#Breaking:पलवल और हरियाणा के शहरों में छुपता छुपाता भाग रहा था मासूम का हत्यारोपी, देर रात गिरफ्तार

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ: थाना गौण्डा क्षेत्र की सनसनीखेज घटना में एसएसपी अलीगढ़ कलानिधि नैथानी के नेतृत्व में , पुलिस अधीक्षक ग्रामीण , क्षेत्राधिकारी इगलास, थाना गौण्डा/ एसओजी/ सर्विलांस टीमों को मिली बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने 48 घंटे के अंदर घटना का सफल अनावरण कर मासूम के हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार किया गया युवक मृतका के परिवार का पूर्व परिचित और घर से कुछ ही दूरी पर ही रहने वाला है. आरोपी हत्यारा उसी बिरादरी/जाति का है जिससे मृतिका थी. गांव में 04 वर्षीय बच्ची के गायब हो जाने के सम्बन्ध में गुमशुदगी के आधार पर तत्काल मुकदमा पंजीकृत किया गया था । व्यापक खोजबीन के बाद दिनांक 27.09.21 को समय करीब 11.30 बजे बच्ची का शव पुलिस व परिजनों द्वारा गांव के निकट धान के खेत में पानी के गड्डे में मिला ।घटना को गम्भीरता से लेते हुए एसएसपी कलानिधि नैथानी द्वारा स्वयं मौके पर पहुँचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया । घटना के शीघ्र अनावरण हेतु मौके पर ही एक टीम एसपी ग्रामीण, एक टीम थाना स्तर व दो टीमें जनपद स्तर पर, कुल चार टीमें गठित की गयी टीमों को ब्रीफ कर घटना के बाद से गांव से गायब हुए अपराधिक/ नशेड़ी प्रवृत्ति के व्यक्तियों की पूर्ण जानकारी कर वास्तविक अभियुक्त का पता लगाने हेतु निर्देशित किया गया । अतिरिक्त फोर्स बाबर्दी एवं सादे बस्त्रों में लगाया गया । टीमों द्वारा सुरागरसी पतारसी करते हुए समस्त दुकानदार/पड़ोसी आदि से जानकारी प्राप्त करते हुए कई संदिग्ध चिन्हित किए।

विवेचक को मुकद्दमा उपरोक्त में PMR रिपोर्ट प्राप्त कर हत्या एवं हत्या के साक्ष्य छिपाने, पॉक्सो एक्ट की धाराओं को सम्मिलित किया गया । मृतका के शव का पोस्टमार्टम डॉक्टरों के पैनल एवं फोरेंसिक एक्सपर्ट की उपस्थिति में वीडियोग्राफी के साथ कराया गया । एसएसपी महोदय के निर्देशन में गांव में दो दिन तक अतिरिक्त फोर्स व टीमें वावर्दी एवं सादे बस्त्रों में कैंप कराते हुए, थाना गौण्डा पुलिस और जनपदीय क्राइम टीम द्वारा गांव के करीब 200 से अधिक लोगों से गहन पूछताछ की गयी ।

सभी साक्ष्यों को संकलित करते हुए गहनता से पूछताछ में यह बात प्रमाणित हुई कि घटना से पूर्व अन्तिम बार मृतका के साथ उसी के गांव के एक युवक अर्जुन पुत्र फूल सिंह (जाटव) को देखा गया था जो कि मृतका के परिवार से पूर्व परिचित है तथा घर से कुछ ही दूरी पर रहता है और उसी बिरादरी/जाति का है- तथा पूर्व में आपस में उसका उठना बैठना रहा है, उपरोक्त संदिग्ध अभियुक्त की समस्त जानकारी अल्प समय में प्राप्त कर पता चला कि वह घटना के बाद से ही गांव से फरार हो गया है तथा खैर, पलवल व हरियाणा के शहरों में छुपता छुपाता भाग रहा है, उपरोक्त का पीछा करने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा मुख्यालय स्तर से दो अतिरिक्त टीमें लगाई गयीं । अभियुक्त अर्जुन दिशा बदल कर आगरा की तरफ अपनी रिश्तेदारियों में छिपने हेतु प्रयासरत हुआ जिसमें टीमों को सफलता प्राप्त हुई अभियुक्त अर्जुन को हिरासत में लिया गया। जिससे विवेचना के क्रम में घटना से सम्बन्धित विस्तृत पूछताछ जारी है ।

अतरौली तहसील के समाधान दिवस में जिलाधिकारी के सामने क्या रही बड़ी शिकायते?

अर्जुन द्वारा जुर्म स्वीकार करते हुए अपराध बोध प्रकट किया गया । अभियुक्त अर्जुन उपरोक्त से पूछताछ/ विवेचना के क्रम में प्राप्त जानकारी अनुसार विस्तृत प्रेस नोट पृथक से जारी किया जायेगा, विवेचना प्रचलित है । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा अभियुक्त के विरुद्ध रासुका के तहत कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं साथ ही वैज्ञानिक तथ्यों के आधार पर सटीक विवेचना करते हुए उपरोक्त अपराधी को शीघ्र कठोरतम सजा दिलवाने के लिए आदेशित किया गया एसएसपी महोदय ने घटना का सफल अनावरण करने वाली समस्त टीमों को शाबाशी देते हुए अग्रेतर कार्यवाही जारी रखने के लिए आदेशित किया ।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें
error: Content is protected !!