जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

#Aligarh| 16 फरवरी को ग्रामीण भारत बंद के लिए गांवों में जनसंपर्क अभियान

0


गांवों से दूध-सब्जी की सप्लाई भी बंद रहेगी

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ। संयुक्त किसान मोर्चा और केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों की साझा अपील पर 16 फरवरी को औद्योगिक हड़ताल और ग्रामीण भारत बंद के लिए रविवार को गांवों में जनसंपर्क अभियान चलाया गया। क्रांतिकारी किसान यूनियन के जिला मीडिया प्रभारी पप्पू सिंह के नेतृत्व में हरदुआगंज क्षेत्र में दारापुर, सुखरावली, महुआखेड़ा, इब्राहीमाबाद, हरदुआगंज कस्बा में जनसंपर्क बैठकें हुई। यूनियन के जिला उपाध्यक्ष सत्यवीर सिंह के नेतृत्व में जवां क्षेत्र जमालपुर, अमरौली, मदनपुर, राजमऊ में बैठकें हुईं। जिला उपाध्यक्ष अशोक सिंह के नेतृत्व में गभाना के नगोला, हसनपुर, रायपुर, चुहरपुर गांवों में 16 के बंद के लिए जनसंपर्क किया गया। 


     किसान सभा के जिलाध्यक्ष सूरजपाल उपाध्याय के नेतृत्व में जवां के पोहना, फरीदपुर, सुमेरा और जवां बाजार में 16 फरवरी को बंद की अपील की गई। जय किसान आंदोलन के प्रदेश उपाध्यक्ष आत्मप्रकाश सिंह के नेतृत्व में छेरत, गौंधा, कासिमपुर में गांवों में किसानों-मजदूरों, दुकानदारों से बंद के समर्थन की अपील की गई।


   उधर ग्रेटर अलीगढ़ योजना प्रभावित किसान मोर्चा के संयोजक कृष्ण कांत सिंह के नेतृत्व में लोधा, ल्हौसरा-विसावन, मूसेपुर, चिकावटी, अटलपुर, जिरौली गांवों में बंद की अपील घर-घर जाकर की गई। खैर में भाकियू के वरिष्ठ नेता काका सुघड़ सिंह के नेतृत्व में खैर अनाज मंडी के आढ़तियों, व्यापारियों, और मजदूरों से 16 फरवरी को खैर मंडी बंद रखने की अपील की। भाकियू के ब्लाक अध्यक्ष मंगल सिंह के नेतृत्व में अकराबाद में भी बंद की व्यापक तैयारी की जा रही है।

   गांवों में जनसंपर्क के दौरान संपन्न बैठकों 16 फरवरी को गांवों से दूध, सब्जी की सप्लाई बंद रखने का सामूहिक निर्णय लिया गया। खेती से संबंधित दुकानें, कस्बों और गांवों के बाजार पूरी तरह बंद रहेंगें। 


   संयुक्त किसान मोर्चा की प्रादेशिक कमेटी के सदस्य शशिकांत ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 16 फरवरी के बंद को लेकर जनसंपर्क अभियान 15 फरवरी तक जारी रहेगा। 13 फरवरी जिला मुख्यालय पर ट्रेड यूनियनों के साथ मिलकर किसान जनसंपर्क पैदल मार्च करेंगें। मसूदाबाद स्थित एल आई सी आफिस से गांधी पार्क तक होने वाले इस मार्च में केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों के स्थानीय नेताओं के अलावा रेलवे, बैंक, बीमा, डाक विभाग की फेडरेशनों के नेता, शिक्षक, छात्र,  कर्मचारी शामिल होंगें। मार्च के दौरान किसान नेता और श्रमिक नेता शहर में किसान-मजदूर समर्थक छोटे व्यापारियों -दुकानदारों से बंद का समर्थन करने की अपील करेंगें।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)