डिफेंस कॉरिडोर, इंडस्ट्रियल स्टेट, राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय एवं एयरपोर्ट के कार्यों में तेजी लाने के दिये निर्देश

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: डिफेंस कॉरिडोर, इंडस्ट्रियल स्टेट, राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय, एयरपोर्ट के निर्माण कार्यों में तेजी लाने के उद््देश्य से जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में बैठक का आयोजन किया गया। डीएम ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जनपद अलीगढ़ की इन सभी बड़ी परियाजनाओं पर प्रदेश ही नहीं वरन् देश की निगाह है। इन सभी परियोजनाओं की जल्द ही लोकार्पण एवं शिलान्यास होने सम्भावना है। इन बड़े स्तर की राष्ट्रीय परियोजनाओं की स्थापना के बाद अलीगढ़ की तस्वीर ही बदल जाएगी। अलीगढ़ एनसीआर एवं दिल्ली से सटा हुआ होने से विकास की असीम सम्भावनाएं हैं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में अन्तर्राष्ट्रीय जेवर एयरपोर्ट बन जाने से औद्योगिक एवं व्यापारिक गतिविधियों में अपेक्षा से कहीं अधिक तेजी आएगी। उन्होंने लम्बित कार्यों को युद्धस्तर पर कार्य कराते हुए पूर्ण करने के निर्देश दिये।

कारगिल विजय दिवस पर शहीद नरेश के माता-पिता को किया सम्मानित

डीएम ने डिफेंस कॉरिडोर परियोजना की समीक्षा करते हुए विद्युत अधिकारियों द्वारा 132 केवीए एवं 233 केवीए के विद्युत स्टेशन का प्रस्ताव तैयार न करने पर आड़े हाथ लेते हुए कड़ी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि उनके निरीक्षण को एक सप्ताह होने को आया है, परन्तु दिये गये निर्देशों का अनुपालन न करना आपकी लापरवाही का द्योतक है। उन्होंने जल्द से जल्द ऐस्टीमेट तैयार करने के निर्देश दिये। वन विभाग को निर्देशित किया गया कि प्लांटेशन के कार्य में तेजी लाएं। डीएम ने जल निकासी की समुचित व्यवस्था करने के निर्देश देते हुए कहा कि भूमि अधिग्रहण में यदि कहीं समस्या है तो उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाने के साथ ही किसानों से संवाद एवं समन्वय स्थापित किया जाए। उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि जनहित एवं राष्ट्रहित की इन परियोजनाओं के विकास में अपना सहयोग करें। एयरपोर्ट निर्माण की समीक्षा करते हुए कार्यदायी संस्था को अवशेष कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। उपायुक्त उद्योग श्रीनाथ पासवान ने बताया कि ख्यामई औद्योगिक आस्थान की पुनर्ग्रहित भूमि पर यूपीएसआईसी द्वारा लेआउट तैयार किया जा रहा है। एडीएम प्रशासन डीपी पाल ने बताया कि राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय के निर्माण कार्य के लिए भी एजेंसी का चयन कर लिया गया है, 2023 तक कार्य पूर्ण करना है। बैठक में एसडीएम, एडीएम समेत कार्यदायी संस्थाओं के पदाधिकारी एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

 

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!