जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

Breaking Aligarh| बिना मान्यता के ही चलाया जा रहा है Wisdom Public School, ने दिए बंद करने से आदेश

0

 



Wisdom Public School

Was established in 2003 and started functioning with a few classes today, spread over an area of about 5 acres of lush green campus, in the most developed part of the city, Wisdom Public School is a co-educational day school. The foundation stone laid by two eminent industrialists and great visionary Mr. Pramod Kumar Gupta and Mr. Mahesh Chandra Gupta in year 2001.


The impressive school building comprises modern infrastructure and facilities like : spacious airy class room, big play ground with all sports amenities. Modern duplex library, well equipped laboratories, computer labs, indoor sports complex, auditorium, with 24 x 7 surveillance of every corner of the school along with security guards. The school has a faculty of highly educated and dynamic staff members.


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| जनपद में बड़े पैमाने पर बिना मान्यता के स्कूल संचालित है| ऐसे ही बिना मान्यता के चल रहे विजडम पब्लिक स्कूल को बंद करने के आदेश शनिवार को बेसिक शिक्षा अधिकारी ने दिए है| पंडित दीन दयाल संयुक्त चिकित्सालय के सामने रामघाट रोड क्वार्सी पर कई वर्षो से संचालित Wisdom Public स्कूल बिना मान्यता के ही संचालित था| इस बाबत जनसुनवाई पोर्टल पर की गयी एक शिकायत के बाद बेसिक शिक्षा विभाग को यह जानकारी हुयी| बेसिक शिक्षा अधिकारी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए स्कूल प्रबंधक को नोटिस जारी करते हुए तीन दिनों के भीतर जबाब माँगा है और तत्काल विजडम पब्लिक स्कूल की क्वार्सी शाखा को बंद करने के आदेश दिए है| 


जानकारी के मुताविक शिकायतकर्ता अनुपम कुमार निवासी राज नगर आई०टी०आई० रोड तहसील कोल जनपद अलीगढ द्वारा आई०जी०आर०एस० पोर्टल पर विजडम पब्लिक स्कूल रामघाट रोड अलीगढ में स्थित क्वार्सी चौराहा से पूर्व पंडित दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के सामने के डेढ दशक से अधिक से बिना मान्यता-पत्र के पूर्व ही स्कूल प्राथमिक से कक्षा 5 वी तक की कक्षाओ के संचालन सम्बन्धी शिकायत की गयी है। उक्त शिकायत के पर बीएसए अलीगढ ने कार्यालय के पत्रांक संख्या-17352-53/2023-24 दिनांक 20.01.2024 द्वारा जाँच करने हेतु खण्ड शिक्षा अधिकारी नगर क्षेत्र अलीगढ़ को निर्देशित किया गया था। उक्त के अनुपालन में खण्ड शिक्षा अधिकारी नगर क्षेत्र अलीगढ़ ने अपने कार्यालय के पत्रांक ख०शि०अ०/1913/2023-24 दिनांक 24.01.2024 के द्वारा जाँच आख्या प्रस्तुत की गयी, जिसके द्वारा खण्ड शिक्षा अधिकारी नगर क्षेत्र अलीगढ द्वारा अवगत कराया गया है कि " विजडम पब्लिक स्कूल, पंडित दीनदयाल हॉस्पीटल के सामने, रामघाट रोड अलीगढ द्वारा पंजीकरण संख्या AL109127935584 के माध्यम से कक्षा 1 से 5 तक की मान्यता हेतु बेसिक शिक्षा विभाग को ऑनलाइन आवेदन किया गया है, जिस पर सक्षम अधिकारी द्वारा जांच कर आख्या ऑनलाइन लगायी जा चुकी है। उक्त उपरांत विद्यालय को मान्यता प्रदान करने के सम्बन्ध में जनपद स्तर पर कार्यवाही गतिमान है। उक्त विद्यालय पूर्व से बिना मान्यता संचालित होने सम्बन्धी कोई भी शिकायत अधोहस्ताक्षरी कार्यालय को पूर्व में प्राप्त नहीं हुई है। शासनादेशानुसार बिना मान्यता के संचालित विद्यालयों को बंद कराकर उनमें अध्ययनरत बच्चों को निकटतम परिषदीय विद्यालय में नामांकित कराये जाने का प्रावधान है परन्तु विद्यालय द्वारा नवीन मान्यता हेतु आवेदन किया जा चुका है। ऐसी स्थिति में यदि जनपद स्तर से उक्त विद्यालय को कक्षा 1 से 5 तक की मान्यता प्रदान नहीं की जाती है. तो शासनादेश के अनुसार विद्यालय को बंद कराने हेतु अग्रेत्तर कार्यवाही करा दी जायेगी।"


जाँच के बाद भेजे गए नोटिस में कहा गया है कि वर्तमान में विजडम विद्यालय अमान्य रूप से संचालित हो रहा है इसलिए अमान्य रूप से संचालित किये जा रहे विद्यालय को तुरंत बन्द करना करें, साथ ही तीन दिवस के अन्दर अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें कि आपके द्वारा अमान्य विद्यालय संचालित क्यों किया जा रहा है? अन्यथा की स्थिति में आपके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी|  बेसिक शिक्षा अधिकारी के नोटिस मिलते ही स्कूल प्रबंधन में हड़कंप मच गया है| अलीगढ मीडिया डॉट कॉम ने कई बार फ़ोन करके स्कूल का पक्ष जानने की कोशिश की लेकिन फ़ोन नहीं उठा| आपको बताते चले कि बिना मान्यता के चल रहे इस स्कूल को फर्जी तरीके से शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत होने वाले दाखिलों की प्रक्रिया में भी सूचीबद्ध करा लिया गया था| इस बारे में बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह ने बताया कि स्कूल को बिना मान्यता के चलाने की शिकायत पर नोटिस भेजा गया है जाँच जारी है|  स्कूल को फर्जी तरीके से बेसिक शिक्षा विभाग की बेबसाईट पर आरटीई में सूचीबद्ध करने के मामले  में भी जो तथ्य जाँच रिपोर्ट में आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी|  


एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)