एएमयू में छात्रों के लिए अंतर्राष्ट्रीय कार्पाेरेट मीट का आयोजन

एएमयू

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट आफिस (जनेरल) के तत्वाधान में एक आनलाइन इंटरनेशनल कार्पाेरेट मीट का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कुलपति, प्रोफेसर तारिक मंसूर ने उद्घाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि नौकरी के बजाय उद्यमिता, पढ़ाई के दौरान हासिल किए गए कौशल को साकार करने का एक बेहतर विकल्प है क्योंकि यह व्यक्ति को नौकरी चाहने वाले के बजाय नौकरी प्रदाता बनने में सक्षम बनाता है। उन्होंने कहा कि व्यावसायिक जगत और शिक्षाविदों के बीच पारस्परिक रूप से लाभकारी संबंध बनाने के लिए कार्पाेरेट बैठकें महत्वपूर्ण हैं और एएमयू के छात्रों को एएमयू में अपनी पढ़ाई शुरू करने के पहले दिन से ही नौकरी बाजार के लिए खुद को तैयार करना चाहिए।
प्रोफेसर मंसूर ने उनसे कारपोरेट जगत के लिए खुद को सक्षम बनाने के लिए कॉर्पाेरेट जगत के सिद्धांत और शिष्टाचार सीखने और पर्याप्त कौशल हासिल करने पर ज़ोर दिया। उन्होंने एएमयू के पूर्व छात्रों के साथ संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के महत्व पर जोर देते हुए बताया कि वे कार्पाेरेट जगत के साथ संबंध बनाने में कैसे महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी ने शिक्षा और नौकरियों सहित विभिन्न मानव गतिविधियों के लिए चुनौतियां कि हैं परन्तु इस के साथ ही इन क्षेत्रों में नए रास्ते भी पैदा किए हैं और इस मीट में भाग लेने वाले वरिष्ठ उद्योग विशेषज्ञ और संसाधन व्यक्ति सम्बंधित मुद्दों, चुनौतियों और अवसरों को उजागर करेंगे। उन्होंने कहा कि एएमयू ने छात्रों को नवीनतम तकनीकी शिक्षा से लैस करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में बी.टेक और एम.टेक. तथा डेटा साइंस आदि में एम एस सी जैसे कई रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रम शुरू किए हैं।
मुख्य अतिथि, श्री इमाद मलिक (सीईओ, शराफ एक्सचेंज, दुबई) ने नौकरी बाजार में उत्पन्न होने वाले रुझानों और छात्रों को रोजगार योग्य बनाने के लिए आवश्यक कौशल पर प्रकाश डाला। उन्होंने अपनी सफलता की कहानी में एएमयू की भूमिका का उल्लेख करते हुए छात्रों से अच्छी प्रेरक किताबें पढ़ने और उपलब्धि हासिल करने वालों की सफलता की कहानियों से सीख लेने का आग्रह किया। उन्होंने एएमयू द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का सर्वाेत्तम उपयोग करने की भी उन्हें सलाह दी। उन्होंने आश्वासन दिया कि उनका संगठन एएमयू के छात्रों को लाइव प्रोजेक्ट पर इंटर्नशिप, नौकरी और प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए एएमयू के साथ करार की संभावनाओं का पता लगाएगा।
मानद अतिथि, सुश्री रूपा हसन (वरिष्ठ एचआर, दुबई इलेक्ट्रिसिटी एंड वाटर अथॉरिटी – डीईडब्ल्यूए) ने जीवन कौशल के महत्व और खुश रहने के साथ ही कार्य-जीवन के बीच उचित संतुलन बनाए रखने के लाभों पर बल दिया। उन्होंने छात्रों से एक स्वस्थ भावनात्मक जीवन जीते हुए रोज़गार बाजार की चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना करने के लिए अपने ज्ञान और कौशल को उन्नत करने का आग्रह किया।
