"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

डीएम- एसएसपी ने कहा कानून व्यवस्था से किसी को खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ|  जिला मजिस्ट्रेट इंद्र विक्रम सिंह ने जुमा की नमाज़ को सकुशल संपन्न कराने एवं लोगों में जिला व पुलिस प्रशासन के प्रति विश्वास की भावना कायम रखने के लिए मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों का भ्रमण कर जायजा लिया। जिला मजिस्ट्रेट ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के साथ थाना दिल्ली गेट, गूलर रोड, नादा पुल, चरखवालान, सासनीगेट, तुर्कमान गेट, भुजपुरा, नुनेर गेट, कासिम नगर भुजपुरा, सासनी गेट, जयगंज, सर्राफा बाजार, फूल चौराहा, ऊपरकोट क्षेत्रों में सघनता से निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने स्थानीय दुकानदारों व्यापारियों से भी जनसंवाद स्थापित कर माहौल के बारे में जानकारी प्राप्त की। जिला मजिस्ट्रेट इन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि शांतिपूर्ण ढंग से नमाज अदा की गई है। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कहीं से भी किसी प्रकार की अप्रिय घटना की सूचना प्राप्त नहीं हुई है। ऊपरकोट कोतवाली पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए जिला मजिस्ट्रेट इंद्र विक्रम सिंह ने स्पष्ट किया कि कानून व्यवस्था से किसी प्रकार का खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा। यदि कोई भी व्यक्ति कानून व्यवस्था को खराब करने की कोशिश करता है तो उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेजा जाएगा।


     जुमे की नमाज के चलते शुक्रवार को जिला एवं पुलिस प्रशासन द्वारा व्यापक स्तर पर सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए थे। शहर को विभिन्न सेक्टर्स में बांटकर चप्पे-चप्पे पर पुलिस के साथ माजिस्ट्रेट्स भी तैनात किए गए थे। डीएम एसएसपी द्वारा भी शहरी क्षेत्र का सघनता से भ्रमण कर किया गया। इस दौरान सुरक्षा बलों एवं मजिस्ट्रेट द्वारा शांति एवं सौहार्द एवं कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए पैनी निगाह रखी गई। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों की मस्जिदों के आसपास सुरक्षा के व्यापक इंतजाम देखने को मिले। ऊपरकोट जमा मस्जिद पर भारी तादाद में पुलिस कर्मी तैनात रहे। डीएम-एसएसपी ने नमाज के पूर्व क्षेत्र भ्रमण करने के उपरांत  ऊपर कोट कोतवाली में पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया। इस अवसर पर अपर जिला अधिकारी नगर राकेश कुमार पटेल, नगर मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार वर्मा, पुलिस क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार सिंह भी उपस्थित रहे।



...मस्जिदों में नमाज के अतिरिक्त जलसा के लिए भीड़ इकट्ठी न की जाए

अलीगढ़ 24 जून 2022(सू0वि0) जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी स्मिता सिंह ने विज्ञप्ति के माध्यम से बताया है कि यूपी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड लखनऊ में पंजीकृत औकाफ के सभी मुतवल्लियों, प्रबंध कमेटियों एवं प्रशासकों को निर्देशित किया गया है कि मस्जिद में होने वाली पंजगाना नमाज और खास तौर से जुमे की नमाज में किसी भी तरह का फतवा या तकरीर या कोई बयान ऐसा नहीं दिया जाएगा, जिससे आपसी सौहार्द एवं शांति व्यवस्था बिगड़ने की संभावना हो। उन्होंने बताया है कि मस्जिदों में नमाज के अतिरिक्त किसी भी तरह की कोई जलसे के लिए भीड़ इकट्ठा नहीं की जाएगी।



..जिला उद्योग बंधु की बैठक 29 जून को

 अलीगढ़ 24 जून 2022(सू0वि0) उपायुक्त उद्योग श्रीनाथ पासवान ने विज्ञप्ति के माध्यम से अवगत कराया है कि जनपद के उद्यमियों की समस्या के निस्तारण के लिए प्रत्येक माह जिलाधिकारी की अध्यक्षता में उद्यमियों के साथ बैठक का आयोजन किया जाता है।  जिला उद्योग प्रोत्साहन एवं उद्यमिता विकास केंद्र के उपायुक्त श्री पासवान ने बताया कि माह जून की जिला स्तरीय उद्योग बंधु बैठक का आयोजन 29 जून 12रू00 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आहूत की गई है।


...स्कूली वाहनों की फिटनेस वैध करायें

अलीगढ़ 24 जून 2022(सू0वि0) परिवहन आयुक्त महोदय द्वारा निर्देशित किया गया है कि जुलाई माह में या स्कूलों के सत्रारम्भ से पूर्व प्रदेश के सभी स्कूली वाहनों को विशेष अभियान चलाकर उत्तर प्रदेश मोटरयान नियमावली, 1998 के अध्याय-नौ-क ‘‘विद्यालयीय यानों हेतु विशेष उपबन्ध’’ में निर्धारित मानकों के अनुरूप स्कूली वाहनों को फिट कराने की कार्यवाही स्कूल प्रबन्धक को निर्देशित कर करायी जाये तथा किसी भी दशा में मानकपूर्ण न करने वाले स्कूली वाहनों को संचालन न होने दिया जाये।


          परिवहन आयुक्त के उपरोक्त निर्देशों के अनुपालन जनपद अलीगढ़ के समस्त स्कूलों के प्रबन्धकों/प्राचार्यांे/प्रधानाचार्यों को निर्देशित किया जाता है कि वह अपने स्कूल में संचालित समस्त स्कूली वाहनें, जिनकी फिटनेस वैध नहीं हैं, को तत्काल संभागीय परिवहन कार्यालय, अलीगढ़ में भेजकर फिटनेस वैध करा लें। स्कूली वाहनों की फिटनेस समाप्त वाहनों को पूर्व में इस कार्यालय द्वारा नोटिस भेजे जा चुके हैं तथा फिटनेस समाप्त स्कूली वाहनों की पंजीयन भी निलम्बित किये जा चुके हैं। यदि मार्ग चेकिंग के दौरान कोई भी स्कूल वाहन बिना फिटनेस संचालित पायी जाती है, तो स्कूल वाहन को सीज करने के साथ उसके पंजीयन निरस्त किये जाने की कार्यवाही की जायेगी। साथ ही सम्बन्धित विद्यालय के बोर्ड को पत्र प्रेषित करके विद्यालय की मान्यता निरस्त करने की संस्तुति भी की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.