे बच्चों में बालिकाओं की संख्या कम होने पर सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया गया कि बालक एवं बालिकाओं को योजनाओं का एकसमान लाभ दिया जाए। बैठक में सिजेरियन प्रसव, मत्यु रिपोर्टिंग, आयुष्मान मित्रों की तैनाती, हैल्थ एवं वैलनेस सेन्टर, इम्यूनाइजेशन, गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों का पंजीकरण, राष्ट्रीय कष्ट निवारण कार्यक्रम, ग्राम्य स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण समिति का गठन आदि बिन्दुओं पर भी समीक्षा की गयी। बैठक में माइक्रो बायोलॉजिस्ट डा0 वैभव गुप्ता के अनुरोध पर उन्हें पं0 दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय अलीगढ़ में ही कार्य करने की अनुमति प्रदान की गयी। इस अवसर पर सीडीओ अंकित खण्डेलवाल, सीएमओ डा0 आनन्द कुमार उपाध्याय समेत अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

बिना नम्बर की बाइको से मिशन शक्ति जागरूकता रैली, डीएम ने बजायी ताली… आप भी देखिए तस्वीरें

 

…भालचंद्र त्रिपाठी बने परियोजना निदेशक, डीआरडीए का संभाला कार्यभार

अलीगढ़ 29 सितम्बर 2021(सू0वि0) तेजतर्रार प्रशासनिक अधिकारी भालचंद्र त्रिपाठी का शासन द्वारा ट्रांसफर किया गया है। जिसके बाद उन्हें परियोजना निदेशक अलीगढ़ के पद पर नियुक्त किया गया है। उन्होंने जिला विकास अधिकारी के रूप में जनपद गाजियाबाद में बेहद सशक्त एवं महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस संबंध में उन्होंने बताया कि शासन द्वारा दी गई इस नई जिम्मेदारी को वे पूर्ण निष्ठा एवं कर्मठता के साथ निभाएंगे। कार्यभार ग्रहण करते समय उन्होंने अपने सभी साथियों का आभार व्यक्त करते हुए और कहा कि किसी भी अधिकारी का कार्य प्रदर्शन उसकी टीम पर भी निर्भर करता है। उन्होंने कहा कि मैं बेहद भाग्यशाली हूं कि मुझे एक सशक्त टीम मिली जिसके साथ काम करने में उन्हें आत्म संतोष के साथ आनंद की भी प्राप्ति होगी। उन्होंने कहा कि वह अपनी टीम को लेकर हमेशा ही सजग और सतर्क रहें, जहां उनकी टीम उनके सहयोगी ही नहीं बल्कि उनके परिवार की तरह हैं। वह प्रयास करेंगे कि सरकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाया जा सके एवं विकास की गति को और तेज किया जाए। उन्होंने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार ने सैकड़ों जनकल्याणकारी योजनाएं चलाई हैं लेकिन इन सभी योजनाओं का जन-जन तक लाभ पहुंचाना बेहद महत्वपूर्ण है।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!