इससे पूर्व, प्रोफेसर इमरान सलीम (कार्यक्रम संयोजक) ने मेहमानों का स्वागत करते हुए नियमित रूप से कार्पाेरेट बैठकों के आयोजन और इन में भाग लेने के महत्व को रेखांकित किया।
सुश्री अमरा मरियम (प्रशिक्षण और प्लेसमेंट समन्वयक, यूनिवर्सिटी विमेंस पालिटेक्निक) ने कार्पाेरेट बैठक के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला और श्री नकी अब्बास, एएमयू के पूर्व छात्र और इनेबल करियस के संस्थापक के साथ तकनीकी सत्र का संचालन किया। सुश्री ललिमा गुप्ता और सुश्री तृष्णा अग्रवाल, छात्र स्वयंसेवक, टीपीओ (सामान्य) ने अतिथियों और पैनलिस्टों का परिचय दिया।
श्री नकी अब्बास, श्री साद हमीद (टीपीओ-जनरल) और सुश्री अमराह मरियम ने शिक्षा और रोजगार संगत योग्यताः क्या उत्तर कोविड समय में यह एक नया सामान्य है। विषय पर एक पैनल चर्चा का संचालन किया। श्री अभिषेक तलवार (सीईओ, हेक्साव्यू टेक्नोलाजीज, नोएडा), सुश्री ज़ैनब जाफरी (डेलोइट, मुंबई), श्री आलोक एन गुप्ता (एमडी, टैलेंट रिक्रूट, बेंगलुरु), श्री धीरज मोदी (ग्लोबल एचआर हेड, एनएलबी सर्विसेज, गुरुग्राम) और श्री फैनान ख्वाजा (वीपी, कैम्बे कंसल्टिंग) ने चर्चा में भाग लिया और अपने विचार साझा किए।
श्री साद हमीद ने समापन भाषण प्रस्तुत किया, जबकि डा० जहांगीर आलम, सहायक टीपीओ ने कार्यक्रम का संचालन किया और डा० मंसूर आलम सिद्दीकी, टीपीओ विमेंस कालेज ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। डा० मुज़म्मिल मुश्ताक, सहायक टीपीओ ने कारपोरेट मीट के सफल आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
बैठक में 800 से अधिक छात्र, शिक्षक, विभागीय टीपीओ और उद्योग विशेषज्ञ शामिल हुए।
———————-
एएमयू में गांधी जयंती समारोहों का आयोजन
अलीगढ़, 4 अक्टूबरः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के स्कूलों, हालों में शिक्षकों और छात्रों ने गांधी जयंती के उपलक्ष में कार्यकर्मों का आयोजन करके महात्मा गांधी की शिक्षाओं के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई। इस पृष्ठभूमि में स्वच्छता अभियान, सेमिनार और श्रद्धांजलि सभाएं आयोजित कर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भाव भीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी।
बेगम अज़ीज़ुन निसा आवासीय महिला छात्रावास में प्रोफेसर सुबुही खान (प्रोवोस्ट) ने वार्डन और छात्राओं को देश को साफ़ और स्वच्छ रखने, स्वच्छता के प्रति प्रतिबद्ध रहने और सफाई गतिविधियों के लिए समय देने के लिए ‘स्वच्छ भारत‘ की शपथ दिलाई।
उन्होंने कहा कि स्वच्छता के प्रति प्रतिबद्धता गांधी जी को उनकी जयंती पर उचित श्रद्धांजलि है, जिन्होंने एक स्वच्छ भारत का सपना देखा था।
प्रोफेसर सुबुही ने कहा कि इस अवसर को चिह्नित करने के लिए कई गतिविधियों का आयोजन किया गया जैसे कि स्वच्छ भारत मिशन के अनुरूप एक सामूहिक स्वच्छता अभियान, स्वच्छता पर एक जागरूकता कार्यक्रम और नाज़िया बेगम द्वारा ‘खादीः क्रांति से फैशन‘ पर आजादी का अमृत महोत्सव व्याख्यान।
एएमयू गर्ल्स स्कूल में श्रीमती आमना मलिक (प्रिंसिपल) ने बताया कि स्कूल में राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया और स्कूल बैंड ने राष्ट्रगान गाया और अन्य जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित किए गए।
