"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ ने दिया ज्ञापन, जानिये ..क्या है दिक्कतें



अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़। उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ के जिला अध्यक्ष डॉ ज्ञानेंद्र दीवान जिला महामंत्री राहुल चेतन के नेतृत्व में एक ज्ञापन नगर आयुक्त के नाम दिया गया ज्ञापन सहायक नगर आयुक्त ठावकुर प्रसाद सिंह ने लिया ज्ञापन के माध्यम से नगर आयुक्त महोदय को अवगत कराया गया कि अलीगढ़ नगर निगम में 2018 से शहरी आजीविका मिशन सीएलसी के माध्यम से आउटसोर्सिंग ठेका सफाई कर्मचारियों का वेतन मिलता रहा है तथा पीएफ ईएसआई तथा समय-समय पर श्रम विभाग के द्वारा जारी वेतनमान बढ़कर आउटसोर्सिंग ठेका सफाई कर्मचारियों को मिलता रहा है लेकिन अब नगर निगम के चंद अधिकारियों की मिलीभगत से जेम पोर्टल पर अपने नजदीकी लोगों को जेम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करा कर आउटसोर्सिंग में ठेका सफाई कर्मचारियों को रखने का कार्य निजी कंपनियों के द्वारा किया जा रहा है।


 जिसका उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ पुरजोर विरोध करता है इस संबंध में उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ के जिला अध्यक्ष डॉ ज्ञानेंद्र दीवान ने कहा कि अलीगढ़ नगर निगम व प्रदेश भर में उत्तर प्रदेश में  संघ के द्वारा समय-समय पर निजी कंपनियों का विरोध होता रहा है व सफाई कर्मचारी हित में जो भी संगठन निर्देश देगा व समस्त सफाई कर्मचारियों को साथ लेकर सफाई कर्मचारियों के हक और अधिकार के साथ खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा तथा निजी कंपनियों के माध्यम से सफाई कर्मचारियों का शोषण  नहीं होने दिया जाएगा ऐसी निजी कंपनियां प्रदेश के बहुत सारे जिलों में सफाई कर्मचारियों का पैसा लेकर भाग चुकी हैं और वहां की नगर पंचायत नगर निगमों को भी धोखा देने का कार्य निजी कंपनियों ने किया है इसलिए हम नगर आयुक्त महोदय से मांग करते हैं कि पूर्व की भांति कर्मचारियों का वेतन भर्ती प्रक्रिया रखने का कार्य किया जाए और कहीं भी कर्मचारियों का हित ना हो अगर हुआ तो संघ आंदोलन के लिए बाध्य होगा जिला महामंत्री राहुल चेतन ने कहा कि जेम पोर्टल के माध्यम से नगर निगम के सक्षम अधिकारी अपने कुछ चहितों को रजिस्ट्रेशन करा कर मोटी कमाई का कार्य कर रहा है जिसमें मजदूर वर्ग ठेका सफाई कर्मचारियों का खुला शोषण होगा अगर नगर निगम प्रशासन की मंशा कर्मचारी हित में है तो अभी तक नगर निगम के द्वारा संघ के किसी भी पदाधिकारी को संघ के संगठन के पदाधिकारियों को इस संबंध में कोई भी जानकारी नहीं दी गई है और सबसे बड़ी बात यह है कि नगर निगम प्रशासन आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को रखने के बाद शासन को भी गुमराह करने का कार्य कर रहा है मैं बता देना चाहता हूं कि पूर्व में लगभग 1000 सफाई कर्मचारी आउटसोर्सिंग ठेका सफाई कर्मचारी कार्य कर रहा है और बढ़ती हुई आबादी को नजर में रखते हुए नगर निगम ने यह फैसला लिया है कि 498 कर्मचारियों की भर्ती की जाए लेकिन नगर निगम उसमें भी  धोखा धोखा देने का कार्य कर रहा है क्योंकि पूर्व में 10 साल से 15 साल आउटसोर्सिंग सफाई कर्मचारियों को कार्य करने के बाद भी आज तक नगर निगम द्वारा कोई भी ऐसा प्रमाण नहीं दिया गया जिससे कि कर्मचारी यह कह सके कि मैं लगातार नगर निगम में अपनी सेवाएं दे रहा हूं संघ के आंदोलन के बाद जब से शहरी आजीविका मिशन सीएलसी नाम की संस्था आई है तब से आउटसोर्सिंग सफाई कर्मचारियों का पीएफ का पैसा कटा है और 2018 से अब तक 2022 तक उन कर्मचारियों को 4 साल काम करते हुए हो गई है पीएफ के माध्यम से 4 साल सफाई कर्मचारी कह सकता है कि मैंने काम किया है लेकिन नगर निगम ने जेम पोर्टल के माध्यम से जो संस्थाएं काम करने आ रही हैं वह समस्त लगभग 1400 कर्मचारियों का रजिस्ट्रेशन सन 2022 में करके दिखाना चाहती है और शासन को भी गुमराह करके यह बता देगी कि हमने 1400 नवीन सफाई कर्मचारी अलीगढ़ में रख लिए हैं जेम पोर्टल की वेबसाइट पर जाकर चेक किया जाए पता चलता है कि शहर की आबादी के हिसाब से नगर निगम कर्मचारियों को बढ़ा सकती है । 


