कल्याणसिंह के गृहक्षेत्र अतरौली में नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों को DM ने क्या दिया गुरुमंत्र, जानिए?

अतरौली/हरदुआगंज खैर & इगलास

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अतरौली: सभी प्रधान दलगत भावना से ऊपर उठकर अपने-अपने ग्राम क्षेत्र का चहुॅमुखी एवं समेकित विकास करें। आपके ग्रामवासियों द्वारा किये गये मतदान के फलस्वरूप आप प्रधान के रूप में चुने गये हैं, अब सम्पूर्ण गॉव आपका है। बिना किसी भेदभाव के गॉव की आवश्यकता के अनुरूप कार्य करें। प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की रोजगारपरक एवं जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रहीं हैं। पात्र एवं जरूरतमंद लाभार्थियों को लाभान्वित कराएं। केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा विकास कार्यों के लिए आवंटित धनराशि का बेहतर सदुपयोग करते हुए विकास कार्यों पर खर्च करें ताकि ग्रामीण जीवन में अपेक्षित परिवर्तन आ सके।

उक्त उद्गार जिला मजिस्ट्रेट सेल्वा कुमारी जे. ने अतरौली विकासखण्ड के सभागार में आयोजित ग्राम प्रधानों के प्रशिक्षण सत्र में व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि गॉव के विकास में प्रधानों की महत्वपूर्ण भूमिका है। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा जनसामान्य के हितार्थ चलाई जा रही योजनाओं का वृहद प्रचार-प्रसार करते हुए पात्रों को राहत पहुॅचाएं। उन्होंने नर सेवा को नारायण सेवा बताते हुए कहा कि आप किसी जरूरतमंद व्यक्ति की मदद कर अवश्य ही अपने विकास के मार्ग को प्रशस्त कर सकते हैं।

डीडीयू एवं जिला चिकित्सालय में स्थापित ऑक्सीजन उत्पादन संयत्रों का लोकार्पण

मुख्य विकास अधिकारी अंकित खण्डेलवाल ने बताया कि नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों के प्रशिक्षण का मुख्य उद््देश्य पंचायतीराज व्यवस्था, ग्राम पंचायत विकास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, पंचायत भवन, अन्त्येष्टि स्थल, पंचायत अवार्ड, वित्त आयोग एवं अन्य योजनाओं के बारे में प्रशिक्षित करना है। डीपीआरओ ने कहा कि सभी प्रधानगण सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का सभी ग्रामवासियों को एकसमान लाभ पहुॅचाने के लिए निरन्तर आगे बढ़कर कार्यवाही सनिश्चित करें, ताकि सरकार की मंशा के अनुरूप ग्रामीण क्षेत्रों का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित किया जा सके।

खण्ड विकास अधिकार संजय कुमार ने बताया कि शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में अतरौली विकास खण्ड के सभी 86 ग्राम प्रधानों को कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान में रखते हुए प्रशिक्षित किया गया है। प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे ग्राम प्रधानों को निदेशालय द्वारा उपलब्ध कराई गयी संदर्भ साहित्य पुस्तिका भी वितरित की गयी है। सभी ग्राम प्रधानों को जिलाधिकारी द्वारा प्रशिक्षण प्रमाण पत्र भी प्रदान किया गया है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला विकास अधिकारी भरत कुमार मिश्र एवं जिला पंचायतराज अधिकारी धनंजय जायसवाल उपस्थित रहे।

...हमारी खबरों को अपने फेसबुक पेज, ट्यूटर & WhatsAap Gruop के जरिये दोस्तों को शेयर जरूर करें