अपने भाषण में श्रीमती आमना मलिक ने कहा कि महात्मा गांधी ने सदा सत्य और अहिंसा की शिक्षा दी। उनके आदर्शों ने अन्य देशों के लिए बिना रक्तपात के औपनिवेशिक शासन से खुद को मुक्त करना संभव बनाया और उन्होंने कई पीढ़ियों को ‘स्वराज’ के बारे में सोचने और शांतिपूर्वक इसके लिए संघर्ष करने के लिए प्रेरित किया।
सीनियर सेकेंडरी स्कूल (गर्ल्स) में शिक्षकों, गैर-शिक्षण कर्मचारियों और छात्रों ने भारत को गांधी जी के सपनों का देश बनाने के लिए राष्ट्रीय अखंडता की शपथ लेने के साथ गाँधी जी को श्रद्धांजलि दी। श्रीमती नगमा इरफान (प्राचार्य) ने शपथ दिलाई।
उन्होंने बताया कि स्कूल में राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया और इस दिन के उपलक्ष में स्कूल परिसर में एक सफाई अभियान चलाया गया।
एएमयू सिटी गर्ल्स हाई स्कूल में अपने गांधी जयंती भाषण में डा मोहम्मद आलमगीर (प्रिंसिपल) ने बताया कि महात्मा गांधी की अहिंसा की धारणा को दुनिया भर में विशेष महत्व प्राप्त है। उन्होंने न केवल अहिंसा का सिद्धांत दिया बल्कि इसे एक दर्शन और जीवन के एक आदर्श तरीके के रूप में अपनाया। उन्होंने हमें समझाया कि अहिंसा कमजोरों का हथियार नहीं है बल्कि यह एक ऐसा हथियार है जिसे प्रयोग करके बड़े से बड़े विरोधी को भी हराया जा सकता है।
एएमयू सिटी गर्ल्स हाई स्कूल में समारोह के दौरान महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों पर माल्यार्पण किया गया और जिया उल हक द्वारा ‘महात्मा गांधी का इतिहास और स्वतंत्रता संग्राम में उनकी भूमिका’ पर एक भाषण दिया गया। स्कूली छात्रों ने ‘साबरमती के संत‘ गीत की प्रस्तुति भी दी।
कार्यक्रम की संयोजक उरूजा खान थीं और फरजाना नजीर (सांस्कृतिक समन्वयक) ने समारोह के आयोजन में मदद की।
राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) में गांधी जयंती समारोह के मुख्य अतिथि, यूनिवर्सिटी पालिटेक्निक के प्राचार्य प्रोफेसर अरशद उमर ने कहा कि गांधी जी अहिंसा और सच्चाई के अग्रदूत थे और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के लिए उन्होंने सत्याग्रह और अहिंसा आंदोलन का नेतृत्व किया।
उन्होंने गांधी जयंती और आजादी का अमृत महोत्सव समारोह को चिह्नित करने के लिए आयोजित देशभक्ति गीत और निबंध लेखन प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार भी वितरित किए।
डा० अरशद हुसैन (कार्यक्रम समन्वयक, एनएसएस) ने महात्मा गांधी के जीवन पर एक प्रस्तुति दी।
———————–
जेएनएमसी चिकित्सक प्रोफेसर मुईद आईएसए यूपी चौप्टर के अध्यक्ष चयनित
अलीगढ़, 4 अक्टूबरः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कालेज के एनेस्थिसियोलाजी विभाग के प्रोफेसर सैयद मुईद अहमद को 2021-22 तथा 2022-23 सत्र के लिए इंडियन सोसाइटी आफ एनेस्थेसियोलाजिस्ट (आईएसए) यूपी चौप्टर के अध्यक्ष के रूप में चयनित किया गया है।
आईएसए यूपी चौप्टर के अध्यक्ष के रूप में उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में आयोजित यूपीआईएसएसीओएन सम्मेलन में ‘डिसेक्टिंग एयरवे मैनेजमेंट – चूज़ और लूज़’ विषय पर अपने व्याख्यान में आक्सीजन और वेंटिलेशन के लिए एक सुरक्षित मार्ग बनाए रखने के उद्देश्य से चिकित्सा प्रक्रियाओं और उपकरणों की एक विस्तृत श्रृंखला के कुशल मूल्यांकन, योजना और उपयोग को चित्रित किया।