अगर कर्मचारियों के बढ़ाने की मंशा कार्य संस्था की है तो पूर्व कर्मचारियों को ना लगाकर नवीन कर्मचारियों को आज की डेट से ही भर्ती करने का काम नगर निगम प्रशासन पूर्व की भांति करें न कि जेम पोर्टल के माध्यम से जबकि आज भी अलीगढ़ नगर निगम में ए टू जेड नाम की एक कंपनी कार्य कर रही है उसमें भी बहुत सारे सफाई कर्मचारियों का लाखों रुपए पी एफ के नाम पर ए टू जेड कंपनी ने नहीं दिया है, ऐसे में निजी संस्थाओं पर कैसे भरोसा किया जाए नगर निगम निजी संस्थाओं के माध्यम से कर्मचारियों का शोषण होगा जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा हम नगराज महोदय से मांग करते हैं कि ऐसी संस्थाओं को निजी कंपनियों को तत्काल प्रभाव से रोका जाए अन्यथा संग आंदोलन के लिए बाध्य होगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी नगर निगम प्रशासन की होगी ज्ञापन देने वालों में उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ के जिला अध्यक्ष डॉ ज्ञानेंद्र दीवान ,जिला महामंत्री राहुल चेतन ,प्रदेश के वरिष्ठ उपाध्यक्ष किशन चंदेल ,उपाध्यक्ष राधेश्याम केला, मंडल अध्यक्ष/महामंत्री राधेलाल धुरी, नगर सफाई मजदूर संघ के अध्यक्ष प्रदीप भंडारी ,नगर सफाई मजदूर संघ के पूर्व अध्यक्ष लालाराम नंदा, पूर्व अध्यक्ष बबलू कमल ,बिल्लू चौहान,शिवम धुरी,राहुल वाल्मीकि,मनोज वाल्मीकि,महेश भोले चौहान,डॉ संजय चौहान, नितिन वाल्मीकि,मुकेश वाल्मीकि,गौरव बेंजी,विजित पथिक,विशाल वाल्मीकि,निशांत चौहान,सनी वाल्मीकि, चंचल कुमार,जोनी,विपिन चंचल,बिरजू चंचल,संजय वाल्मीकि,देवआनंद,अनिल बनबारी,गिरीश कुमार,ललित वाल्मीक,सचिन चंदेल,टिंकू वाल्मीकि,आदि सफाई कर्मचारी व उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ के पदाधिकारी गण ज्ञापन में उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.