जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

DHS की बैठक मे संविदा कर्मी सलीम अहमद एसटीएलएस की सेवाएं समाप्त करने का हुआ निर्णय

0




जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक सम्पन्न

 


संविदा कर्मी सलीम अहमद एसटीएलएस की सेवाएं समाप्त करने का हुआ निर्णय


 अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आहुत की गयी। डीएम ने कहा कि सरकार सभी को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। सभी एमओआईसी सरकार की मंशा के अनुरूप चिकित्सकीय सेवाएं उपलब्ध कराएं। जननी सुरक्षा योजना में लाभार्थियों के भुगतान की स्थिति सुधारने के निर्देश दिये गये। संविदा कर्मी सलीम अहमद एसटीएलएस की सेवाएं समाप्त करने एवं काउंसलर प्रियंका सिंह के पुनः सेवा में आने के प्रस्ताव को ड्राप किये जाने का निर्णय लिया गया।


शासन की महत्वाकांक्षी जननी सुरक्षा योजना में सरकार द्वारा लाभार्थी को 1400 रूपये प्रसव के उपरांत दिये जा रहे हैं। जेएनएमसी एवं 100 शैय्या चिकित्सालय अतरौली में क्रमशः 56.27 एवं 76.88 प्रतिशत भुगतान रहा है। कई स्वास्थ्य केन्द्र 90 प्रतिशत से अधिक भुगतान कर रहे हैं। डीएम ने पुरजोर लगाकर भुगतान करने के निर्देश दिये। डीएम ने सीएमएस अतरौली डा0 दुर्गेश कुमार को बैकलॉग सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।


फर्स्ट रेफरल यूनिट में प्रसवों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये। मातृ मृत्यु दर को कम करने के सफल प्रयास करने के साथ ही प्रभावी डैथ ऑडिट करने के निर्देश दिये। दिसम्बर माह में 16 मातृ मृत्यु की सूचना दी गयी। मातृृ मृत्यु दर को कम करने के लिए एमओआईसी शहरी स्वास्थ्य केन्द्रों को चेतावनी दी गयी। डीएम ने स्पष्ट किया कि यदि मातृृ मृत्यु दर में कमी नहीं हुई तो कार्यवाही प्रस्तावित है।


हरदुआगंज, अकराबाद, चण्डौस के परिवार नियोजन में लक्ष्य से पीछे रहने पर नाराजगी प्रकट की गयी। आयुष्मान भारत के तहत कार्ड बनाने की धीमी हुई गति पर नाराजगी जाहिर करते हुए तेजी लाने के निर्देश दिये। 05 लाख की सहायता गरीब को दिलाने के लिए सरकार द्वारा आयुष्मान योजना लागू की गयी है, इसमें संवेदनशीलता एवं सहानुभूतिपूर्वक कार्य करें। आशाओं का भुगतान न किए जाने पर डीएम ने नाराजगी प्रकट करते हुए कहा कि वह छोटी धनराशि पर कार्य करती हैं, शत-प्रतिशत भुगतान करने के साथ ही अच्छा कार्य करने वालों को प्रोत्साहित एवं खराब कार्य करने वालों को दण्डित करें। उन्होंने कहा कि आशा रिपोर्टिंग में बेहतर कार्य हो रहा है, बिजौली में ध्यान देने की आवश्यकता है।


डीएम ने कहा कि स्वास्थ्य उपकेन्द्रों द्वारा अनटाइड फण्ड का भी समुचित उपयोग नहीं किया जा रहा है। धनीपुर, बिजौली, अतरौली द्वारा सबसे कम खर्च किया गया है। ई-संजीवनी एवं ई-कवच एप एवं आभा आईडी पर शत-प्रतिशत फीडिंग कराने के निर्देश दिये। एएमयू द्वारा कमिटिड बजट कम खर्च किया जा रहा है। जनपद द्वारा 38 प्रतिशत, वहीं जेएनएमसी द्वारा मात्र 03 प्रतिशत से भी कम की प्रगति पाई गयी। डीएम ने कहा कि पोषण पुनर्वास केन्द्रों को क्षमता के अनुरूप संचालित किया जाए। सीडीओ ने वीएचएनडी में ऊॅचाई मापक यंत्र इंफेडोमीटर को आंगनबाड़ी द्वारा ले जाना सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि अन्यथा की स्थिति में सीडीपीओ की जिम्मेदारी तय की जाएगी। नियमित टीकाकरण में जिले की प्रगति स्टेट एवरेज 85 प्रतिशत से कम 83 प्रतिशत रहने पर नाराजगी प्रकट करते हुए सुधार करने के निर्देश दिये। राष्ट्रीय कृमि दिवस 01 फरवरी के अवसर पर साप्ताहिक आयोजन करते हुए जिले में 01 से 19 आयुवर्ग की शत-प्रतिशत किशोरियों एवं बच्चों को आच्छादित किये जाने का लक्ष्य निर्धारित है।


बैठक में सीडीओ आकांक्षा राना, सीएमओ डा0 नीरज त्यागी समेत सभी सीएमएस, एमओआईसी एवं संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।


-----

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)