विधानसभा चुनाव से पहले MODI ने अलीगढ़ को दिया दोहरा तोहफ़ा, पढ़िये… मोदी के भाषण की बड़ीबातें

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़।राजा महेंद्र प्रताप यूनिवर्सिटी और डिफेंस कॉरिडोर की आधारशिला रखने के लिए अलीगढ़ पहुंचे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां पर एक तीर से दो निशाने साधे। उन्होंने यहां पर यूनिवर्सिटी व डिफेंस कॉरिडोर के मॉडल का निरीक्षण करने के बाद अपने अभिभाषण में जहां योगी सरकार की महत्वपूर्ण उपलब्धियों का जिक्र किया तो वहीं विरोधियों पर भी तंज कसते हुए आगामी विधानसभा चुनाव के लिए शंखनाद किया औऱ जनता का सहयोग औऱ समर्थन मांगा।उन्होंने कहा कि अब तक अलीगढ़ ना सिर्फ लोगों के घर व दुकान की रक्षा करता था लेकिन 21वीं सदी में अब यही अलीगढ़ देश की सैन्य शक्ति में इजाफा करते हुए भारत की सीमा की रक्षा करेगा।

आपको बता दें कि यहां पर अपने अभिभाषण की शुरुआत में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल के अलावा मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के अलावा सभी सांसद विधायक और मंत्री गणों के अतिरिक्त आम जनता का आभार जताया और सभी को राधा अष्टमी की बधाई दी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बृज के कण-कण में श्री राधा का वास है और यह बड़े सौभाग्य का विषय है कि राधा अष्टमी के दिन यहां पर विकास कार्य की है कितनी बड़ी शुरुआत होने जा रही है।उन्होंने कहा कि यद्यपि आज इस धरती के महान सपूत स्वर्गीय कल्याण सिंह की कमी होने महसूस होती है लेकिन इस पुनीत पावन अवसर को देखकर निश्चित ही उनकी आत्मा आशीर्वाद देती होंगी।

PM Modi Breaking: आरहे है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसलिए अलीगढ के यह रस्ते रहेंगे बंद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे हजारों वर्ष का इतिहास तमाम राष्ट्र भक्तों से भरा है जिन्होंने अपने त्याग तपस्या से इस भारत देश को दिशा और दशा दी और सब कुछ इस राष्ट्र पर कुर्बान कर दिया मगर देश का दुर्भाग्य है कि पिछली सरकारों ने ना जाने कितनी पीढ़ियों को इनकी यश गाथाओं को जानने से वंचित कर दिया।उन्होंने राजा महेंद्र प्रताप के अलावा सुहेलदेव छोटूराम दीनबंधु जैसी महान विभूतियों का जिक्र किया और कहा कि आज भारत देश अपनी पिछली गलतियों को सुधारते हुए इन महापुरुषों के राष्ट्र निर्माण में दिए गए योगदान को आने वाली पीढ़ी से परिचित करा रहा है और आजादी के अमृत महोत्सव में ऐसा किया जाना बेहद आवश्यक है साथ ही इन प्रयासों में लगातार तेजी लाई जा रही है।उन्होंने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप यूनिवर्सिटी इसी कड़ी का एक हिस्सा है और बड़े सपने देखने वाले युवाओं को राजा साहब के चरित्र का अवलोकन जरूर करना चाहिए क्योंकि राजा साहब के महान जीवन चरित्र में कुछ भी कर गुजरने की जीवटता देखने को मिलती है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुताबिक राजा महेंद्र प्रताप ने भारत की आजादी के लिए अपना जीवन गुजार दिया और वह इसके लिए तमाम खतरों को पार करते हुए जापान,पोलैंड, अफगान और दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों में गए।उन्होंने कहा इस अवसर पर उन्हें गुजरात के श्यामजी कृष्ण वर्मा का स्मरण होता है जब प्रथम विश्व युद्ध के समय राजा महेंद्र प्रताप लाला हरदयाल और श्यामजी कृष्ण वर्मा से मिलने के लिए यूरोप तक गए थे। और वहां पर बनाई गई रणनीति का परिणाम अफगानिस्तान में देखने को मिला था।

