"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

एएमयू के यूनानी चिकित्सा संकाय में हुआ इंडक्शन कार्यक्रम, जबकि छात्राओं के लिए समर कोचिंग कैंप

 



अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़, 8 जूनः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय केयूनानी चिकित्सा संकाय अजमल खान तिब्बिया कॉलेज के नव प्रवेशित स्नातक, स्नातकोत्तर और इंटर्नशिप छात्रों के लिए तीन सप्ताह पर आधारित इंडक्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें छात्रों को तिब्बिया कॉलेज के लक्ष्यों और उद्देश्यों और विश्वविद्यालय के इतिहास एवं रिवायतों के बारे में जानकारी प्रदान की गई।


इस कार्यक्रम का आयोजन आयुष मंत्रालय के भारतीय चिकित्सा प्रणाली के राष्ट्रीय आयोग के निर्देशों के अनुसार यूनानी चिकित्सा संकाय के शिक्षकों और जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जेडीए) के सदस्यों ने संयुक्त रूप से किया।


उद्घाटन समारोह में, मुख्य अतिथि, जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी ने संक्रमणकालीन पाठ्यक्रम की उपयोगिता और डोमेन परिवर्तन के बारे में बताया। उन्होंने छात्रों और प्रशिक्षुओं को नई जिम्मेदारियों के लिए खुद को तैयार करने और यूनानी चिकित्सा प्रणाली में रोगों के इलाज के तरीकों को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित किया।


प्रोफेसर शाहिद ने यूनानी चिकित्सा में स्वास्थ्य संवर्धन और रोग निवारण के तरीकों पर भी चर्चा की। विशिष्ट अतिथि डॉ फ़ायज़ा अब्बासी ने नए छात्रों से एकेटीसी और जेएनएमसी डॉक्टरों से प्रेरणा लेने का आह्वान किया जिन्होंने महामारी के दौरान सराहनीय भूमिका निभाई।


यूनानी चिकित्सा संकाय के डीन प्रोफेसर एफएस शीरानी और प्रिंसिपल, एकेटीसी प्रोफेसर शगुफ्ता अलीम ने बताया कि कार्यक्रम के समन्वयकों ने नए छात्रों के लिए प्रशिक्षण और व्याख्यान तैयार किए।


उन्होंने आशा व्यक्त की कि कार्यक्रम का अनुभव गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।


डाक्टर अब्दुल अजीज खान ने कार्यक्रम का संचालन किया और डाक्टर नवालुर रहमान खान (अध्यक्ष, जेडीए) ने धन्यवाद ज्ञापित किया।


---------------------------


माइंडटेल ग्लोबल द्वारा एएमयू के छात्रों का चयन


अलीगढ़, 8 जूनः अग्रणी एचआर भर्ती कंपनी, माइंडटेल ग्लोबल ने हाल ही में एक प्लेसमेंट ड्राइव में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के 14  छात्रों की अपने यहां नियुक्ति प्रदान की है।


प्रशिक्षण एवं प्लेसमेंट अधिकारी (सामान्य), श्री साद हमीद ने बताया है कि चयनित छात्रों में मोहम्मद साकिब (एमएसडब्ल्यू), फैज यासल (एमएसडब्ल्यू), मोहम्मद उजैर (एमएसडब्ल्यू), इरम शबनम (एमएचआरएम), मनु शर्मा (एमएचआरएम), स्नेहिल शर्मा (एमएचआरएम), मुनव्विर के (एमबीए), रेशु गर्ग (एमबीए), ज़ैनब रहमान (एमबीए), उसामा शाहिम (एमबीए), शाहजहां आलम (एमबीए), मेमूना अंसारी (एमबीए), ग़ज़नफ़र ज़मीर (एमबीए) और अरहम मुशफ़िक़ अंसारी (एमबीए) शामिल हैं।


---------------------------------


‘उद्यमिता के माध्यम से विकास को प्रोत्साहन’ विषय पर सम्मेलन 11 जून को


अलीगढ़, 8 जूनः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के वाणिज्य विभाग के तत्वाधान में ‘उद्यमिता के माध्यम से विकास को बढ़ावा’ विषय पर एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन 11 जून (शनिवार) को आयोजित किया जाएगा।


प्रोफेसर तेजिंदर शर्मा (अध्यक्ष, वाणिज्य विभाग, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, हरियाणा) मुख्य भाषण देंगे और मुख्य संरक्षक, एएमयू कुलपति, प्रोफेसर तारिक मंसूर उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करेंगे।


