जन सेवा केन्द्र संचालकों के लिए जिलाधिकारी ने दी चेतावनी, यह गलती की तो होगी कार्रवाई..

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: जन सेवा केन्द्र संचालकों के द्वारा प्रमाण पत्र ऑन लाईन किये जाने एवं आवेदन क्रमांक जनरेट होने के उपरांत उसी दिन आवेदन को अग्रिम जॉच हेतु अग्रसारित नही किया जा रहा है। आवेदन क्रमांक जनरेट होने के पश्चात केन्द्र संचालक उन आवेदनों को अपने पास ही सुरक्षित रखते तथा कई दिनों के उपरांत अग्रसारित किये जा रहे हैं, जिसके कारण आवेदनों के निस्तारण समयावधि मे से अधिकतर समय जन सेवा केन्द्र संचालकों के पास ही व्यतीत हो जाता है तथा केन्द्र संचालकों के द्वारा कई दिनों के पश्चात आवेदन अग्रसारित करने के वजह से जांचकर्ता(लेखपाल) /जारीकर्ता (तहसीलदार/उप जिलाधिकारी/सम्बन्धित अधिकारी) के पोर्टल में आवेदन डिफाल्टर(समयावधि के पश्चात) की स्थिति में पहुँचता है।
2. आय प्रमाण प्राप्त करने हेतु आवदकों को आवेदन ऑनलाईन करते समय जनसेवा केन्द्र संचालकों के द्वारा आवेदन प्रारूप में व्यवसाय कॉलम में सभी आवेदकों के लिये मजदूरी विकल्प ही भरा जा रहा है, जो कि गलत है। उपरोक्त दोनो कार्य गम्भीर लापरवाही का द्योतक हैं तथा क्षमा योग्य नही हैं। अतः समस्त केन्द्र संचालकों को चेतावनी के स्पष्ट निर्देष दिये जाते है कि जन सेवा केन्द्र संचालक ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर आवेदकों के ऑन लाईन आवेदनो को आवेदन के समय ही/उसी दिन अग्रसारित करना सुनिष्चित करें। साथ ही आय प्रमाण पत्र हेतु आवेदन प्रारूप में आवेदक का सही व्यवसाय अंकित करें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी। यदि किसी केन्द्र संचालक के द्वारा ऑन लाईन आवेदनों को आवेदन के समय ही/उसी दिन अग्रसारित न करने तथा आय प्रमाण पत्र हेतु आवेदन प्रारूप में सही व्यवसाय नही भरा जाता है तो उसके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। इस संदर्भ में डीएम अलीगढ़ श्रीमती सेल्वा कुमारी जे के निर्देश पर अपर जिलाधिकारी (वित्त/ राजस्व)/ नोडल अधिकारी ई गवर्नेंस जनपद अलीगढ़ श्री विधान जायसवाल ने कार्यालय पत्र जारी किया है।

घर काम भी नहींं करती पत्‍नी और नहाती भी नहीं है, मुझे चाहिए तलाक …वूमेन प्रोटेक्शन सेल में आयी अर्जी

…सरकारी अस्पतालों में किसी भी सुविधा के लिए यदि पैसे की मांग की जाती है तो कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज करें, शिकायतकर्ता का विवरण रखा जाएगा गुप्त – सीडीओ।
अलीगढ: लगातार संज्ञान में आ रहा है कि मलखान सिंह जिला अस्पताल, पंडित दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय, मोहनलाल गौतम महिला चिकित्सालय एवं जनपद के प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर पर्चा बनवाने, इलाज कराने, एक्सरे, अल्ट्रासाउंड, सीटी स्कैन, खून की जांच या भर्ती कराने, वैक्सीन लगवाने, कोविड की जांच कराने आदि के नाम पर मरीजों अथवा उनके तीमारदारों से पैसे की मांग की जा रही है। इसे गंभीरता से लेते हुए डीएम श्रीमती सेल्वा कुमारी जे ने इस प्रकार की शिकायतों पर अंकुश लगाने के लिए सीडीओ श्री अंकित खण्डेलवाल को निर्देशित किया है।

डीएम श्रीमती जे के निर्देशों के क्रम में सीडीओ श्री खण्डेलवाल ने जनता से अपील की है कि किसी भी सरकारी अस्पताल में इलाज या इलाज से संबंधित किसी भी प्रकार की जांच कराने, भर्ती कराने, कोविड की जांच कराने, वैक्सीन लगवाने अथवा दवाओं के नाम पर यदि अस्पताल के किसी स्टाफ या डॉक्टर के द्वारा पैसों की मांग की जाती है तो कंट्रोल रूम के 02 डेडिकेटेड नंबरों 05712420151 तथा 05712420141 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। शिकायतकर्ता का नाम व विवरण गुप्त रखा जाएगा।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!