अलीगढ़| हेल्दी बेबी शो में रुद्राक्ष को पहला, दिव्यांश को दूसरा और शनि को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: बच्चों की बेहतर देखभाल के बारे में जनजागरूकता के लिए इस समय नवजात शिशु देखभाल सप्ताह मनाया जा रहा है, जो कि 21 नवंबर तक चलेगा । इसी के तहत शनिवार को मोहनलाल गौतम राजकीय महिला चिकित्सालय में हेल्दी बेबी शो का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें बेबी रुद्राक्ष प्रथम, बेबी दिव्यांश को दूसरा और शानि को मिला तीसरा स्थान रहा। इन्हें बेबी किट देकर पुरस्कृत किया गया, साथ ही पीएनसी वार्ड में उपस्थित 10 बच्चों को सांत्वना पुरस्कार स्वरूप बेबी प्रोडक्ट दिए गए। विजेता और प्रतिभाग करने वाले बच्चों को पुरस्कृत से सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर मौजूद नोडल अधिकारी व अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एसपी सिंह ने बताया कि स्वस्थ भारत की परिकल्पना तभी की जा सकती है, जब आने वाली पीढ़ियां पूरी तरह से स्वस्थ हों जिसको शासन ने भी गंभीरता से लिया है। इसके लिए हर वर्ष चिकित्सालय में हेल्दी बाबी शो का आयोजन किया जाता है। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य माता पिता को यह बताना होता है कि अपने बच्चे का हम किस तरह ख्याल रखें कि वह स्वस्थ रहें । डॉ एसपी सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य माताओं व बच्चों में साफ-सफाई, स्वास्थ्य एवं पोषण, टीकाकरण तथा बच्चों की बेहतर देखभाल के विषय में जागरूक करना है।

डीईआईसी मैनेजर मुनाजिर हुसैन ने बताया कि प्रसव के बाद शिशु को छह महीने तक केवल स्तनपान ही कराना चाहिए व छह महीने के बाद शिशु को स्तनपान के साथ कम से कम दिन में दो से तीन बार ऊपरी आहार भी चम्मच से खिलाएं ताकि बच्चें की आदत पड़ सके। शुरू-शुरू में बच्चा थूकेगा। पर ऐसे ही वह खाना सीखना शुरू करेगा। पूरक आहार न लेने से बच्चा इसी उम्र से कुपोषित होना शुरू हो जाता हैं।

डीईआईसी मैनेजर ने बताया कि बेबी शो में एक वर्ष से कम उम्र के बच्चों ने प्रतिभाग किया । प्रतियोगिता का उद्देश्य टीकाकरण, स्तनपान आदि विषयों पर जागरूकता बढ़ाना था। वजन, स्तनपान, टीकाकरण की स्थिति, सामान्य साफ-सफाई के मानकों पर खरा उतरते हुए। उन्होंने कहा कि स्वस्थ बच्चे ही स्वस्थ समाज का निर्माण करते हैं। बच्चों के टीकाकरण, साफ-सफाई एवं खान-पान पर ध्यान देना अत्यंत आवश्यक है, ताकि बच्चों का सही मानसिक एवं शारीरिक विकास हो सके। वित्तीय सलाहकार रागिनी सिंह ने कहा इस क्रम में संस्थागत प्रसव से हुए बच्चे जिन्हें समय-समय पर सभी टीकाकरण के साथ ही जन्म के एक घंटे के अंदर व छह माह तक सिर्फ स्तनपान कराया हो उसी को हेल्दी बेबी चुना जाता है। उन्होंने कहा कि बच्चा तभी स्वस्थ रहेगा जब छह माह तक सिर्फ माँ का दूध पिएगा, माँ का दूध बच्चे को बीमारियों से बचाता है ।

कार्यक्रम के अंत में जिला कार्यक्रम प्रबंधक एमपी सिंह ने उपस्थित लोगों का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर डीआईसी मैनेजर मुनाजिर हुसैन, अर्बन हेल्थ कोऑर्डिनेटर अकबर खान व यूनिसेफ से हैदर रजा नकवी, रविंद्र कुमार हरकुट, मनोज कुमार डाटा एंट्री ऑपरेटर, स्टाफ नर्स सुषमा, एएनएम नीलम व जिला अस्पताल का अन्य स्टाफ मौजूद रहा ।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!