जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

नई चीनी मिल जल्द शुरु नहीं हुआ तो होगा आन्दोलन, भारतीय किसान यूनियन सुनील ने दी चेतावनी

0


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| भारतीय किसान यूनियन सुनील किसानों की समस्याओं को लेकर एक प्रतिनिधि मंडल गन्ना मंत्री से मिलना चाहता था लेकिन प्रशासन व्यस्त कार्यक्रम बताकर मना कर दिया तब भारतीय किसान यूनियन सुनील के पदाधिकारियों ने कमिश्नरी पर भगवान शरण अपर आयुक्त अलीगढ़ मण्डल को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन से लौटते समय साथ में गए रितिक पर कुछ अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया और तमंचा तान कर जान से मारने की धमकी दी। जिसकी तहरीर क्वार्सी थाने में दे दी गई है।


भारतीय किसान यूनियन सुनील के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील चौधरी ने बताया कि चुनाव के समय मुख्यमंत्री योगी जी ने साथा चीनी मिल की जगह एक नई चीनी मिल बनाने की घोषणा की थी वह घोषणा सिर्फ कागजों में रह गई है वर्षों से साथा चीनी मिल के बंद होने की वजह से किसानों को आर्थिक नुकसान के साथ-साथ अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है सरकार ने बजट की भी घोषणा कर दी लेकिन अभी तक नई चीनी मिल पर काम शुरू नहीं हुआ है जल्द से जल्द नई चीनी मिल का काम पूरा कर चीनी मिल शुरू कराया जाए। अन्यथा जन आन्दोलन होगा।


भारतीय किसान यूनियन सुनील के राष्ट्रीय महासचिव रंजीत चौधरी ने कहा कि पेराई सत्र 2023- 24 में गन्ना मूल्य में ₹20 की बढ़ोतरी कर किसानों के साथ मजाक किया गया है। उर्वरक, कीटनाशक डीजल के दाम बढ़ने से फसल की लागत बहुत बढ़ गई है किसानों को फसल की लागत मूल्य भी नहीं मिल पा रहा सरकार गन्ना मूल्य ₹450 रुपए प्रति कुंतल करे और जिन गन्ना किसानों का भुगतान नहीं हुआ है सरकार तत्काल किसानों का भुगतान कराये। जिला पंचायत सदस्य वीरपाल दिवाकर ने कहा कि फसलों को प्राकृतिक व अन्ना पशुओं से बचाने का कोई सार्थक उपाय करें सरकार। छुट्टा पशुओं से किसानों को बहुत नुकसान और परेशानी हो रही है। किसान हित की इन मांगों पर तत्काल संज्ञान लेकर निस्तारण किया जाए। हमारी ये मांगें पूरी नहीं हुई तो जन आन्दोलन करेंगें। 


ज्ञापन देने वालों में भारतीय किसान यूनियन सुनील के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील चौधरी रंजीत चौधरी प्रदेश सचिव विनोद चौधरी जिलाध्यक्ष किशन सिंह लोधी छोटेलाल कौशल किशोर काकू यादव अहेतेश्याम जगदीश अमित चौधरी रवि बघेल ओमवीर सिंह बादल चौधरी लवकुश मनोज शर्मा आदि दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे। 


एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)