सम्मेलन में मुख्य अतिथि और पूर्व कुलपति, बी आर अंबेडकर विश्वविद्यालय, आगरा, प्रोफेसर अशोक मित्तल, विशिष्ट अतिथि रीतेश कुमार सिंह (दिल्ली विश्वविद्यालय); प्रो सईद जफर (अध्यक्ष, मानव संसाधन प्रबंधन विभाग, व्यापार और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, केएसए); डॉ मोहम्मद ऋषद फरीदी (बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कॉलेज, प्रिंस सुल्तान बिन अब्दुलअज़ीज़ विश्वविद्यालय, केएसए); प्रो मोहम्मद नासिर ज़मीर कुरैशी (डीन, कॉमर्स  संकाय, एएमयू); प्रोफेसर मोहम्मद मोहसिन खान (पूर्व डीन, कॉमर्स  संकाय, एएमयू); प्रोफेसर एस एम इमामुल हक (पूर्व डीन, कॉमर्स  संकाय, एएमयू), प्रोफेसर नवाब अली खान (अध्यक्ष, कॉमर्स  विभाग, एएमयू) और प्रोफेसर आसिया चौधरी (कॉमर्स  विभाग, एएमयू) द्वारा वार्ता में शामिल होगी।


---------------------------


एएमयू की छात्राओं के लिए समर कोचिंग कैंप


अलीगढ़, 8 जूनः खेल प्रेमी छात्राएं अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में ग्रीष्मकालीन कोचिंग शिविरों की एक श्रृंखला में अपनी ऊर्जा का उपयोग कर सकती हैं।


विश्वविद्यालय के महिला अनिवासी छात्र केंद्र (एनआरएससी) और बास्केटबॉल, वॉलीबॉल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस और ताइक्वांडो के खेल में आवासीय छात्राओं के लिए पांच शिविर 10 जून से 25 जून तक वीमेन्स कॉलेज मैदान में आयोजित किए जाएंगे।


वीमेन्स कॉलेज की प्राचार्य, प्रो नईमा खातून ने कहा कि यह उच्च दर्जे की खेल भावना वाली सभी छात्राओं के लिए एक अवसर है। खेल प्रशिक्षण शिविरों में भाग लेने के लिए ग्रीष्मकालीन अवकाश सबसे अच्छा समय है।


प्रभारी, शारीरिक शिक्षा अनुभाग, डॉ नाजिया खान ने कहा कि इच्छुक उम्मीदवार वीमेन्स कॉलेज के शारीरिक शिक्षा अनुभाग से सभी कार्य दिवसों में पंजीकरण फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं. इस सम्बन्ध में किसी भी जानकारी के लिए फोन नंबर 7983455650 पर कॉल किया जा सकता है।


इसी तरह, एनआरएससी और आवासीय छात्राएं और विभिन्न एएमयू स्कूलों की छात्राएं 11 जून से 25 जून तक अब्दुल्ला हॉल ग्राउंड में एक क्रिकेट समर कोचिंग कैंप में भाग ले सकती हैं।


अब्दुल्ला हॉल की प्रोवोस्ट, डॉ ग़ज़ाला नाहीद ने बताया कि पंजीकरण फॉर्म प्रोवोस्ट कार्यालय, अब्दुल्ला हॉल में कार्यालय समय के दौरान सभी कार्य दिवसों में उपलब्ध हैं।


खेल पर्यवेक्षक महविश खान ने कहा कि छात्राएं अन्य जानकारी के लिए 8279863396 पर कॉल कर सकती हैं।


-------------------------


संयुक्त निदेशक नियुक्त


अलीगढ़ 8 जूनः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के बॉटनी विभाग के प्रोफेसर हिसामुद्दीन को तत्काल प्रभाव से दो साल की अवधि के लिए सेंटर फॉर प्रमोशन ऑफ़ साइंस का संयुक्त निदेशक नियुक्त किया गया है।


------------------------


एमए फाइनल ईयर के छात्रों के लिए विदाई कार्यक्रम


अलीगढ़, 8 जूनः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के इस्लामी अध्ययन विभाग के एमए फाइनल ईयर के छात्रों के लिए विदाई कार्यक्रम ‘बज़्म शादान’ आयोजित किया गया जिसमें प्रथम वर्ष के छात्रों ने अपने पूर्ववर्तियों को विदाई दी तथा उनके बेहतर भविष्य के लिए कामना की।


इस अवसर पर प्रो. ओबैदुल्लाह फहद फलाही ने कहा कि शिक्षण संस्थानों में पाठ्येतर गतिविधियां छात्रों को अपनी छिपी प्रतिभा को व्यक्त करने का अवसर प्रदान करती हैं और ये सांस्कृतिक कार्यक्रम लाभकारी ज्ञान का एक हिस्सा हैं। कोरोना के बाद फ्रेशर और फेयरवेल पार्टियों के आयोजन ने एक बार फिर मुस्लिम विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों में जीवन की बहार ला दी है।


उन्होंने कहा कि आपको उन शिक्षकों का आभारी होना चाहिए जिनसे आपको ज्ञान मिलता है। उनके सामने अभिमान और अहंकार न दिखाएं।


