सीवर लाइन पूरी तरह से चौक है तो जयवाणी रसायन उद्योग को कैसे हो गया भुगतान? पार्षद ने उठाया सवाल

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| वार्ड नंबर 52 (जनकपुरी),क्षेत्र, रामघाट रोड महाजन होटल से लेकर जनकपुरी तक सीवर लाइन व मेनहोल सफाई के कार्य की जांच की गई उपरोक्त जांच 2 दिन पूर्व रात को अन्य क्षेत्र में की गई थी। उसके उपरांत आज क्षेत्रीय पार्षद पुष्पेंद्र सिंह जादौन के वार्ड नंबर 52 क्षेत्र में की गई। निर्वतमान उपसभापति एवं क्षेत्रीय पार्षद पुष्पेंद्र कुमार जादौन ने कहा की नगर निगम के अधिकारी उक्त जांच को रात के अंधेरे में ठेकेदार व जलकल विभाग के अधिकारियों के भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने के लिए बिना क्षेत्रीय पार्षद को अवगत कराएं रात के अंधेरे में जांच को गुपचुप तरीके से कर रहे थे ।
शिकायतकर्ता पुष्पेंद्र कुमार जादौन को जब विशेष सूत्रों से जानकारी हुई तो उन्होंने क्षेत्रीय जनता को साथ लेकर अधिकारियों के सामने विरोध प्रदर्शन किया और कहा कि नगर निगम के अधीनस्थ विभाग जलकल संस्थान का सीवर सफाई और नाले सफाई का यह भ्रष्टाचार बहुत बड़ा है जिसमें जलकल विभाग के अधिकारी और संबंधित फर्म के ठेकेदार की मिलीभगत से नगर आयुक्त जी की आंख में धूल झोंकने का कार्य किया जा रहा है इसकी मैं घोर निंदा कर कड़ा विरोध करता हूं। क्षेत्रीय पार्षद पुष्पेंद्र कुमार जादौन ने जांच कमेटी के अध्यक्ष सहायक नगर आयुक्त को चेतावनी दी कि यह जांच दिन के उजाले में क्षेत्रीय जनता व मीडिया कर्मियों के सामने होनी चाहिए जिससे दूध का दूध पानी का पानी हो जाए और दोषी पाए जाने पर संबंधित फर्म ठेकेदार व अधिकारियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। और चोक पड़ी हुई सीवर लाइन व नालों को जल्द से जल्द साफ किया जाए जिससे क्षेत्रीय जनता को समस्या से निदान मिल सके नहीं तो मुझे धरने पर बैठने के लिए बाध्य होना पड़ेगा ।और 3 दिन के अंदर अगर इस समस्या से जनता को निदान नहीं मिला और इस जांच के द्वारा संबंधित ठेकेदारों अधिकारियों को ब्लैक लिस्टेड कर कठोर से कठोर कार्रवाई नहीं की गई तो मजबूरन मुझे अपनी क्षेत्रीय जनता के साथ धरने पर बैठने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। अलीगढ़ नगर निगम के अधीनस्थ संस्था जलकल संस्थान में ठेकेदार व अधिकारियों की मिलीभगत से भ्रष्टाचार करने, क्षेत्रीय जनता को परेशान करने, और सरकार की छवि को धूमिल करने का कार्य खुली आंखों से दिन के उजाले में किया जा रहा है।जलकल विभाग के अधिकारियों द्वारा कुछ महीनों पूर्व अलीगढ़ शहर के वार्ड नंबर 52 जनकपुरी के रामघाट रोड क्षेत्र में महाजन होटल से लेकर जनकपुरी तक सीवर सफाई और नाले सफाई का कार्य और कई अन्य स्थानों पर भी नाली सफाई और सीवर सफाई का कार्य अन्य वार्डो में निविदा आमंत्रित कर कराया गया। जिसमें गाजियाबाद की जुल्फा कंपनी ने भागीदारी की और उस कंपनी को उपरोक्त कार्य स्वीकृत भी किया गया। भ्रष्टाचार, घोटाले व कार्य की अनियमितताये जनता को देखने को मिलती है जब नगर निगम में सीवर सफाई और नाला सफाई हेतु, करोड़ों रुपए की दो-दो सुपर सकर मशीन खड़ी हुई है और नगर निगम के सीवर विभाग के और नाला सफाई के कुशल परमानेंट कर्मचारी भी मौजूद है उसके बावजूद भी एक प्राइवेट कंपनी को निविदा आमंत्रित कर कार्य क्यों दिया गया| उसके उपरांत उस प्राइवेट कंपनी को कार्य स्वीकृत कर अधिकारियों की मिलीभगत से कार्य स्वीकृत किया गया सिंगल फर्म को और आधा अधूरा उल्टा सीधा कार्य कराकर टहला दिया गया। उसके उपरांत अपनी सेटिंग के दूसरे अन्य फर्म व ठेकेदार जयवाणी रसायन उद्योग फर्म ठेकेदार रविंद्र कुमार शर्मा उर्फ रवि शर्मा से सहमति पर स्वीकृति दरों पर कार्य कराने का कार्य आदेश दिया गया और मनमानी तरीके से उसका मेजरमेंट भी कर दिया गया। जब नगर निगम के पार्षदों को पता चला कि उक्त कार्य तो नगर निगम की मशीन व नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा किया गया है और शेष कार्य आज तक हुआ ही नहीं है|

जनकपुरी महावीर पार्क रामघाट रोड और अन्य स्थानों की सीवर लाइन वाले पूरी तरह से चोक है तो जयवाणी रसायन उद्योग की फर्म के ठेकेदार रविंद्र कुमार शर्मा के कार्य का मेजरमेंट कर के भुगतान के लिए क्यों पत्रावली स्वीकृत कर दी गई। निर्वतमान उपसभापति पुष्पेंद्र जादौन क्षेत्रीय पार्षद होने के नाते से नगर निगम बोर्ड बैठक में भी सबाल उठाया और माननीय नगर आयुक्त महोदय को प्रार्थना पत्र के माध्यम से भी अवगत कराया और मौखिक रूप से भी नगर आयुक्त महोदय व महाप्रबंधक जल को भी अवगत कराया । उक्त कार्य को कुछ अधिकारियों व ठेकेदारों की मिलीभगत से भ्रष्टाचार करने का कार्य किया जा रहा है जिस पर कुछ पार्षदों व क्षेत्रीय पार्षद पुष्पेंद्र कुमार सिंह की शिकायत पर माननीय नगर आयुक्त महोदय ने एक जांच कमेटी बनाई गई। जिसमें नगर निगम के सहायक नगर आयुक्त ठाकुर दास, अधिशासी अभियंता निर्माण भाटी जी जलकल विभाग के अवर अभियंता लक्ष्मण सिंह जी, सेनेटरी सुपरवाइजर और क्षेत्रीय पार्षद व शिकायतकर्ता को रखा गया । उपरोक्त जांच कमेटी द्वारा रात के अंधेरे में बिना क्षेत्रीय पार्षद को सूचना करें, बिना जनता को विश्वास में लिए, बिना मीडिया के संज्ञान में लाएं पर्दा डालने का कार्य किया जा रहा है। जिसकी घोर निंदा निर्वतमान उपसभापति एवं क्षेत्रीय पार्षद पुष्पेंद्र सिंह जादौन ने अपने साथियों पार्षदों के साथ की और उसकी पुनः शिकायत नगर निगम मैं की और इसका एक प्रार्थना पत्र शिकायत पत्र मान्य कमिश्नर महोदय और उत्तर प्रदेश शासन को देने की चेतावनी दी और यह जांच पर्दाफाश करने के लिए है ना कि भ्रष्ट अधिकारी और काली सूची के ठेकेदारों की कार्य पर पर्दा डालने के लिए है। जनता त्राहि-त्राहि मचा रही है पूरा वार्ड क्षेत्र की नालियां पानी से भर रही है सीवर से अटी पड़ी है और ठेकेदार और संबंधित अधिकारी मजे मार रहे हैं जिसको कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा|

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!