"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलीगढ़ को दी 450 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं की सौगात

 *बाबू कल्याण सिंह के नाम से जाना जाएगा अलीगढ़ का हैबिटेट सेंटरः मुख्यमंत्री योगी* 

*-अपने पहले ही कार्यकाल में बाबू कल्याण सिंह ने प्रदेश में सुरक्षा का वातावरण व अलीगढ़ के उत्पादों को पहचान दिलाने की व्यवस्था दीः योगी* 

*-मुख्यमंत्री ने दूसरे कार्यकाल के लिए स्पष्ट बहुमत दिलाने में अलीगढ़ की जनता के योगदान के प्रति जताया आभार* 



*-सीएम ने नन्हें बच्चों का कराया अन्नप्रासन संस्कार, आशीर्वाद के साथ ही भेंट किए उपहार* 


*-विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को चेक, प्रमाणपत्र, प्रशस्ति पत्र, स्मार्टफोन, टैबलेट भी किए वितरित*

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़/लखनऊ, 15 अक्टूबर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलीगढ़ को लगभग 450 करोड़ रुपए की विभिन्न विकास परियोजनाओं की सौगात दी है। शनिवार को मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ के हैबिटेट सेंटर में इन विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इन परियोजनाओं में अलीगढ़ हैबिटेट सेंटर का लोकार्पण भी सम्मिलित रहा। मंच से मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं चाहूंगा कि अलीगढ़ के विकास की पहचान बनने जा रहे इस हैबिटेट सेंटर को स्व. बाबू कल्याण सिंह के नाम से जाना जाना चाहिए। बाबू कल्याण सिंह ने प्रदेश में अपने पहले कार्यकाल में ही सुरक्षा का वातावरण कैसा होना चाहिए, इसके लिए एक आदर्श व्यवस्था दी। अलीगढ़ के उत्पाद को कैसे मान्यता मिले, इसकी परिकल्पना भी 31 वर्ष पहले बाबू कल्याण सिंह ने दी थी। वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट के रूप में आज हम अलीगढ़ समेत तमाम जिलों के प्रोडक्ट को आगे बढ़ा रहे हैं। इस अवसर पर सीएम योगी ने नन्हें बच्चों का अन्नप्राशन संस्कार पूर्ण किया एवं आशीर्वाद के साथ ही उपहार में उन्हें खिलौने भी प्रदान किए। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को चेक, प्रमाणपत्र, प्रशस्ति पत्र, स्मार्टफोन, टैबलेट व घर की चाभी वितरित की। 

 

*अलीगढ़ की जनता का जताया आभार* 

अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार अलीगढ़ आने का अवसर प्राप्त हुआ। इस अवसर पर 450 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करने का अवसर प्राप्त हुआ। अलीगढ़ वासियों का आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने सरकार के विकास कार्यों पर अपनी मुहर लगाई और पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने में योगदान दिया। जिला प्रशासन का धन्यवाद जिन्होंने विकास कार्यों को समयबद्ध तरीके से आगे बढ़ाया। ये उन्हीं के प्रयासों का नतीजा है कि हैबिटेट सेंटर तैयार होकर विकास की नई कहानी कह रहा है। विकास किसी भी सरकार की प्राथमिकता होती है, लेकिन सरकार ही पैसा दे और हम जनसहभागिता न निभाएं तो विकास अधूरा रह जाता है। आमजन जब सहयोग करता है तो विकास की गति बढ़ जाती है, वह नई ऊंचाई को छूता है। ये हमारा सौभाग्य है कि पीएम के विजन के अनुरूप इंफ्रास्ट्रक्चर, लोक कल्याण, युवाओं के उत्थान एवं युवाओं के सशक्तिकरण से जुड़ी योजनाएं बिना भेदभाव के समाज के प्रत्येक तबके को मिल रही हैं। यही सबका साथ, सबका विकास पीएम का मंत्र है।  


*सुरक्षा की गारंटी देगा हैबिटेट सेंटर* 

हैबिटेट सेंटर में 170 से अधिक वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था की गई है। अच्छे कांफ्रेंस रूम बनाए गए हैं। पूरे शहर की ट्रैफिक व्यवस्था और सेफ सिटी के तहत हर बेटी, हर व्यक्ति को और हर वाहन को सुरक्षा की गारंटी ये भवन यहां से देना प्रारंभ करने जा रहा है। यहां पर शॉपिंग कांप्लेक्स होंगे, अच्छे सेंटर होंगे। यहां के विकास की परियोजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए एक ऑडीटोरियम भी बनाया गया है। ये हैबिटेट सेंटर अलीगढ़ को पहचान दिलाने के लिए जाना जाएगा। इसे बाबू कल्याण सिंह के नाम से पहचाना जाना चाहिए। 