उन्होंने विस्तार से बताया कि कैसे बुनियादी वायुमार्ग अभ्यास एक महत्वपूर्ण कदम हैं और कैसे गंभीर या लगातार वायुमार्ग कठिनाई वाले रोगियों को आमतौर पर उन्नत वायुमार्ग उपकरणों की आवश्यकता होती है।
प्रोफेसर मुईद अहमद ने कहा कि पूरे देश और दुनिया के विभिन्न हिस्सों के एनेस्थेसियोलाजिस्ट और अन्य संबद्ध विशेषता वाले पेशेवरों ने अपनी विशेषज्ञता में वृद्धि करने के लिए सम्मेलन में भाग लिया। यूपीआईएसएसीओएन सम्मेलन में उन्होंने वायुमार्ग प्रबंधन कार्यशाला का भी निर्देशन किया।
————————–
जेएनएमसी ओपीडी में मरीजों की संख्या में इजाफा
अलीगढ़, 4 अक्टूबरः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कालेज में बाह्य रोगी विभाग (ओपीडी) सेवाओं के अंतर्गत देखे जाने वाले रोगियों की संख्या बढ़ा दी गयी है। विभिन्न विभागों में डॉक्टर अब एक दिन में 100 से 200 मरीजों को चिकित्सकीय परामर्श देंगे। रोगियों कि संख्या में वृद्धि सोमवार, 4 अक्टूबर से लागू हो गयी।
चिकित्सा अधीक्षक प्रोफेसर हारिस एम खान ने बताया कि ईएनटी, पीडियाट्रिक्स, रेडियोडायग्नोसिस, आर्थोपेडिक सर्जरी, डरमाटोलोजी, सायकेट्री, जनरल सर्जरी, मेडीसिन, मेडीसिन फालोअप, प्लास्टिक सर्जरी, आब्सटेट्रिक्स एण्ड गायनाकोलोजी, एएनसी, रेडियोथेरेपी तथा आप्थलमोलोजी, में प्रति दिन 200 मरीज सप्ताह में सभी दिन देखे जायेंगे। जबकि वेलबेबी क्लीनिक में मंगलवार, गुरूवार तथा शनिवार को तथा डायबिटीज एण्ड इंडोक्राइनोलोजी विभाग में सोमवार, मंगलवार, गुरूवार तथा शुक्रवार को 200 मरीज देखे जाऐंगे।
इसके अतिरिक्त स्पोर्ट्स एण्ड आर्थ्रोस्कोपी (सुपर स्पेशिलिटी) में मंगलवार, टयूमर क्लनिक (सुपर स्पेशिलिटी) में मंगलवार, स्पाइन क्लीनिक (सुपर स्पेशिलिटी) में गुरूवार, पीडियाट्रिक आर्थो क्लीनिक (सुपर स्पेशिलिटी) में सोमवार, आर्थोप्लास्टी क्लीनिक हिप एण्ड नी (सुपर स्पेशिलिटी) में बुधवार, फीजियोथेरापी/वर्कशाप में सभी दिन, पेन क्लीनिक में सोमवार, बुधवार तथा शनिवार, एनेस्थीसियोलोजी में सभी दिन, जीएस फालोअप क्लीनिक में सभी दिन, जीएस स्पेशल ओपीडीज़ में मंगलवार, बुधवार, गुरूवार तथा शुक्रवार, यूरोलोजी जीएस स्पेशल ओपीडी में मंगलवार / शुक्रवार, न्यूरोसर्जरी में सोमवार, बुधवार तथा शनिवार, सीटीवीएस में मंगलवार तथा शुक्रवार, नेफरोलोजी (सुपर स्पेशिलिटी) में सोमवार, रियूमाटोलोजी (सुपर स्पेशिलिटी) में शनिवार, न्यूरोलोजी (सुपर स्पेशिलिटी) में बुधवार, कार्डियोलोजी (सुपर स्पेशिलिटी) में सोमवार, मंगलवार, गुरूवार तथा शनिवार, जीई क्लीनिक (सुपर स्पेशिलिटी) में शुक्रवार, टीबी तथा चैस्ट में सभी दिन, ऐस्थेटिक क्लीनिक (सुपर स्पेशिलिटी) में मंगलवार, क्लेफ्टलिप तथा पैलेट क्लीनिक (सुपर स्पेशिलिटी) में गुरूवार, हैंड क्लीनिक (सुपर स्पेशिलिटी) में शनिवार, पीडियाट्रिक सर्जरी में सोमवार/शुक्रवार तथा इनफर्टीलिटी क्लीनिक (सुपर स्पेशिलिटी) में शनिवार को 100 – 100 मरीज देखे जायेंगे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें