अलीगढ़| कमरे में बंद होकर अधिवक्ता ने खुद को गोली से उड़ाया, जानिए आत्महत्या की बजह?

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ़| थाना क्वार्सी इलाके के विष्णु पुरी में अधिवक्ता खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। दोपहर लगभग दो बजे एडवोकेट अपने कमरे में गए थे और अंदर से कमरा बंद कर लिया था। जहाँ उन्होंने कनपटी पर तमंचे से गोली मार ली। गोली की आवाज सुनकर परिजन व आसपास के लोग दौड़ कर पहुंचे। घटना की जानकारी पाकर क्वार्सी पुलिस व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए और जांच शुरू की। जानकारी के मुताबिक, विष्णुपुरी निवासी 50 वर्षीय आशीष कौशल पुत्र महेंद्र कुमार कौशल सीनियर एडवोकेट थे और अलीगढ़ में ही प्रैक्टिस करते थे। विष्णुपुरी स्थित अपने मकान में अपनी पत्नी व बेटे के साथ रहते थे। घर पर उनके भाई और उनका परिवार भी साथ ही रहता है। उनकी पत्नी शिक्षिका हैं और बेटा जिले के बाहर रहता है। गुरुवार को जब उन्होंने आत्महत्या की, उस समय उनकी पत्नी अपने स्कूल गई थी। परिजनों ने बताया कि आशीष मानसिक रूप से परेशान चल रहे थे, जिसके चलते उन्होंने ऐसा कदम उठाया है।

…छोड़ा सुसाइड नोट लिखा होश हवास में आत्महत्या कर रहे हैं
आत्महत्या करने के पहले अधिवक्ता ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि वह अपने पूरे होश हवास में आत्महत्या कर रहे हैं। इसमें उनके परिवार या किसी अन्य का कोई लेना देना नहीं है और उन्हें परेशान न किया जाए। नोट में उन्होंने यह भी लिखा है कि व डिप्रेशन के रोगी थे और अपनी बीमारी के कारण काफी ज्यादा परेशान चल रहे थे।

…पुलिस ने शव मोर्चरी भेजा
घटना की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में साथी अधिवक्ता और बार के पदाधिकारी मौके पर पहुंच गए। क्वार्सी थाना प्रभारी विजय सिंह व सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह मौके पर आ गए। फारेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य एकत्र किए। जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए मोचरी भेज दिया। इधर, इंस्पेक्टर विजय सिंह ने बताया कि अधिवक्ता ने सुसाइड नोट में बीमारी से परेशान होकर यह कदम उठाने की बात लिखी है। उन्होंने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। अन्य पहलुओं पर जांच की जा रही है।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!