*योजनाओं में जनता की हो सहभागिता* 

कहीं भी समाज में कुरीति है, दुर्व्यव्यवस्था है, अराजकता है तो समाज को इसके खिलाफ खड़ा होना होगा। कुपोषण के खिलाफ खड़ा होना होगा। टीबी के खिलाफ सरकार योजना चला रहे हैं। कोई व्यक्ति टीबी से ग्रसित है तो हम उसे जिला प्रशासन के संज्ञान में लाकर उसकी मदद कर सकते हैं। जब जनता की सहभागिता होती है तो उसके फलस्वरूप हैबिटेट जैसा सेंटर तैयार होकर सामने आता है। 


*तकनीकी तौर पर सक्षम हो रहे युवा* 

उत्तर प्रदेश का हर युवा तकनीकी स्तर पर सक्षम हो सके इसके लिए स्नातक और परास्नातक स्तर पर हर युवा को स्मार्टफोन व टैबलेट वितरण किया जा रहा है। हमारा ये युवा किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में आगे बढ़ सके, इसके लिए अभ्युदय कोचिंग योजना से जोड़ा गया है। जिला प्रशासन के हमारे नए अधिकारी इन ट्रेनिंग कार्यक्रमों से जुड़ते हैं। युवाओं को दिशा देते हैं। स्मार्ट सिटी योजना के तहत समग्र विकास हो रहा है। जेवर में एयरपोर्ट विकसित हो रहा है। इसके साथ एयरक्राफ्ट के मेंटीनेंस का सेंटर बन रहा है जो देश ही नहीं किसी भी पड़ोसी देश में नहीं है। राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्विविद्यालय में इसकी ट्रेनिंग उपलब्ध कराएंगे, ताकि यहीं का नौजवान यहीं से शिक्षा लेकर यहीं रोजगार हासिल कर सके। 


*विकास में आड़े नहीं आएगी धनराशि*

मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ की जनता को विश्वास दिलाया कि प्रदेश का पैसा आपका कंट्रीब्यूशन है। इसका ईमानदारी से इस्तेमाल होना चाहिए, ये हमारी जिम्मेदारी बनती है। स्वच्छता के कार्यक्रम नगर निगम चलाए, लेकिन हमारी भी जिम्मेदारी है कि शहर को स्वच्छ बनाएं। घर का कूड़ा बाहर न फेंकें। बहाना बनाने से नहीं, ईमानदारी से इन कार्यक्रमों को आगे बढ़ाना होगा। आपको विश्वास दिलाता हूं कि अलीगढ़ के किसी भी विकास योजना के लिए धनराशि आड़े नहीं आएगी। 



*पीपीपी मॉडल के जरिए विकास कार्यों को दें गतिः योगी*   

इससे पहले, मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ में चल रहे विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा भी की। अलीगढ़ के आयुक्त सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने जनपद में लंबित पड़े विकास कार्यों को तेज गति से पूर्ण करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को विधायकों द्वारा बताई गई समस्याओं की ओर ध्यान देने को कहा। साथ ही विकास कार्यों को खासतौर पर चौराहों, रिंग रोड, शॉपिंग कांप्लेक्स को पीपीपी मॉडल के जरिए विकसित करने पर बल दिया। वहीं, धार्मिक स्थलों पर दोबारा लाउड स्पीकर लगाए जाने की घटनाओं पर मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को सख्ती से निपटने को कहा है। चौराहों पर अतिक्रमण न होने पाए, जनपद के राजस्व को बढ़ाने की तरीकों पर विचार करने को कहा। साथ ही त्योहारों के अवसर पर कानून व्यवस्था चाक चौबंद रखने का भी आदेश दिया। उन्होंने पुलिस बल को संवेदनशील इलाकों में फुट पेट्रोलिंग बढ़ाने, चौराहों पर चौकसी बरतने एवं बाजारों में भीड़ को नियंत्रित रखने के लिए आवश्यक कार्यवाही पर बल दिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.