विभागाध्यक्ष प्रो. मुहम्मद इस्माइल ने कहा कि शिक्षक छात्रों के आध्यात्मिक पिता की तरह होते हैं और शिक्षक और छात्र मिलकर शिक्षण संस्थानों की सेवा करते हैं। उन्होंने कहा कि कड़ी मेहनत ही सफलता की कुंजी है। अपनी छिपी हुई प्रतिभा को पहचानें ताकि आप दुनिया को ज्ञान में मार्गदर्शन कर सकें।


प्रो. इस्माईल ने छात्रों से प्रश्न पूछा कि एमओ कॉलेज पहले किस कॉलेज से संबद्ध था के जवाब में अंतिम वर्ष की छात्रा ऐमन इशरत के सही उत्तर, कलकत्ता कालिज पर प्रो. इस्माईल द्वारा पांच सौ रूपये नकद इनाम दिया गया।


इस अवसर पर विद्यार्थियों ने कविता पाठ कर विभिन्न सांस्कृतिक गतिविधियों में भाग लिया।


बज्म शादान में मिस्टर फ्रेशर का खिताब मुहम्मद फैसल को और मिस फ्रेशर का खिताब आमना सिदरा को दिया गया। इस कार्यक्रम में विभाग के शिक्षक डॉ. एजाज अहमद और डॉ. बिलाल अहमद किट्टी ने निर्णायक के कर्तव्यों का पालन किया।


मुहम्मद नाजिम और अस्मा मुश्ताक ने कार्यक्रम का संचालन किया। 


---------------------------


बेगम अजीज उन निसां हाल में पर्यावरण दिवस कार्यक्रम के तहत ‘बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट कॉम्पिटिशन’ का आयोजन


अलीगढ़, 8 जूनः मास्टर ऑफ फाइन आर्ट्स की छात्रा देवांशी सैनी ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की छात्राओं के आवासीय छात्रावास बेगम अज़ीज़ुन निसा हॉल में आयोजित ‘बेस्ट आउट ऑफ़ वेस्ट प्रतियोगिता’ में प्रथम स्थान प्राप्त किया। प्रतियोगिता का आयोजन ‘विश्व पर्यावरण दिवस’ के दौरान अपशिष्ट पदार्थों के पुनर्चक्रण के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए किया गया।


इरम (बी.वॉक) दूसरे स्थान पर रहीं, जबकि उफक हया (बी.ए) तीसरे स्थान पर रहीं।


नौवीं से बारहवीं कक्षा में अलीशा खान (एएमयू गर्ल्स स्कूल) को विजेता घोषित किया गया, जिसमें एबीके गर्ल्स हाई स्कूल की सामिया और जुनैरा रईस ने क्रमशः दूसरा और तीसरा स्थान प्राप्त किया।


कक्षा छठी से आठवीं तक के छात्र-छात्राओं में अनम (एएमयू सिटी गर्ल्स स्कूल) ने प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया। एबीके गर्ल्स हाई स्कूल की प्रियांशी तोमर और वर्धा अहतिशाम दूसरे और तीसरे स्थान पर रहीं।


इस अवसर पर मुख्य अतिथि प्रसिद्ध बाल रोग विशेषज्ञ डाक्टर हमीदा तारिक ने कहा कि वर्तमान समय में चल रहे पर्यावरणीय संकट के समय, रीसाइक्लिंग जैसी प्रथाओं के माध्यम से बदलाव लाने का समय आ गया है।


उन्होंने प्रोफेसर नईमा खातून (प्राचार्य, महिला कॉलेज) और प्रोफेसर सुबुही खान (प्रोवोस्ट, बेगम अज़ीज़ुन निसा हॉल) के साथ विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए।


डॉ फायजा अब्बासी (निदेशक, यूजीसी एचआरडीसी, एएमयू) ने ‘सस्टेनेबिलिटी फूड’ पर व्याख्यान दिया।


उन्होंने प्राकृतिक, मौसमी और स्थानीय अवयवों और खाद्य पदार्थों का उपयोग करके स्वस्थ भोजन तैयार करने के बारे में बात की जो शरीर के लिए संतुलित आहार प्रदान करते हैं और पर्यावरण के संरक्षण की सुविधा भी प्रदान करते हैं।


प्रो नसरीन (शिक्षा विभाग), डॉ सुंबुल (अजमल खान तिब्बिया कॉलेज) और अज़ीज़ा रिज़वी (सेवानिवृत्त खेल शिक्षक, महिला कॉलेज) ‘बेस्ट आउट ऑफ़ वेस्ट प्रतियोगिता’ के निर्णायक मंडल में शामिल थीं। कार्यक्रम का संचालन डॉ फौजिया फरीदी ने किया।


 





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.