उन्होंने कहा कि जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब श्यामजी कृष्ण वर्मा की अस्थियों को भारत लाने का सौभाग्य उन्हें प्राप्त हुआ यह गौरव की बात है और इससे भी ज्यादा गौरव की बात यह है कि आज वह अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर एक यूनिवर्सिटी की सौगात यहां जनता को देने आए हैं।खास बात ये है कि यहां उपस्थित भीड़ का अपार जनसैलाब देखकर गदगद हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जनता जनार्दन का दर्शन शक्ति दायक होता है।उन्होंने एक बार फिर राजा साहब का जिक्र करते हुए कहा कि राजा साहब ने अपने व्यक्तिगत अनुभव और प्रयासों से उस जमाने में भी शिक्षा का व्यापक प्रचार प्रसार किया और व्यक्तिगत स्तर पर विश्वविद्यालयों की स्थापना के लिए अपने निजी जमीन दान में दीं।उन्होंने कहा कि आज 21वीं सदी में आज का भारत उनके सपने को साकार करते हुए शिक्षा और कौशल के रास्ते पर चल रहा है जबकि विश्वविद्यालय का निर्माण यहां पर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है और इसके लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार बधाई की पात्र है।प्रधानमंत्री ने डिफेंस कॉरिडोर की बात करते हुए कहा कि यहां पर पढ़ाई और आधुनिक टेक्नोलॉजी वाला एक नया सेंटर स्थापित होगा क्योंकि इस प्रकार की पढ़ाई आगे चलकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति का हिस्सा बनेगी और शिक्षा नीति में इस पर बल दिया गया है जबकि इस प्रकार की शिक्षा से छात्र-छात्राएं आत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ेंगे और आत्मनिर्भर बनकर एक नए भारत का निर्माण करेंगे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो भारत पहले रक्षा से जुड़े उत्पादों की खरीदारी किया करता था वही भारत का 75 साल बाद रक्षा से जुड़े उत्पादों का एक्सपोर्टर बनेगा और उत्तर प्रदेश इस बदलती पहचान का सबसे बड़ा केंद्र होगा।प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने अलीगढ़ नोड की प्रगति का अवलोकन करने के बाद यहां पर पाया कि देश की नामी-गिरामी लगभग डेढ़ दर्जन कंपनियां करोड़ों रुपए निवेश करके यहां के युवाओं को नए रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए बिल्कुल तैयार हैं और यहां डिफेंस कॉरीडोर में छोटे हथियार आयुध,ड्रोन एयरोस्पेस,एंट्री ड्रोन सिस्टम,डिफेंस पैकेजिंग के अलावा तमाम तरह के उत्पाद बनेंगे जो बदलाव की एक नई पहचान देंगे।इस दौरान  अपने उदबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने बचपन से जुड़े एक किस्से का जिक्र करते हुए मन की बात कही और कहा कि गुजरात के अंदर उनके गांव में काली जैकेट पहनकर अलीगढ़ से एक सेल्समैन ताले बेचने के लिए आया करते थे और उनकी पिताजी से दोस्ती थी।जबकि वह क़भी कभी अपने रुपये पैसे भी उनके पिताजी के पास रख दिया करते थे।इसके अलावा गांव में आंख की समस्या होने पर  सीतापुर की याद आती और इसलिए अलीगढ़ से उनका व्यक्तिगत रिश्ता रहा है और यह उनके लिए गौरव की बात है कि इक्कीसवीं सदी में उनका अलीगढ़ हिंदुस्तान की सीमा पर रक्षा करेगा।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वन डिस्टिक वन प्रोजेक्ट की बात कही और कहा ऐसा हो जाने के बाद युवा और नए उद्यमी प्रोत्साहित होंगे और उन्हें विशेष लाभ होगा उन्होंने कहा कि वह लखनऊ में ब्रह्मोस बनाने जा रहे हैं इसके लिए 9हजार करोड रुपए निवेश किया जाएगा वहीं झांसी में भी बड़ी यूनिट बनकर तैयार होंगी जबकि उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ के अंदर बड़े निवेश होंगे और रोजगार के नए अवसर मिलेंगे इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री योगी जी के कुशल प्रबंधन की सराहना की और कहा उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सबका साथ सबका विकास करने के साथ-साथ डबल इंजीनियरिंग के फार्मूले में भी बिल्कुल सफल साबित हुई है जबकि इसे और आगे बढ़ाने के लिए जनता के निरंतर साथ की आवश्यकता है उन्होंने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश में बड़े फैसले लिए जाने की चर्चा अन्य जगहों पर भी की जाती है और यहां पर नोएडा जेवर के अलावा अन्य जगहों पर भी अपार संभावनाएं विकसित हो रही हैं साथ ही मेरठ की स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी हॉकी के जादूगर के नाम पर समर्पित होगी और लखनऊ व प्रयागराज भी इसमें शामिल हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर पूर्व की सरकारों का बिना नाम लिए जिक्र किया और कहा कि यहां पर पहले राजकाज भ्रष्टाचारियों के हवाले था जब गुंडे माफिया सरकार चलाते थे लेकिन अब वसूली करने वाले सलाखों के पीछे हैं और बहन बेटियां भी अपने आप को सुरक्षित महसूस करती हैं। उन्होंने आगे कहा कि योगीराज में हर गरीब की सुनवाई होती है और हर व्यक्ति का मान सम्मान सुरक्षित है, जबकि यहां मुफ्त वैक्सीन के साथ साथ आठ करोड़ से भी ज्यादा टीके लगाए जाने के अतिरिक्त सबसे ज्यादा टीकाकरण का रिकॉर्ड भी उत्तर प्रदेश के नाम शामिल है।उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जो गरीब थे वह सरकार की प्राथमिकता पर रहे इसलिए उन्हें भुखमरी से बचाने के लिए सरकार ने वह किया जो बड़े-बड़े देश नहीं कर पाए और उत्तर प्रदेश जिसमें कदम से कदम मिलाकर साथ चला।

इधर अपने उदबोधन के आखिरी क्षणों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह का जिक्र किया और कहा कि उन्होंने खेती और मजदूरी करने वाले किसान के सुधारों के लिए अतुलनीय प्रयास किए और छोटे किसानों की उन्हें बेहद चिंता थी।प्रधानमंत्री के मुताबिक देश में लगभग 80% से ज्यादा छोटे किसान हैं और उनको ताकत दिए जाने के लिए सरकार जी तोड़ मेहनत कर रही है जबकि इसी के लिए एक लाख करोड रुपए इन के खाते में डाले गए जिसमें 25हजार करोड रुपए उत्तर प्रदेश के किसानों के खाते में आए।उन्होंने कहा कि 4 साल में एमएसपी पर खरीदारी रिकॉर्ड पर रही जबकि गन्ने के भुगतान की समस्या का धीरे धीरे खात्मा किया जा रहा है और आने वाले वक्त में गन्ना किसानों के लिए भी संभावनाओं के दरवाजे खुले हुए हैं।अंत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आने वाले वक्त में उत्तर प्रदेश को विकास विरोधी ताकतों से बचाना है और ऐसा राष्ट्र नायकों की प्रेरणा से निश्चित ही सफल हो पाएगा ऐसा उनका विश्वास है।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!